अधिकारी कर्मचारी गण अपने मुख्यालय पर ही रहें : कलेक्टर

होशंगाबाद। कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में साप्ताहिक समयसीमा बैठक कलेक्टर शीलेन्द्र सिंह की अध्यक्षता में संपन्न हुई। बैठक में कलेक्टर श्री सिंह ने जिले के समस्त अधिकारियों एवं कर्मचारियों को निर्देशित किया कि वे अपने मुख्यालय पर ही रहे। कलेक्टर ने शासकीय प्राथमिक शाला साकेत के शिक्षक रामविलास कामले की शाला में बिना अनमुति के अनुपस्थित रहने पर गहरी नाराजगी व्यक्त करते हुए जिला शिक्षक समन्वयक को शिक्षक का एक माह को वेतन काटने के निर्देश दिए। उन्होंने जिला परियोजना समन्वयक, जिला शिक्षा अधिकारी एवं सहायक आयुक्त आदिवासी विकास को निर्देशित किया कि जो शिक्षक अपने मुख्यालय पर निवास नहीं कर रहे हैं उनके विरूद्ध कड़ी कार्यवाही करे। उन्होंने समस्त एसडीएम को अपने क्षेत्रों के अस्पतालों, स्कूलों, आंगनबाड़ी केन्द्रों का निरीक्षण करने के निर्देश दिए।कलेक्टर श्री सिंह ने सीएम हेल्प लाइन में लंबित शिकायतों की समीक्षा करते हुए एल 3 एवं एल 4 पर लंबित शिकायतों के निराकरण के लिए प्रतिवेदन भेजने के निर्देश दिए। सभी मुख्य नगर पालिका अधिकारियों को दुकानदारों द्वारा सड़कों पर सामान रखकर किये जाने वाले अतिक्रमण को हटाने के निर्देश दिए।
कलेक्टर ने कहा कि वर्षा की स्थिति के मद्देनजर बाढ़ राहत के सभी संसाधन उपलब्ध कराना सुनिश्चित करें। उन्होंने मछुआरों, तैराकों आदि को चिन्हित कर उनकी सूची बनाने के निर्देश दिए ताकि बाढ़ की स्थिति में सभी का सहयोग मिल सके। उन्होंने बाढ़ प्रभावित होने वाले क्षेत्रों के लोगों के लिए चिन्हित स्थानों की जानकारी ली और कहा कि ऐसी स्थिति में शिविरों में ठहरने, भोजन, पेयजल, दवाईयां आदि की समुचित व्यवस्था की जाए। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी को निर्देश दिए कि वर्षाकाल में मेडिकल स्टाफ के अवकाश निरस्त करें। सभी प्राथमिक एवं उप स्वास्थ्य केन्द्रो पर दवाईया एवं समस्त प्राथमिक मेडिकल सुविधाएं सुनिश्चित करें इसके साथ ही आशा कार्यकर्ताओं को प्रशिक्षित कर उन्हें वर्षा जनित रोगों की दवाइयां मुहैया कराएं।कलेक्टर ने दस्तक अभियान की भी समीक्षा की और स्वास्थ्य एवं महिला बाल विकास विभाग के अधिकारियों को आवश्यक निर्देश दिए। बैठक में अपर कलेक्टर केडी त्रिपाठी, जिला पंचायत सीईओ आदित्य सिंह, समस्त एसडीएम एवं अधिकारी मौजूद थे।

CATEGORIES
error: Content is protected !!
%d bloggers like this:
Narmadanchal

FREE
VIEW