अतिवृष्टि और बाढ़, आपदा से निपटने बनी नपा की टीम

अतिवृष्टि और बाढ़, आपदा से निपटने बनी नपा की टीम

इटारसी।
– चौबीस घंटे कार्य करेगा कंट्रोल रूम

– तेरह स्थानों पर बनेंगे राहत शिविर
– चार दल संभालेंगे सारी जिम्मेदारी
बारिश के मौसम में बाढ़ आपदा से निपटने नगर पालिका की एक टीम गठित कर ली गई है जो पूरे मानसून के सीजन में स्थिति पर नज़र रखकर राहत का काम करेगी। लगातार बारिश होने से शहर में आने वाले दिनों में भारी बाढ़ एवं निचले इलाके जलमग्न होने की आशंका को देखते हुए नपा ने तैयारी शुरू कर दी है। बाढ़ राहत टीम के साथ नपा कार्यालय में बाढ़ नियंत्रण कक्ष भी बनाया गया है।
अतिवृष्टि के कारण शहर में आसपास के नालों से कुछ क्षेत्रों में बाढ़ की संभावना होती है। नगर पालिका ने मुख्य नगर पालिका अधिकारी चंद्रप्रकाश राय के नेतृत्व में बाढ़ राहत के लिए न सिर्फ कंट्रोल रूम की स्थापना की है बल्कि कर्मचारियों और अधिकारियों की एक टीम भी गठित की है, जो मानसून में लगातार काम करेगी। इसके साथ ही नगर पालिका कार्यालय भवन में कंट्रोल रूम स्थापित किया है। कंट्रोल रूम का नंबर 07572-235613 है। अतिवृष्टि एवं बाढ़ से संबंधित सूचना प्राप्त होने पर रजिस्टर में दर्ज करके सीएमओ को सूचना दी जाएगी। अतिवृष्टि की स्थिति में कार्यालय के सभी विभाग प्रमुख अपने स्टाफ सहित अनिवार्य रूप से कंट्रोल रूम में उपस्थित रहेंगे।

कंट्रोल रूम में ड्यूटी
प्रात: 8 से शाम 4 बजे तक विनोद पगारे, संतोष सराठे।
शाम 4 से रात्रि 12 तक मदनलाल अग्रवाल, सुनील पटेल।
रात्रि 12 से प्रात: 8 बजे तक रीतेश बावरिया, छन्नूलाल प्रधान।
रेस्ट हेतु – अजय यादव और रघुराज सिंह।

ये अधिकारी है प्रभारी
बाढ़ नियंत्रण एवं सहायता के संपूर्ण कार्यों के प्रभारी आरके तिवारी, मोबाइल 8871794287 रहेंगे। इनके सहयोग के लिए विजय मालवीय, केशव मालवीय रहेंगे। अतिवृष्टि के वक्त उपयंत्री आदित्य पांडेय 7000349929 के साथ केशव मालवीय, राजेश दीक्षित, अनिल शुक्ला रहेंगे जो सूचना प्राप्ति के साथ ही लोककर्म शाखा के मजदूरों सहित 30 मिनट के भीतर उपस्थित होंगे। स्वास्थ्य निरीक्षक आरके तिवारी अपने अधीनस्थ स्टाफ ओमप्रकाश मालवीय, दिलीप व वार्ड जमादारों, सफाई कामगारों सहित वाहन, जेसीबी के साथ 30 मिनट में उपस्थित होंगे। जरूरत पडऩे पर फायर ब्रिगेड भी उपलब्ध करायी जाएगी। इसी तरह से संतोष सिंह बैस उपयंत्री, राजस्व निरीक्षक बीएल सिंघावने, वीरगंगा अहिरवार, शैलेन्द्र दुबे, रविशंकर, जितेन्द्र गौर भी काम में सहयोग प्रदान करेंगे।

