कंटेन्मेंट जोन (containment Zone) में एक दर्जन बैंक (Bank), कैसे हो भुगतान

कंटेन्मेंट जोन (containment Zone) में एक दर्जन बैंक (Bank), कैसे हो भुगतान

कृषि मंडी (Krishi Upaj Mandi) में मूंग खरीदी पर सस्पेंस बरकरार
इटारसी। एक दर्जन बैंक (Bank) कंटेन्मेंट जोन (containment Zone) में हैं, ऐसे में कृषि उपज मंडी में मूंग की खरीदी पर सस्पेंस बरकरार है। व्यापारी माल खरीदना चाह रहा है, मंडी प्रशासन विक्रय कराने को तैयार है और किसान की अपनी मूंग की उपज बेचने की जल्दी है। लेकिन, परिस्थिति अनुकूल नहीं है। व्यापारी के समक्ष समस्या है, कि उपज खरीद के बाद किसानों को भुगतान कैसे करे? क्योंकि बैंक बंद हैं।
बुधवार को इन्हीं सारी परेशानियों पर चर्चा के लिए एसडीएम और मंडी में भारसाधक अधिकारी सतीश राय (SDM Itarsi Satish Rai), सचिव उमेश बसेडिय़ा शर्मा (Mandi Secretary Umesh Basedia) और व्यापारी प्रतिनिधि मंडी के सभागार में बैठे और विभिन्न पहलुओं पर चर्चा की। चर्चा में यह निकलकर आया कि खरीद में जो सबसे बड़ी परेशानी आ रही है, वह बैंकों के कंटेन्मेंट जोन(containment Zone) में होने से बंद होने पर आ रही है। किसानों को भुगतान कैसे होगा, यह चिंता है और किसान अपनी उपज बिक्री के बाद अधिक दिन पैसे के लिए इंतजार नहीं कर सकता है।

खरीद शुरु होने पर असमंजस
कोविड-19 के दौरान मंडी प्रांगण में व्यापारी एसोसिएशन ने 17 जुलाई को एक पत्र दिया था कि मंडी में नीलामी कार्य बंद रखा जाए। बुधवार को एसडीओ राजस्व और भारसाधक अधिकारी सतीश राय (SDM Itarsi Satish Rai) की अध्यक्षता में सचिव उमेश बसेडिय़ा शर्मा (Mandi Secretary Umesh Basedia), व्यापारी संघ अध्यक्ष राजेन्द्र अग्रवाल (Merchant Union President Rajendra Agarwal), संतोष ओसवाल, अजय खन्ना, अशोक शर्मा, आशीष दुबे, प्रदीप मालपानी, अनिल राठी और शैलेष जैन मंटू की उपस्थिति में नीलामी कार्य चालू करने पर विचार किया, लेकिन कोई नतीजा नहीं निकल सका। इस कारण अभी मंडी में नीलामी कार्य प्रारंभ होगा या नहीं, इस पर असमंजस बरकरार है।

12 बैंक कंटेन्मेंट जोन (containment Zone)में
व्यापारियों ने बैठक में बताया कि वे खरीद करना चाहते हैं, और मंडी प्रशासन भी विक्रय के लिए तैयार है, किसान भी माल बेचना चाहते हैं। लेकिन, शहर में 12 बैंकों की ब्रांच कंटेन्मेंट जोन (containment Zone) में है तथा अधिकांश व्यापारी भी कंटेन्मेंट एरिया (containment Zone) में होने से बंद हैं। तय किया गया कि शनिवार को एसडीओ राजस्व बैंकों से चर्चा करेंगे। सोमवार को सौ प्रतिशत आरटीजीएस (RTGS) के माध्यम से भुगतान की कार्यवाही व्यवस्थित हो तो खरीद कार्य प्रारंभ हो सके। यह भी तय किया कि यदि किसान भुगतान में एक दो दिन का विलंब होने से धैर्य रखें तो सोमवार से खरीद कार्य पुन: प्रारंभ हो।

किसान कहीं भी उपज बेच सकता
मंडी एक्ट (Mandi Act) में प्रावधान है कि अब भारत का कोई भी किसान, किसी भी मंडी में अपनी उपज बेच सकता है। यह प्रावधान इस वक्त परेशानी का सबब बन रहा है। दरअसल, इटारसी मंडी क्षेत्र के ज्यादातर किसान अपनी उपज बेच चुके हैं और इस क्षेत्र के ऐसे किसान जिनकी उपज नहीं बिकी है, उनकी संख्या कम है, जबकि हरदा, टिमरनी क्षेत्र के किसान बड़ी संख्या में इटारसी मंडी में अपनी उपज लेकर आ रहे हैं। ऐसे में किसानों की बढ़ी भीड़ और बाहर का किसान होने से भुगतान में धैर्य रखने जैसी बातें होना थोड़ा मुश्किल है। ऐसे हालात में मंडी में पुन: खरीदी होना भी मुश्किल है।

इनका कहना है…!

शहर के 12 बैंक कंटेन्मेंट जोन (containment Zone) में हैं। ऐसे में व्यापारियों के समक्ष भुगतान करने की समस्या है। ज्यादातर व्यापारी भी कंटेन्मेंट जोन (containment Zone) में निवास करते हैं जो वहां से बाहर नहीं निकल पाएंगे, ऐसे में खरीद कार्य करने में दिक्कतें आनी है। एसडीएम (SDM Itarsi Satish Rai) बैंकों से शनिवार को चर्चा करेंगे, प्रयास होगा कि जल्द से जल्द कोई हल निकल सके।
उमेश बसेडिय़ा शर्मा, सचिव (Mandi Secretary Umesh Basedia)

CATEGORIES
TAGS

COMMENTS

Wordpress (0)
Disqus ( )
error: Content is protected !!
%d bloggers like this: