आत्मा की कहीं परमात्मा से दूरी ना हो जाए : पं शर्मा

आत्मा की कहीं परमात्मा से दूरी ना हो जाए : पं शर्मा

इटारसी। पुरानी इटारसी जमानी रोड स्थित कैलाश विहार कालोनी में आयोजित श्रीमद भागवत कथा सप्ताह ज्ञान गंगा यज्ञ के दूसरे दिन भक्तों का जनसैलाब उमड़ा। इस अवसर पर कथा वाचक पं रामेश्वर प्रसाद शर्मा ने कहा की हम कितने भी भाग्यशाली हंै, पुण्यशाली हंै, पद है, पैसा, व्यापार है, लेकिन ध्यान रखना कहीं परमात्मा से दूरी न हो जाए। आत्मा की कहीं परमात्मा से दूरी ना हो जाए।
उन्होंने कहा कि दुकान है, धंधा है, व्यापार है, नौकरी है। ये सब करना पर इन सब में फंस कर परमात्मा से दूरी मत बना लेना। ध्यान रखना पहले का पुण्य खत्म ना हो उससे पहले दूसरे पुण्य की तैयारी कर लेना। जिस तरह हम भोजन करते हैं और भोजन करते समय भोजन बनाने वाली एक रोटी खत्म नहीं होती दूसरी रोटी थाली में आ जाती है। ऐसे ही ध्यान रखना पहले का पुण्य खत्म ना हो उससे पहले नए पुण्य का उदयकर लेना है। पं रामेश्वर प्रसाद शर्मा ने बताया कि एक हम अपनी बेटी की शादी की तैयारी करते हैं, दहेज के लिए गाड़ी, चैन, नगदी, बर्तन और भी जो लड़के वाले मांग करे वो पिता अपनी बेटी को देता है। बस इसी उम्मीद से कि मेरी बेटी अच्छे घर चली जाए और सुखी रहे। बस यही अरमान हर माता पिता का होता है। बेटी की विवाह की तैयारी पैदा होते से ही करते हैं। ध्यान रखना बेटी के विवाह की तैयारी कितनी करते हैं तो इस आत्मा रूपी बेटी को भी एक दिन विदा करना होगा। इस दुनिया से इसकी भी तैयारी करो भगवान के भजन की तैयारी करो। जपो, भजो, भगवान का नाम सुमरन करो और अपने पुण्य को बढ़ाओ, तब इस आत्मा को विदा करो।

CATEGORIES
TAGS

COMMENTS

Wordpress (0)
Disqus ( )
error: Content is protected !!
%d bloggers like this:
Narmadanchal

FREE
VIEW