कर्मकांडी ब्राह्मण महासभा गठित

इटारसी। श्री दुर्गा नवग्रह मंदिर में रविवार को कर्मकांडी ब्राम्हण महासभा का गठन रामगोपाल त्रिपाठी, अशोक भार्गव, मधुकर व्यास, अनिल मिश्रा, बलराम तिवारी की उपस्थिति में हुआ। नगर के करीब 75 कर्मकांडी ब्राम्हण इस बैठक में शामिल हुए एवं मुरारी उपाध्याय द्वारा प्रस्ताव रखे जाने पर कर्मकांडी महासभा के गठन के अनुमति दी।
श्री दुर्गा नवग्रह मंदिर समिति के अध्यक्ष प्रमोद पगारे ने कर्मकांडी महासभा के गठन के संबंध में विस्तार से बताया कि सबसे प्रथम महासभा के गठन के लिए सदस्यता अभियान 15 जुलाई सोमवार से प्रारंभ होगा। सदस्यता अभियान के पश्चात महासभा में नगर पुरोहित एवं परामर्श मंडल के 5 सदस्यों का निर्वाचन वोट के द्वारा होगा।
रविवार की बैठक में सर्व सम्मति से यह तय किया कि कर्मकांडी ब्राम्हण महासभा का कार्यालय श्री दुर्गा नवग्रह मंदिर होगा एवं सभी प्रकार के धार्मिक अनुष्ठानों के लिए प्रत्येक कर्मकांडी ब्राम्हण को मंदिर एवं भवन निशुल्क उपलब्ध होगा। 15 अगस्त को कर्मकांडी ब्राम्हण महासभा के सभी सदस्य ब्राम्हणों के महत्वपूर्ण ब्रम्ह कर्म श्रावणी महोत्सव मनाने प्रात: 6 बजे श्री दुर्गा नवग्रह मंदिर से नर्मदा तक सेठानी घाट जाएंगे। श्रावणी कर्म के लिए बलराम तिवारी, अशोक भार्गव एवं संदीप दुबे यह कार्य पूर्ण कराएंगे।
बैठक में बलराम तिवारी ने कहा कि नगर में पहली बार कर्मकांडी ब्राम्हण के हित में एक ठोस कार्य होने जा रहा है और इसमें सभी को रागद्ववेश भूलकर आपस में रहकर इस संगठन को खड़ा करना चाहिए। मधुकर व्यास ने कहा कि महासभा का निर्णय सभी उपस्थित ब्राम्हणों की सहमति से हुआ है और मुझे उम्मीद है कि यह संगठन बहुत अच्छे ढंग से कार्य करेगा। रामगोपाल त्रिपाठी ने कहा कि सारे ब्राम्हण मिलकर नगर पुरोहित चुने, डगर बहुत कठिन है, लेकिन हमें इसमें सफलता मिलेगी। अनिल मिश्रा ने कहा कि इस संगठन के निर्माण पर किसी को कोई शंका नहीं होना चाहिए संगठन पूरी ताकत के साथ खड़ा होगा। सभा को संदीप दुबे, सचिन दुबे, सचिन परसाई, सुदीप शर्मा ने भी संबोधित किया। आभार प्रदर्शन मुरारी उपाध्याय ने किया।

CATEGORIES
error: Content is protected !!
%d bloggers like this:
Narmadanchal

FREE
VIEW