अब जल्द बन जाएगा गर्ल्स कालेज का हॉस्टल

यूजीसी ने जारी की कन्या छात्रावास के लिए द्वितीय किश्त की राशि

यूजीसी ने जारी की कन्या छात्रावास के लिए द्वितीय किश्त की राशि
इटारसी। शासकीय कन्या महाविद्यालय इटारसी में पढ़ रही ग्रामीण छात्राओं के लिए बन रहे छात्रावास का काम अब फिर से गति पकड़ लेगा। छात्रावास के लिए स्वीकृति राशि की दूसरी किश्त नहीं आने से काम रुक गया था। हाल ही में विश्वविद्यालय अनुदान आयोग से राशि की द्वितीय किश्त जारी हो गई है, अब काम जल्द पूर्ण हो जाएगी, ऐसी उम्मीद की जा रही है। काम बंद होने और राशि नहीं मिलने की जानकारी मिलने के बाद विधानसभा अध्यक्ष डॉ. सीतासरन शर्मा ने संबंधित अधिकारियों से बात करके जल्द से जल्द राशि स्वीकृति को कहा था.
उल्लेखनीय है कि उप पंजीयक कार्यालय सब्जी मंडी के पास बन रहे इस छात्रावास भवन का निरीक्षण विधानसभा अध्यक्ष डॉ. सीतासरन शर्मा ने करके काम की रफ्तार पर असंतोष जताया था। उन्होंने उसी वक्त कालेज प्रबंधन और ठेकेदार से काम बंद होने का कारण पूछा था तो पता चला था कि अभी निर्माण कार्य के लिए स्वीकृत 80 में से चालीस लाख रुपए मिलना शेष है और राशि की दिक्कतों के कारण ही काम में देरी हो रही है।
80 लाख रुपए में बनना है छात्रावास
यूजीसी ने करीब आठ वर्ष पूर्व गल्र्स कॉलेज को छात्रावास निर्माण के लिए 80 लाख रुपए प्रदान किए थे। काफी दिनों तक कॉलेज जमीन भी तलाशता रहा, लेकिन जमीन नहीं मिली। तत्कालीन विधायक गिरिजाशंकर शर्मा ने इसमें प्रयास किए तो प्रशासकीय लापरवाही के चलते भूमि एमजीएम कॉलेज जिसके पास फंड नहीं था और ना ही उन्होंने भूमि मांगी थी, उन्हें भूमि आवंटित कर दी गई। भूमि वापस मिलने के बाद अब तक यहां पर काफी दिनों तक सिर्फ अधूरी नीव ही डाली जा सकी थी। मुश्किल से भवन का काम आगे बढ़ा है और करीब एक वर्ष से यहां पर कार्य चल रहा है। छात्रावास के लिए टेंडर के बाद निर्माण कार्य काफी देर से प्रारंभ हुआ। एक बार ठेकेदार यहां का काम छोड़कर वापस भी जा चुका है। अब जब दोबारा काम शुरु किया तो छत लेबल तक काम होने के बाद पैसे खत्म हो गए। अब यूजीसी से द्वितीय किश्त मिलने का इंतजार खत्म होने के बाद उम्मीद है कि काम अब गति पकड़ेगा और एक और छात्रावास शहर में पढऩे आने वाली छात्राओं को मिल सकेगा।
इनका कहना है…
पहले मिले 40 लाख का यूटीलाईजेशन काफी पहले भेज दिया गया था। अब दिसंबर के अंत में यूजीसी से 32 लाख रुपए की दूसरी किश्त मिली है। अब फिर काम शुरु हो जाएगा।
श्रीमती कुमकुम जैन, प्राचार्य गर्ल्स कालेज

डिप्टी सेक्रेटरी यूसीजी की एक टीम ने यहां आकर निरीक्षण किया और इसके बाद स्वीकृति राशि की द्वितीय किश्त के रूप में 32 लाख रुपए जारी हो गए हैं। उम्मीद है कि जल्द ही काम शुरु होने के बाद छात्रावास बनकर तैयार हो जाएगा।
डॉ.सीतासरन शर्मा, विधानसभा अध्यक्ष

CATEGORIES
error: Content is protected !!
%d bloggers like this:
Narmadanchal

FREE
VIEW