आंवला नवमी पर महिलाओं ने बांधे मन्नत के धागे

इटारसी। आज आंवला नवमी का पर्व मनाया जा रहा है। मंदिर परिसरों में लगे आंवले के वृक्ष के समक्ष महिलाओं ने सुबह पूजन-अर्चन किया और और अपनी मन्नतों के धागे बांधे। श्री बूढ़ी माता मंदिर परिसर, न्यास कालोनी स्थित शिव मंदिर और अन्य मंदिर परिसर में लगे आंवले के वृक्ष के अलावा भी मैदानों में लगे आंवले के वृक्ष के समक्ष महिलाओं ने मन्नतों के धागे बांधते हुए परिक्रमा की।
गौरतलब है कि कार्तिक माह की शुक्ल पक्ष की नवमी तिथि को अक्षय नवमी कहा जाता है। इस दिन आंवले के पेड़ के नीचे बैठने और खाना खाने से कष्ट दूर हो जाते हैं। अक्षय नवमी का शास्त्रों में वही महत्व बताया गया है जो वैशाख मास की तृतीया का है। शास्त्रों के अनुसार अक्षय नवमी के दिन किया गया पुण्य कभी समाप्त नहीं होता है। इस दिन जो भी शुभ कार्य जैसे दान, पूजा, भक्ति, सेवा किया जाता है उनका पुण्य कई-कई जन्म तक प्राप्त होता है। आज महिलाओं ने मंदिर परिसर में विधि-विधान से आंवला नवमी की पूजा-अर्चना की।

CATEGORIES
TAGS
Share This
error: Content is protected !!