उज्जैन के मक्सी से आ रहा गीला और सड़ा गेहूं

उज्जैन के मक्सी से आ रहा गीला और सड़ा गेहूं

अफसर और ठेकेदार लगा रहे सरकार को चूना
इटारसी। उज्जैन के मक्सी से आ रहा सरकारी गेहूं चर्चा का विषय है। मक्सी से आ रहे गेहूं में बदबू आ रही है और वह काफी गीला है और फफूंद भी लगी हुई है। बावजूद इसके यहां विपणन संघ खुद को मजबूर बताकर इसका परिवहन और भंडारण कर रहा है। अफसर कहते हंै कि उन्हें केवल आये गेहूं का सुरक्षित भंडारण करना है। इस पूरे मामले में यदि निष्पक्ष जांच हो जाए तो बड़ा गोलमाल सामने आ सकता है।
उज्जैन जिले से सरकारी खरीद का गेहंू विपणन संघ द्वारा होशंगाबाद जिले में भेजा जा रहा है। उज्जैन क्षेत्र में भंडारण की व्यवस्था न होने के कारण भंडारण के लिए रेलवे के रेकों और ट्रकों से इटारसी पहुंच रहा है। मक्सी रैक पॉइंट से इटारसी रैक पॉइंट पर जितना भी गेहूं आया है, उसमें से लगभग आधा गेहूं पूरी तरह से गीला फफूंद लगा और बदबू भरा है। इटारसी में भी विपणन संघ के अधिकारी भी इस पर ध्यान न देते हुए बकायदा इसका भंडारण करा रहे हंै।
वैगन खोलते ही आयी बदबू
पिछले एक सप्ताह में मक्सी से तीन रैक गेहूं इटारसी आया है। तीनों ही रेक से आया गेहूं इतनी खराब हालत में था कि जब उसके परिवहन के लिए वैगन के गेट खोले तो उनसे आ रही इतनी बदबू आ रही थी कि हम्मालों का रैक के सामने खड़ा होना मुश्किल हो गया। स्थानीय वेयर हाउस तक परिवहन करने वाले ठेकेदार ने दो दिन तक इस गीले और सड़े गेहूं को उतारकर रैक पर ही रखा। स्थानीय ठेकेदार ने इस बात की शिकायत और सूचना विपणन संघ होशंगाबाद को की। फिर विपणन संघ के अधिकारियों के कहने पर सूखे-सूखे बोरों की छंटाई कर अच्छी बोरियों को वेयर हाउस भेजा और खराब बोरियों को रेलवे प्लेटफार्म पर ही डंप किया। बाद में अधिकारियों के कहने पर खराब बोरियों को भी भंडारण के लिए वेयर हाउस पहुंचा दिया गया है ।
लोडिंग में की गई लापरवाही
इटारसी में वेगन अनलोड करने वाले हम्मालों का कहना है कि मक्सी के परिवहनकर्ता ने लोडिंग में लापरवाही की है। वैगन के भीतर न तो पॅलीथिन बिछाई और न ही वैगन के गेट पर अनाज को सुरक्षित और सूखा रखने पॉलीथिन लगाई है। गेहूं का परिवहन सीमेंट की ढुलाई कर चुकी वैगनों में किया है। गेहूं की भराई से पहले सीमेंट को साफ नहीं किया। गेहूं सीमेंट से बरबाद हो गया है। इटारसी में गेहूं परिवहन करने वाली कंपनी जीवन ट्रांसपोर्ट के मैनेजर राकेश त्यागी ने बताया कि गीली रैक का पंचनामा विपणन संघ के प्रभारी अधिकारी ने मॉल गोदाम पर लेबर ठेकेदार, हम्माल, मुक्कदम, ट्रक एसोसिएशन एवं परिवहनकर्ता के समक्ष बनाया है। उन्होंने यह भी बताया की मक्सी से गीला गेहूं आने की लिखित सूचना शिकायत जिला विपणन अधिकारी को की है। उसकी प्रति एमपी स्टेट सिविल सप्लाई कार्पोरेशन भोपाल, मप्र राज्य सहकारी संघ मर्यादित भोपाल के जीएम और एमपी स्टेट सिविल सप्लाई कार्पोरेशन होशंगाबाद के जिला प्रबंधक को भी भेजी है।
मामले में डीएम प्रदेश ग्रेवाल का कहना है कि हमको कोई आदेश निर्देश नहीं हैं, हमारा पहला काम जो माल आया है, उसको वेयर हाउस में सुरक्षित रखना है। वेयर हाउस के इटारसी शाखा प्रबंधक पीएस भूरिया ने माना कि मक्से से भंडारण के लिए आया गेहूं 50 फीसद गीला और खराब है जो खाने के उपयोग में तो नहीं आ सकता। शाखा प्रबंधक जीके गौतम ने कहा कि अभी तक मक्सी रेक पॉइंट से आये गेहूं में को दादाजी वेयर हॉउस में भंडारण किया जा रहा है।

CATEGORIES

AUTHORRohit

COMMENTS

Wordpress (0)
Disqus ( )
error: Content is protected !!
%d bloggers like this: