आदिवासियों ने अवैध रेत परिवहन रोकने की दी चेतावनी

प्रमोद गुप्ता सारणी
सारणी। छतरपुर के गांव के पास की नदी से अवैध रूप से रेता परिवर्तन किए जाने के विरोध में छतरपुर गांव के युवकों के माध्यम से प्रभारी मंत्री लाल सिंंह आर्य और कलेक्टर के नाम थाना प्रभारी को ज्ञापन सौंपकर अवैध रेत परिवर्तन पर रोक लगाने की मांग की है। छतरपुर गांव के समाजसेवी सुनील सरयाम ने बताया कि प्रतिदिन 20 से 30 ट्रैक्टर और 10 से 15 डंपरों के जरिए नदी से रेत का अवैध परिवहन किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि जिस स्थान से रेत का अवैध उत्खनन किया जा रहा है वह स्थान वन भूमि पर है। राजस्व विभाग के क्षेत्र से बाहर है। उसके बाद भी बैतूल के ठेकेदारों के माध्यम से ट्रैक्टर वालों से 360 रुपए रायल्टी के नाम पर अवैध वसूली की जा रही है। उन्होंने बताया कि इसके पूर्व में भी घोड़ाडोंगरी तहसीलदार, एसडीएम शाहपुर एवं कलेक्टर को शिकायत करने के बाद भी समस्या का समाधान नहीं हो पाया है। बुधवार रात में तो रेत चोरों ने ग्रामीणों के साथ मारपीट की। जिसकी वजह से ग्रामीणों में रेत चोरों के खिलाफ आक्रोश का माहौल बना हुआ है। यदि प्रशासन ने रेत चोरों पर कार्रवाई नहीं की तो ग्रामीण एकजुट होकर मुख्य मार्ग पर जाम लगाकर विरोध प्रदर्शन करेंगे। ज्ञापन सौंपने वालों में देवक राम काकोडिय़ा, दिलीप वरकड़े, मनोज वरकड़े, राजेश सरियाम, मुकेश धुर्वे, बंटी धुर्वे सहित अन्य उपस्थित थे।

CATEGORIES
error: Content is protected !!
%d bloggers like this:
Narmadanchal

FREE
VIEW