अपडेट एक : धरती पर आकाशगंगा, आसमान में आतिशबाजी 

अपडेट एक : धरती पर आकाशगंगा, आसमान में आतिशबाजी 

इटारसी।प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के आह्वान पर देश ने छह माह पूर्व ही दीवाली मना ली। अवसर था, कोरोना वायरस के खिलाफ लड़ रहे डॉक्टर्स, स्वास्थ्य कर्मी, पुलिस कर्मी, सरकारी अधिकारी और कर्मचारियों सहित उन सभी के प्रति श्रद्धा जताना जो इस जंग को जीतने के लिए अपनी मेहनत, समय देने के साथ परिवार से जुदा रहने की पीड़ा उठाने के साथ ही मानवता के लिए अपनी जान की परवाह नहीं कर रहे हैं।
प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने देशवासियों का आह्वान किया था कि 5 अप्रैल को रात 9 बजे अपने घरों की लाइट बंद करके दीपक, मोमबत्ती जलायें या फिर मोबाइल का फ्लेश लाइट ऑन करें। सोशल मीडिया पर भले ही लोगों ने इसका मजाक बनाया हो, लेकिन देश में और शहर में भी लोगों ने अतिरिक्त उत्साह के साथ प्रधानमंत्री की बात का मान रखा और हर सीमाओं से परे जाकर अपने घरों के सामने दीपयज्ञ का आयोजन कर डाला। नीचे असंख्य दीपमालाओं से ऐसा लगा मानो धरती पर आकाशगंगा उतर आयी हो। इस दौरान कई लोगों ने हर्ष अतिरेक का प्रदर्शन करके आतिशबाजी की और आसमान पर रंग-बिरंगी फलझडिय़ां बिखेर दी। न्यास कॉलोनी में निवासियों द्वारा भारत का नक्शा बना कर उसे दीपक से सजाया।

इस तरह से जतायी श्रद्धा

व्यापारी, शैलेष मंटू ओसवाल ने कहा हमने दीप जलाये हैं, देश ने भी दीप जलाये हैं। हमारे साथ देश है और हम देश के साथ हैं। कोरोना वायरस है, जिसे खत्म करने के लिए बल नहीं बल्कि आत्मबल की आवश्यकता है। यह देश जीतेगा, यह विश्वास है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के आह्वान का हमने समर्थन किया और अपने घर दीप जलाये हैं।

भारतीय जनता पार्टी की निवृतमान पार्षद श्रीमती गीता पटेल ने अपने पति देवेन्द्र पटेल और परिजनों के साथ पहले तो घर के आंगन में दीपक जलाये और फिर हाथों में मोमबत्ती लेकर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का समर्थन करते हुए कहा कि उनका पूरा परिवार इस कठिन घड़ी में भी मानवता को बचाने में लगे सभी योद्धाओं को नमन करता है।

औद्योगिक क्षेत्र खेड़ा निवासी सजल अग्रवाल, ने भी अपने घर दीपक जलाये और प्रधानमंत्री के आह्वान का सम्मान किया। उनके परिवार ने इसमें पूरा साथ दिया। उनका मानना है, जिस तरह से नन्हा दीपक असंख्य दीपों के साथ मिलकर विराट तमस को हरा देता है, हमारा देश भी कोरोना वायरस को उसी तरह से हरा देगा।

गांधीनगर निवासी श्रीमती रानी भावसार का परिवार कांग्रेस से जुड़ाव रखता है। जब बात राष्ट्रप्रेम की हो तो दलों, मजहबों, वर्गों की सीमाओं से ऊपर केवल देश को देखती हैं। राष्ट्र कोरोना जैसे अदृश्य दुश्मन को देश से निकालने लगा है तो उन जांबाजों की सलामती के लिए उन्होंने पति राजकुमार भावसार के साथ दीप जलाकर दुआयें की हैं।

शहर के मध्य निवासरत चौरसिया परिवार से इंदु प्रदीप चौरसिया ने परिवार के सदस्यों के साथ दीपक जलाये तो परिवार के अन्य सदस्यों ने मोमबत्तियां भी जलायीं। उन्होंने कहा, मोदी जी की इस मुहिम से हमें पूरा विश्वास है कि कोरोना रूपी इस अंधकार से हम सभी भारतीय निजात पायेंगे। हम चलेंगे साथ-साथ एक दिन, मन में विश्वास, पूरा है विश्वास।


