अपडेट : जल विभाग की लापरवाही से बहा लाखों गैलेन पानी

अपडेट : जल विभाग की लापरवाही से बहा लाखों गैलेन पानी

इटारसी।
फैक्ट फाइल –
ब्रिज में 9.15 गुणा 8.88 मीटर के दो मार्ग रहेंगे
अंडरब्रिज की कुल लंबाई 26.64 मीटर रहेगी
दोनों ओर की रोड वॉल के साथ बन रही है

नई गरीबी लाइन के पास रेलवे क्रासिंग पर बन रहे अंडरब्रिज की राह में आ रही नगर पालिका की पेयजल पाइप लाइन को हटाने के बाद ट्रायल नहीं लिये जाने की लापरवाही से शनिवार की रात लाखों गैलेन पानी व्यर्थ बह गया। शनिवार को सारा दिन काम करने के बाद नपा के अधिकारी और कर्मचारी तो यहां से चले गये और धौंखेड़ा से पानी की सप्लाई चालू कर दी। लेकिन, रात के वक्त टंकियों को भरने के प्रयास में चालू की गई पाइप लाइन में लगाया जोड़ खिसक जाने से उसमें से पानी की तेज धार बह निकली। रात 11 बजे के बाद तो लगा मानो रेलवे लाइन के किनारे नदी बह रही हो। पानी इतना बह गया कि रेलवे लाइन के नीचे बना अंडरब्रिज आधा डूब गया था। उतनी ही रात को सूचना के बावजूद नगर पालिका से कोई नहीं पहुंचा और आज सुबह होने वाली पानी की सप्लाई प्रभावित हुई। रविवार को पुन: ज्वाइंट में सुधार कार्य करके टंकियां भरना प्रारंभ किया है। नपा के जल विभाग का दावा है कि सोमवार को लोगों को पानी मिल जाएगा।


उल्लेखनीय है कि नई गरीबी लाइन में रेलवे लाइन के नीचे से ब्रिज बनाया जा रहा है। वर्षों पुरानी यह मांग पूरी होने का करीब दो वर्ष से इंतजार है। रेल लाइन के पूर्वी हिस्से पीपल मोहल्ला तरफ काम लगभग खत्म हो गया। अब नई गरीबी लाइन तरफ के हिस्से में काम प्रारंभ होना था। लेकिन, यहां कुछ अतिक्रमण और नगर पालिका की पाइप लाइन होने से ठेकेदार ने काम रोक दिया है। 12 फरवरी को अपर मंडल रेल प्रबंधक (इंफ्रा) गौरव सिंह ने निरीक्षण किया और यहां आसपास रहने वालों से बात की। यहां अतिक्रमण के मामले में विधायक डॉ.सीतासरन शर्मा के प्रयासों से मामला सुलझा।
पूर्व पार्षद रजनीकांत सोनकर ने बताया कि विधायक के कहने पर अतिक्रमण का मामला हल हो गया है, अब नगर पालिका को पाइप लाइन हटाना है। उस दौरान मौजूद सब इंजीनियर आदित्य पांडेय ने एक सप्ताह में यह काम करने का आश्वासन दिया था। हालांकि तकनीकि वजह से इसमें एक माह से भी अधिक का समय लगा और शनिवार 21 मार्च को सारा दिन नगर पालिका के जल विभाग ने पाइप लाइन में बैंड लगाकर उसे तीन फुट नीचे और उतार दिया। इस दौरान जो जोड़ लगाया गया, वह पानी का दबाव सहन नहीं कर सका और धौंखेड़ा से पानी चालू करने के बाद जगह से खिसक गया। यही वजह रही कि घंटों तक यहां पानी बहता रहा और लोगों ने फोन करके नगर पालिका के जल विभाग में जिम्मेदारों को जानकारी दी। हालांकि कोई आया तो नहीं, अलबत्ता धौंखेड़ा से पानी तत्काल बंद करा दिया। इससे पहले लाखों गैलेन पानी रेलवे लाइन के किनारे से बहकर नाले में चला गया।

करीब एक साल लेट हो गया काम
भोपाल-इटारसी रेलखंड पर बन रहे अंडर ब्रिज में रात को बहा पानी लगभग 8 फुट की ऊंचाई तक भरा है। फिलहाल ब्रिज निर्माण का काम बंद है। निर्माण कार्य दोबारा से जल्दी प्रारंभ होगा, इसकी अभी कोई संभावना नहीं दिख रही है। उल्लेखनीय है कि अंडर ब्रिज का निर्माण कार्य मार्च 2019 में पूरा होना था, लेकिन प्रोजेक्ट करीब एक वर्ष की देरी से चल रहा है। अभी ब्रिज निर्माण की स्थिति देखी जाए तो केवल 70 फीसदी काम हुआ है। रेलवे लाइन के नीचे के काम के अलावा पीपल मोहल्ला तरफ की रोड बन गयी है। पाइन लाइन के कारण नई गरीबी लाइन तरफ की रोड का काम अब तक रुका है।

तीन किमी का फेर बचेगा
नई गरीबी लाइन का रेलवे गेट बंद होने से शहर के लोगों को आवागमन में परेशानी होती है। अभी लोगों को करीब 3 किमी का लंबा चक्कर लगाकर खेड़ा क्षेत्र में पहुंचना पड़ता है। इस अंडरब्रिज के शुरू होने के बाद शहर के करीब 25 हजार लोगों को जाम और लंबे फेर से मुक्ति मिल जाएगी। माना जा रहा था कि मार्च तक ब्रिज बन जायेगा। लेकिन, अब लगता है, गर्मी का मौसम भी यूं ही निकल जाएगा। ब्रिज से मालवीयगंज, सूरजगंज, सिंधी कॉलोनी, देशबंधुपुरा, नई गरीबी लाइन, न्यास कॉलोनी, कावेरी एस्टेट लाइन एरिया सहित अन्य जगहों के हजारों लोगों को आवागमन की बड़ी सुविधा मिल जाएगी।

इनका कहना है…!
हां, सूचना आया थी। दरअसल, जोड़ जगह से खिसकने से यह समस्या आयी थी। हमने सूचना मिलने के साथ ही धौंखेड़ा से आने वाले पानी की सप्लाई बंद करा दी थी। आज पुन: उस जोड़ को जगह पर करने के लिए काम किया और ज्वाइंट को ठीक कर दिया है। टंकियां भरी जा रही हैं, सुबह पेयजल की सप्लाई सुचारू हो जाएगी।
आदित्य पांडेय, सब इंजीनियर

CATEGORIES
TAGS

COMMENTS

Wordpress (0)
Disqus ( )
error: Content is protected !!
%d bloggers like this:
Narmadanchal

FREE
VIEW