एमईएस बैरियर के पास दुर्घटना में दो घायल

दुर्घटना के डेढ़ घंटे बाद पहुंची 108 एम्बुलेंस

दुर्घटना के डेढ़ घंटे बाद पहुंची 108 एम्बुलेंस
इटारसी। किसी भी गंभीर दुर्घटना के मामले में मरीज को त्वरित गति से अस्पताल पहुंचाने के उद्देश्य से शुरु की गई 108 एम्बुलेंस सेवा अब सवालों के घेरे में आ रही है। आज एमईएस बैरियर के पास हुई एक सड़क दुर्घटना में घायल दो लोगों को पुलिस के डायल 100 वाहन से इटारसी अस्पताल लाकर प्राथमिक उपचार कराया और गंभीर होने पर उनको होशंगाबाद रेफर कर दिया। मरीज होशंगाबाद पहुंच गए, इसके बाद 108 एम्बुलेंस इटारसी अस्पताल पहुंची। दलील दी गई कि उनको सूचना ही देरी से मिली।
उल्लेखनीय है, कि आज दोपहर करीब डेढ़ बजे बागदेव तरफ से काम करके बाइक से लौट रहे नाला मोहल्ला निवासी दो मैकेनिक शहजाद और सुलेमान को बैतूल तरफ जा रहे ट्रक ने टक्कर मारकर घायल कर दिया। सूचना पर 100 डायल तत्काल मौके पर पहुंची और इस दौरान एम्बुलेंस 108 को भी खबर की गई। करीब बीस मिनट इंतजार के बाद आखिरकार घायलों की स्थिति देख डायल 100 के पायलेट रीतेश चौधरी, हरिशंकर यादव, एएसआई सुशील कुशवाह और आरक्षक प्रदीप परते ने घायलों को अपने ही वाहन से तत्काल डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी शासकीय अस्पताल लाए।


सरकारी अस्पताल में दोनों को प्राथमिक उपचार के बाद उनकी हालत गंभीर होने पर होशंगाबाद रैफर किया। दुर्घटना में शहजाद 40 को पैर और हाथ तथा सुलेमान को सिर में गंभीर चोट आयी है। दोनों घायलों को लेकर जब एक प्रायवेट वाहन से होशंगाबाद भेज दिया, इसके बाद करीब 3 बजे एम्बुलेंस 108 सरकारी अस्पताल पहुंची। इस तरह से दुर्घटना होने के करीब डेढ़ घंटे बाद एम्बुलेंस पहुंची। सवाल यह है कि आखिर सूचना के बावजूद 108 एम्बुलेंस इतनी लेट कैसे हुई? इसमें लापरवाही किसकी है, इसकी जांच होनी चाहिए, ताकि आगे से ऐसी लापरवाही न हो।

CATEGORIES
error: Content is protected !!
%d bloggers like this:
Narmadanchal

FREE
VIEW