एसएमएस मिलने के बाद भी किसानों से चना नहीं खरीदी

इटारसी। एसएमएस मिलने के बाद मंडी में चना बेचने लाए दो किसानों को आज काफी परेशान होना पड़ा। समर्थन मूल्य पर खरीद कर रही समिति के पदाधिकारियों ने यह कहकर चना नहीं खरीदा कि उनके पास कोई भी शासकीय आदेश लिखित में नहीं है। इधर एसडीएम आरएस बघेल का कहना है कि किसानों का चना ले लेना था, हालांकि उन्होंने यह भी कहा कि चना खरीदी की तिथि 10 अप्रैल की जगज 13 अप्रैल हो गयी है, किसानों के पास गलती से एसएमएस पहुंच गए होंगे।
उल्लेखनीय है कि कृषि उपज मंडी में गेहूं खरीद कर रही प्राथमिक कृषि साख सहकारी समिति इटारसी और प्राथमिक कृषि साख सहकारी समिति घाटली को ही चना खरीदी भी करने के निर्देश कलेक्टर ने दिए हैं। लेकिन आज जब किसान चना लेकर पहुंचे तो समिति प्रबंधक ने चना नहीं खरीदा।
आज ग्राम कूकड़ी के किसान शिवकिशोर पिता भगवती प्रसाद एक क्विंटल चना लेकर कृषि उपज मंडी आए। उनके मोबाइल पर 11 अप्रैल को मंडी में चना लाकर इटारसी समिति को बेचने का मैसेज था। जब यहां आए तो उनको समिति की ओर से चना लेने से साफ इनकार कर दिया। इसी तरह से ग्राम नयागांव के किसान मदनलाल यादव भी चार क्विंटल चना लेकर इसी समिति के पास पहुंचे। उनके मोबाइल पर भी आज चना लेकर आने का मैसेज था। दोनों किसानों को जब सोसायटी ने चना खरीदी से इनकार कर दिया तो किसान मंडी अध्यक्ष विक्रम तोमर के पास पहुंचे। श्री तोमर ने सोसायटी के प्रशासकों से इस विषय में बात की तो उन्होंने कहा कि उनके पास कोई मैसेज ही नहीं है, हम बिना आदेश खरीद नहीं कर सकते।
कृषि उपज मंडी समिति के अध्यक्ष विक्रम तोमर ने कहा कि किसान परेशान हो रहा है, यदि आपको आदेश की कॉपी देखना है तो हमारे पास आदेश आए हैं कि आपकी समिति को ही किसानों का चना भी समर्थन मूल्य पर खरीदना है। इस पर प्रशासकों का कहना था कि हमारे पास आदेश आएंगे तो ही मान्य होंगे। इसके अलावा खरीदी से पूर्व बहुत सारी औपचारिकताएं पूर्ण करनी होती है। अभी नान की ओर से हमारे खाते में पैसा नहीं आया है, कौन खरीद करेगा, इसका कोई एग्रीमेंट भी नहीं किया गया है। चना खरीदी के लिए नाफेड से हमें बारदाने भी नहीं मिले हैं। इन हालात में हम चना खरीदकर क्या करेंगे। यदि हम खरीद लें तो इनका भुगतान कैसे किया जाएगा। कुल मिलाकर अभी स्थिति स्पष्ट नहीं है, ऐसे में समिति चना की खरीदी नहीं कर सकते।

इनका कहना है….!
किसानों का चना जब समिति ने नहीं खरीदा तो वे हमारे पास परेशानी लेकर आए। हमने समिति के प्रबंधकों से बात की तो उन्होंने कहा कि उनके पास आदेश नहीं हैं। हमने हमारे पास आया आदेश दिखाया तो वे नहीं माने और खरीद संंबंधी तैयारियां नहीं होने की बात कहने लगे।
विक्रम तोमर, अध्यक्ष कृषि मंडी

किसानों का चना नहीं खरीदने की जानकारी मिली है। वैसे चना खरीदी संबंधी आदेश बदलकर आए हैं, अब 13 अप्रैल से चना खरीद होगी। जो किसान आए उनको गलती से एसएमएस आ गया होगा। हालांकि आ गए थे तो उनका चना खरीदा जाना चाहिए।
आरएस बघेल, एसडीएम

CATEGORIES
TAGS
Share This
error: Content is protected !!