भाजपा के युवा कार्यकर्ता मनोज पोपली ने अपने घर के सामने न सिर्फ 9 दीपक जलाये, बल्कि वे घर के सामने परिवार के साथ बैठे। घर की लाइट बंद करके प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के आह्वान का समर्थन किया। मनोज पोपली ने कहा, देश सबसे पहले। दुश्मन से जब लड़ाई की बात हो तो फिर हमें देश के प्रधान का साथ देना जरूरी होता है।

पांचवी लाइन निवासी कारोबारी आशीष चौधरी के परिवार ने भी दीपयज्ञ में शामिल होकर कोरोना के खिलाफ जंग लड़ रहे लोगों को स्वस्थ रखने और जीतने की कामना की। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के आह्वान पर जब सारा देश कोरोना के खिलाफ लड़ाकों के लिए दुआ कर रहा है तो हम भी पीछे नहीं हैं। हम जीतेंगे, ये भरोसा है।

नगर पालिका में एपीओ राजेन्द्र शर्मा ने परिवार के साथ दीपक जलाये। बोले, कोरोना पर विजय के लिए दृढ़ संकल्प, मेरा पूरा देश भारत जीतेगा। उन्होंने कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने और कोरोना पीडि़तों को स्वस्थ करने के अभियान में जुटे चिकित्सा, सुरक्षा, प्रशासन, पुलिस, समाजसेवियों के संगठनों के प्रति कृतज्ञता व्यक्त की।

प्रियदर्शिनी नगर (न्यास कालोनी) की साक्षी सोनी ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के आह्वान पर जो दीप प्रज्वलित किया, उससे उनको विश्वास जगा है कि कोरोना से लडऩे के लिए प्रधानमंत्री का यह आह्वान देश के काम आयेगा। दीप प्रज्वलन के साथ उन्होंने एक नयी अनुभूति और उर्जा को अपने मन में महसूस किया है।

रात 9 बजे का इंतजार था, नायक फैमिली को। सारे सदस्य हाथों में दीप लिये तैयार थे। जैसे ही समय हुआ, घर की लाइट बंद करके सभी ने दीप जलाये और हाथों में दीपक लेकर देश को कोरोना की जंग से जीतने की दुआ की। उन्होंने वायरस से लडऩे वाले मेडिकल, सुरक्षा स्टाफ, स्वयंसेवी संगठनों, समाजसेवियों, प्रशासन के प्रति श्रद्धा वक्त की।


मित्र विहार कालोनी होशंगाबाद निवासी, राष्ट्रीय राजपूत करणी सेना की जिला उपाध्यक्ष श्रीमती प्रीति दिनेश सिंह चौहा ने परिवार संग घर की छत पर दीपक जलाये। उनका अनुभव अविस्मरणीय, अद्भुत, अनिश्चितता में आशा जगाने वाला था। देश आशा की किरण से जगमगा उठा। कठिन रातों का सामना करने एक-एक दीप हाथों में लेकर चलने देश तैयार हो गया है।

आसफाबाद निवासी रेलकर्मी एनआर ठाकुर ने भी प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के आह्वान पर अपने घर के सामने दीप जलाये। परिवार के साथ उन्होंने दीप जलाकर कोरोना वायरस के खिलाफ लड़ाई में शामिल सभी जांबाजों को दिल से सलाम किया। उनका कहना है कि हमारी सलामती के लिए जो संघर्ष कर रहे हैं, उनकी सलामती के लिए हमें दुआ करना चाहिए।

साईं फार्च्यून सिटी फेस टू के सभी लोगों ने अपने घरों के बाहर रोड पर दिया लेकर अपने माननीय प्रधानमंत्री जी के निवेदन को सफल रूप देकर अपने देश की एकता प्रदर्शित की।एक गर्व वाला अनुभव : कॉलोनी अध्यक्ष श्रीमती सुमन सिंह

वाकई एसा लगा कि राष्ट्रीय एकता इस दीपक में समाहित है, आपातकालीन सेवा देने वाले सभी जांबाजों को सैल्यूट : नरेन्द्र तिवारी और परिवार

कोरोना के खात्मे के लिए प्रयास कर रहे जांबाजों का हौसला बढ़ाने के लिए दीप जलाये : कुसुम तिवारी और परिवार

 

 

CATEGORIES

COMMENTS

Wordpress (0)
Disqus ( )
error: Content is protected !!
%d bloggers like this: