एसडीओ के खिलाफ संघर्ष का बजाया बिगुल

एसडीओ के खिलाफ संघर्ष का बजाया बिगुल

621 हितग्राहियों को वंचित करने का मामला
इटारसी। एसडीओ राजस्व के कार्यालय द्वारा शहर के 621 हितग्राहियों को प्रधानमंत्री आवास योजना के लाभ से वंचित करने के मामले में अब एक संघर्ष समिति का गठन करके एसडीओ राजस्व के खिलाफ संघर्ष का बिगुल बज चुका है। समिति अब लाभ से वंचित हितग्राहियों के साथ सड़क पर आकर आंदोलन करेगी। यह आंदोलन चरणबद्ध होगा, जिसमें वर्तमान में प्रधानमंत्री को पोस्टकार्ड भेजने का अभियान चल रहा है। दूसरे चरण में सांकेतिक धरना और तीसरे चरण में कार्यालय का घेराव किया जाएगा।
मंगलवार को ईश्वर रेस्टॉरेंट में हुई बैठक में पूर्व नगर पालिका परिषद उपाध्यक्ष अरुण चौधरी, निवृतमान पार्षद मनोज गुड्डू गुप्ता, सरोज उईके, भाजयुमो जिला उपाध्यक्ष जोगिन्दर सिंह, अभिषेक तिवारी, अभिषेक कनोजिया सहित अनेक निवृतमाना पार्षद, युवा मोर्चा, भाजपा के सदस्य, प्रधानमंत्री आवास योजना के लाभ से वंचित हितग्राही उपस्थित थे। बैठक में पूर्व नगर पालिका अध्यक्ष प्रकाश सोनी और पूर्व पार्षद कमल बडग़ूजर की पुण्यतिथि पर उनको श्रद्धांजलि भी अर्पित की गई।
मंगलवार को प्रधानमंत्री आवास योजना संघर्ष समिति सदस्यों ने हितग्राहियों के प्रकरणों को एसडीओ राजस्व के कार्यालय द्वारा रोके जाने के विरोध में बैठक ली। बैठक को संबोधित करते हुए विधायक डॉ.सीतासरन शर्मा ने कहा कि हम सब राजनैतिक दल के कार्यकर्ता हैं। वर्तमान में विपक्ष में हैं तो हमारा दायित्व है कि शासन और प्रशासन की गलत नीतियों का विरोध करके सही काम कराना। प्रधानमंत्री आवास योजना के लाभ से हितग्राहियों को वंचित करना ही एकमात्र मुद्दा नहीं है। हमें कई विषयों पर संघर्ष करना पड़ेगा। सरकार को एक वर्ष का समय हो गया है। लेकिन, शहर में एक भी नया काम प्रारंभ नहीं किया है और ना ही स्वीकृत हुआ है। केवल विधायक निधि और जो काम पूर्व में स्वीकृत हैं, उन्हीं पर काम हो रहा है। शहर में पूर्व में कराये दो-तीन काम तो अंधे-बहरे प्रशासन ने तोड़ दिये जिनमें चौपाटी उजाड़कर लोगों को बेरोजगार कर उनके परिवार के सामने रोजी-रोटी का संकट खड़ा कर दिया तो वृद्धाश्रम तोड़कर बुजुर्गों को बेघर कर दिया। हम प्रभारी मंत्री से मिल चुके, प्रशासन से मिल चुके। लेकिन दुर्भाग्य है कि एसडीएम को नियम और कानून का ज्ञान ही नहीं है। इनको प्रधानमंत्री आवास निरस्त करने का अधिकार ही नहीं है। ये केवल जनता के खिलाफ काम करने के लिए बैठे हैं।

विधायक बोले, एक चूक हो गयी
विधायक डॉ. शर्मा ने कहा कि जब से प्रदेश में कांग्रेस की सरकार बनी है, हमें तभी से संघर्ष प्रारंभ करना था। हमने देरी करके भ्रष्टाचार में डूबे कांग्रेसियों को हमला करने का मौका दे दिया। यदि हम पहले ही संघर्ष प्रारंभ कर देते तो न चौपाटी टूटती और ना ही वृद्धाश्रम। उन्होंने कहा कि संघर्ष के लिए संख्या की नहीं बल्कि हौसलों की जरूरत है। पहले इतने कार्यकर्ता भी नहीं होते थे, लेकिन हमने मु_ीभर कार्यकर्ताओं के साथ प्रशासन और शासन को हिलाकर रखा था। अब तो इतने कार्यकर्ता हैं कि हम उनको मुर्गा तक बना सकते हैं। उन्होंने कहा कि हम छोड़ेंगे नहीं। इन्होंने इतने गैरकानूनी काम किये हैं कि इनकी नौकरी तक खा सकते हैं।

प्रदेश नेतृत्व ने मांगी है अतिक्रमण की सूची
विधायक डॉ. शर्मा ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश नेतृत्व ने अपने क्षेत्र में कांग्रेसियों के अतिक्रमण की सूची मांगी है। अब प्रदेश स्तर से दबाव बनाकर कांग्रेसियों के अतिक्रमण तोडऩे की कार्यवाही करायी जाएगी। हम बहुत जल्द यह सूची सौंपने वाले हैं। सबसे पहले कार्यकारी अध्यक्ष का नंबर आएगा। डॉ. शर्मा ने कहा कि अब संघर्ष प्रारंभ हो ही गया है तो सब लोग समझ लें कि एक घंटे की सूचना पर 50 भी एकत्र हो गये ता गरीबों के हक माने वालों की मुंडी पकड़कर गलत काम को रोक सकते हैं। विधायक डॉ. शर्मा ने कहा कि वर्तमान में लाखों की रोड को बीच से तोडऩे का काम चल रहा है, इस पर जल्द ही कदम उठाया जाएगा।

ये बोले समिति के सदस्य
– एसडीओ राजस्व हरेंद्र नारायण का ध्यान रेत की ट्रॉलियों की तरफ नहीं है। कांग्रेस के कहने पर गरीबों के साथ अन्याय कर रहे हैं। रेत चोरों पर ध्यान दें, गरीबों को परेशान न करें।
– दीपक अठौत्रा, पूर्व नगर अध्यक्ष भाजपा

शहर में जो हो रहा है ठीक नहीं हो रहा है। कांग्रेस के इशारे पर नगर में हुए कामों से छेड़छाड़ हो रही है। गरीबों को बेवजह सताया जा रहा है। हम हर संघर्ष को तैयार हैं।
रेखा मालवीय, निवृतमान पार्षद

इटारसी के एसडीएम हिटलर जैसा व्यवहार कर रहे हैं। हितग्राही अपने मकान के लिए मजदूरी छोड़कर नगर पालिका और एसडीओ राजस्व के कार्यालय का चक्कर काट रहे हैं।
राकेश जाधव, निवृतमान पार्षद

समिति को हमें स्थायी करना पड़ेगी। एसडीएम मनमानी पर उतर आए हैं। सड़कें मनमानी से खोदी जा रही हैं। उस पर भी रोक लगाना जरूरी है। संघर्ष लंबा करना पड़ेगा।
भरत वर्मा, निवृतमान पार्षद

रोटी, कपड़ा, मकान पहली जरूरत हैं। हम हितग्राहियों के साथ संघर्ष करने को तैयार हैं। यदि थप्पड़ खाने की नौबत आई तो पहला गाल मेरा होगा। लेकिन, फिर व हाथ नहीं होगा।
यज्ञदत्त गौर, निवृतमान पार्षद

कांग्रेस के नेता, प्रशासन के नुमाइंदे योजना के लाभ से लाभान्वित नहीं होने दे रहे हैं। एसडीएम ने 621 लोगों की सूची की जांच के लिए जनप्रतिनिधियों को कभी भरोसे में नहीं लिया।
पंकज चौरे, पूर्व नपाध्यक्ष

युवा साथी संघर्ष के लिए तैयार हो जाएं। संघर्ष के लिए जिस भी हद तक जाना होगा, हम उसके लिए तैयार हैं। हम गरीबों को उनका हक दिलाकर ही दम लेंगे।
राहुल चौरे, अध्यक्ष भाजयुमो

एसडीओ राजस्व ने आमजनता के हित में जितनी काम हमने कराये थे, सबको मिटाने का अभियान छेड़ रखा है। अब हमने कमर कस ली है, ऐसा नहीं होने देंगे।
जयकिशारे चौधरी, जिलाध्यक्ष भाजपा पिछड़ा वर्ग मोर्चा

CATEGORIES
TAGS

COMMENTS

Wordpress (0)
Disqus (0 )
error: Content is protected !!
%d bloggers like this:
Narmadanchal

FREE
VIEW