चार दलों का गठन
बाढ़ या भारी वर्षा से उत्पन्न स्थिति से निपटने के लिए चार दलों का गठन किया गया है। दल क्रमांक एक में संचार व्यवस्था प्रभारी बीएल सिंघावने, अजय यादव के अलावा अन्य कर्मचारी रहेंगे। ये सूचना प्राप्त होते ही रजिस्टर में दर्ज कर सीएमओ एवं बाढ़ प्रभारी को देंगे, साथ ही राहत कैंप में बाढ़ प्रभावितों को ठहराने की व्यवस्था करेंगे। दल क्रमांक दो, जल भराव की स्थिति में पानी निकालने आरके तिवारी के साथ जमादार सुदेश महोरिया व 8 पुरुष सफाई कर्मचारी रहेंगे। दल तीन राहत शिविर में लंबे समय तक ठहरने पर प्रभावितों को भोजन पहुंचाने विकास वाघमारे एवं 5 भृत्य कर्मचारी, दल क्रमांक चार में उपयंत्री आदित्य पांडेय के साथ राजेश दीक्षित जरूरत के अनुसार औजार, मजदूरों और वाहन के साथ वर्षा की स्थिति में गिरने वाले भवनों को चिह्नित कर आवश्यक कार्रवाई करेगा।

ये रहेंगे राहत शिविर
बाढ़ की स्थिति में नगर में 13 स्थानों पर राहत शिविर रहेंगे। इनमें शासकीय बालक उच्चतर माध्यमिक शाला पीपल मोहल्ला, मिशनखेड़ा प्राथमिक शाला, शासकीय कन्या उच्चतर माध्यमिक शाला पुरानी इटारसी, प्राथमिक/माध्यमिक शाला गांधीनगर, नाला मोहल्ला क्षेत्र, शासकीय कन्या उच्चतर माध्यमिक शाला सूरजगंज, शासकीय एमजीएम कालेज, स्टेशनगंज शाला, न्यास कालोनी का वाचनालय, शासकीय पुत्री शाला भवन, गांधी वाचनालय, शिक्षक सदन, युगांतर छात्रावास नाला मोहल्ला, गोठी धर्मशाला, गुरुद्वारा भवन, टैगोर स्कूल और मराठी स्कूल शामिल हैं।

बाढ़ के संभावित क्षेत्र
वार्ड क्रमांक एक ट्रैक्टर स्क्रीम क्षेत्र, वार्ड 3,4 देवल मंदिर क्षेत्र, वार्ड 4,5 हरिजन मोहल्ला पुरानी इटारसी, वार्ड 6,7 बंगलिया क्षेत्र, वार्ड 8,9 सांकलिया पुल पीपल मोहल्ला, वार्ड 21,22 नाला मोहल्ला, ग्वालबाबा, फकीर मोहल्ला, नूरानी मस्जिद के पास, वार्ड 34 बारह बंगला, वार्ड 15,16 बूढ़ी माता मंदिर के पास और वार्ड 14 सूरजगंज, सोनासांवरी नाका के आगे।

इनमें आ सकती है बाढ़
सीपीई के पास का नाला, बंगलिया एवं सांकलिया पुल का नाला, नाला मोहल्ला का नाला, सोनासांवरी का नाला।

इनका कहना है…!
हर वर्ष की तरह बाढ़ की स्थिति में नगर पालिका ने तैयारी की है। बाढ़ और जलभराव की स्थिति से निपटने चार दलों का गठन किया है। नगर पालिका कार्यालय में कंट्रोल रूम की स्थापना की गई है, जिसमें चौबीस घंटे कर्मचारी काम करेंगे। शहर के स्कूलों और अन्य भवनों में राहत शिविर बनाये जाएंगे।
सीपी राय, सीएमओ नपा

CATEGORIES
TAGS

AUTHORRohit

COMMENTS

Wordpress (0)
Disqus (0 )
error: Content is protected !!
%d bloggers like this: