अपने घर पहुंचे, कल लापता हुए बच्चे

इटारसी। गुरुवार को सुबह नई गरीबी लाइन से लापता हुए सभी छह बच्चे झांसी रेलवे स्टेशन पर मिल गए हैं। यह बच्चे अपने पिता के साथ अब घर भी पहुंच गए हैं।
बताया जाता है कि बच्चे घर में डांट डपट के कारण घर छोड़कर कुछ दिनों के लिए घूमने निकले थे। गुरुवार को सुबह करीब 11:00 बजे घर से कपड़े और नगदी लेकर निकले बच्चों में सबसे छोटे बच्चे को भूख लगने पर यह लोग झांसी रेलवे स्टेशन पर उतरे थे। रात होने पर यह बच्चे घबरा गए और रोने लगे। इस बीच एक रेलवे कर्मचारी ने जीआरपी को बच्चों के रोने की सूचना दी। जीआरपी कर्मियों ने जीआरपी थाने ले जाकर जब पूछताछ की तो बच्चों ने बताया कि घर में डांट डपट से परेशान होकर इन लोगों ने घूमने की योजना बनाई थी। यह बच्चे पठानकोट एक्सप्रेस से इटारसी से निकले थे। शुक्रवार को बच्चों के पिता पप्पू रैकवार और जितेंद्र चंद्रवंशी ने झांसी पहुंचकर इन बच्चों से मुलाकात की। जीआरपी झांसी में बच्चों से पूछताछ के बाद सभी बच्चों को चाइल्डलाइन को सौंप दिया था। वहां सारी कागजी औपचारिकताएं पूर्ण करने के बाद यह बच्चे उनके पिता को सौंप दिए गए। वहां से बच्चे अपने पिता के साथ संपर्क क्रांति एक्सप्रेस भोपाल तक आए और भोपाल से मंगला एक्सप्रेस से इटारसी पहुंचे. बच्चे अपने घर पहुंच गए हैं।

CATEGORIES
error: Content is protected !!
%d bloggers like this:
Narmadanchal

FREE
VIEW