आजादी के 72 वर्षों में नहीं मिला पक्का मार्ग

इटारसी। ग्राम मादीखोह, छीपापुरा में आपकी तहसील आपके द्वार कार्यक्रम की तीसरी बैठक रखी गई। इस दौरान ग्रामीणों ने बताया कि आजादी के 72 सालों के बाद भी ग्राम में पहुंचने का कोई भी पक्का मार्ग नहीं है। मार्ग में इतनी कीचड़ गड्ढे हैं कि बच्चे 2 से 3 महीने से स्कूल नहीं जा पा रहे हैं, कई बच्चों के रिजल्ट बुरी तरह से प्रभावित हैं। एक गांव को 2 पंचायतों में बांट कर रखा गया जिसके कारण वहां विकास की गति बहुत ही धीमी है।
शासन की कल्याणकारी योजनाओं का लाभ वहां ना के बराबर मिल रहा है। बैठक में तहसीलदार तृप्ति पटेरिया, आरआई राजकुमार पटेल, हीरेंद्र वर्मा आदि की उपस्थिति में यह मामला सामने आया कि ग्राम 2 पंचायतों में बंटने के कारण यहां विकास नहीं हो पाया। हितग्राहियों को लाभ नहीं मिल पा रहा है। प्रधानमंत्री आवास, वृद्धा पेंशन, विभिन्न मुद्दों पर चर्चा की गई। इस अवसर पर आदिवासी सेवा समिति तिलक सिंदूर के अध्यक्ष बलदेव तेकाम, जितेंद्र इवने, जगदीश प्रसाद काकोडिया, आबदराम कुमर, जैकी, विजय सलाम भी अपनी टीम के साथ पहुंचे।

CATEGORIES
TAGS
error: Content is protected !!
%d bloggers like this: