कम पानी में लगने वाली फसलों का माइको प्लान बनाया जाए

कहा कमिश्नर श्री उमराव ने

कहा कमिश्नर श्री उमराव ने
होशंगाबाद। नर्मदापुरम् संभाग कमिश्नर श्री उमाकांत उमराव ने नर्मदापुरम् संभाग में अल्पवर्षा की स्थिति को दृष्टिगत रखते हुए किसान कल्याण व कृषि विकास विभाग के अधिकारियों को निर्देशित किया कि वे हरदा, बैतूल व होशंगाबाद जिले में किसानों को ऐसी फसल लेने के लिए प्रोत्साहित करें जिससे कम पानी लगता हो इसके लिए कमिश्नर ने सभी अधिकारियों को निर्देशित किया कि वे अपने-अपने जिले का ब्लाक स्तर तक का माइक्रो प्लान बनाकर प्रस्तुत करें, माइक्रो प्लान में कम पानी में होने वाली फसलों की जानकारी, फसलों की किस्मों की जानकारी एवं फसल में कितना पानी लगता है इसकी जानकारी हो। उन्होंने सभी अधिकारियों से कहा कि वे फील्ड में जाकर किसानों से चर्चा भी करें उनसे सुझाव भी मांगे। कमिश्नर ने कहा कि कम पानी वाले स्थानों पर फसल लगाने की प्लानिंग भी अभी से तैयार कर ली जाए इसके लिए ब्लॉक लेवल से लेकर जिला लेवल तक बैठक करने के निर्देश उन्होंने दिए। कमिश्नर ने कम पानी वाली फसलों के व्यापक प्रचार-प्रसार करने के भी निर्देश दिए। उन्होंने भावांतर भुगतान योजना में किसानों का पंजीयन करने और तत्संबंध में सभी मंडी सचिवों को जनप्रतिनिधियों के साथ बैठक करने के निर्देश दिए। कमिश्नर श्री उमराव बुधवार को कृषि विभाग, उद्यानिकी, पशु चिकित्सा विभाग, रेशम, सहकारिता विभाग की समीक्षा बैठक ले रहे थे।
किसान कल्याण व कृषि विकास विभाग के संयुक्त संचालक श्री बी.एल. बिलैया ने बताया कि कम पानी में चना की किस्म जे जी-12, जेजी-14, जे.जी-130, जे.ए.के 9218, जे.जी-11 होती है। कमिश्नर ने उन्हें खाद बीज की उपलब्ध्ता भी सुनिश्चित करने के निर्देश दिए।
बैठक में कमिश्नर श्री उमराव ने स्वाइल हेल्प कार्ड की समीक्षा की। उन्होने कृषि विभाग से एक विशेष अभियान चलाकर किसानों के खेत से मिट्टी के नमूने लेने के निर्देश दिए। कमिश्नर ने संभाग में प्रधानमंत्री फसल बीमा की स्थिति की भी समीक्षा की। कमिश्नर ने अमानक खाद बीज तथा कीटनाशकों के नमूनो पर कार्यवाही की समीक्षा की। अमानक बीजों के संबंध में विक्रेताओं को नोटिस दिया गया है। कमिश्नर ने इस संबंध में उपसंचालक कृषि बैतूल के.एस. थपड़िया द्वारा की गई प्रभावी कार्यवाही की सराहना की।
उपसंचालक द्वारा 5 अमानक बीज विक्रेताओं के विरूद्ध एफ.आई.आर. दर्ज करायी गयी है। कमिश्नर ने उपसंचालक को प्रशस्ति पत्र देने के निर्देश दिए। होशंगाबाद तथा हरदा जिलों में इस योजना में किसानों का पंजीयन न होने पर कमिश्नर ने नाराजगी व्यक्त की उन्होंने अधिकारियों को किसानों का निर्धारित अंतिम तिथि से पूर्व पंजीयन कराने के निर्देश दिए।
कमिश्नर ने सभी कृषि अधिकारियों को साहूकारी से पीड़ित किसानो को चिन्हित करके उनसे व्यक्तिगत सम्पर्क कर कठिनाई दूर करने के निर्देश दिए।
बैठक में एकीकृत बागवानी योजना माइक्रो इरीगेशन योजना की वित्तीय एवं भौतिक प्रगति की समीक्षा की गई। खाद्य विभाग की प्रधानमंत्री उज्जवला योजना में प्रदाय किए गए गैस कनेक्शन की समीक्षा की। बैठक में अपर आयुक्त श्री आर के मिश्रा, उपायुक्त श्री संतोष वर्मा, उपायुक्त श्री राजेन्द्र सिंह तथा सभी संबंधित विभागो के अधिकारी उपस्थित रहें।

CATEGORIES
error: Content is protected !!
%d bloggers like this:
Narmadanchal

FREE
VIEW