इच्छाशक्ति यदि प्रबल हो तो व्यक्ति कुछ भी कर सकता है

16 निशक्तजनों ने पाई परीक्षा में सफलता

16 निशक्तजनों ने पाई परीक्षा में सफलता
प्रमोद गुप्ता
सारणी। यदि व्यक्ति की इच्छा शक्ति मजबूत हो तो उसकी इच्छाशक्ति के सामने विकलांगता भी हार मान लेती है। कुछ ऐसा ही नगरपालिका क्षेत्र के 16 निशक्तजनों ने कर दिखाया है। उनका सहयोग देने का कार्य ग्राम भारती महिला मंडल के माध्यम से किया गया है। बताया जाता है कि ग्राम भारती महिला मंडल के माध्यम से 2 माह तक 16 निशक्तजनों को सहायक राज मिस्त्री का प्रशिक्षण दिया गया और उन के माध्यम से 26 अगस्त को 16 निशक्तजनों का दिल्ली से इंडियन स्किन आशीषटेन बॉडी के दीपक कुमार के माध्यम से परीक्षा ली गई। जिसमें 16 निशक्तजन परिपूर्ण रुप से परीक्षा को पास की है। नगर पालिका क्षेत्र के विभिन्न वार्डों में रहने वाले यह 16 निशक्तजनों ने 2 माह तक 25 मई से लेकर 25 जुलाई तक विभिन्न कार्यस्थल पर परीक्षण प्राप्त किया और 16 अगस्त को सभी 16 निशक्तजन ने दीवार, शौचालय का निर्माण कर के परीक्षा पास की। इन 16 निशक्तजनों को दो माह का स्कॉलरशिप 2 हजार रुपए भी दिया गया है।
30 वर्षों से कर रहे हैं सेवा
पिछले 30 वर्षों से ग्राम भारती महिला मंडल लगातार निशक्तजन और असहाय महिलाओं के लिए विभिन्न कार्यक्रमों का आयोजन करके उन्हें आत्मसम्मान के साथ रोजगार से जोड़ने का कार्य किया जा रहा है। संस्था की संचालक भारती भारतीय अग्रवाल ने बताया कि शासन की विभिन्न योजनाओं से एससी और एसटी समाज की महिलाओं को जोड़कर आत्मविश्वास और रोजगार से जोड़ने का कार्य किया जाता है। संस्था ने 30 वर्षों में कई घरों को बचाने के अलावा 5000 से अधिक महिलाओं को आत्मनिर्भर बना कर समाज की मुख्यधारा से जोड़ा है।

CATEGORIES
error: Content is protected !!
%d bloggers like this:
Narmadanchal

FREE
VIEW