किसानों को मृदा परीक्षण की तकनीक बतायी

किसानों को मृदा परीक्षण की तकनीक बतायी

इटारसी। शासकीय एमजीएम पीजी कालेज की राष्ट्रीय सेवा योजना इकाई के ग्राम बीसारोड़ा में चल रहे शिविर पांचवे दिन स्वयं सेवकों ने परियोजना कार्य के अंतर्गत शिविर की अवधारणा स्वास्थ्य जनस्वच्छता एवं व्यक्तिगत स्वास्थ्य के अनुरूप प्रवेश छोर से ग्राम के अंतिम छोर तक कच्ची नाली की सफाई का कार्य कर निकासी को सुचारू बनाया। इस कार्य में ग्राम विकास प्रस्फुटन समिति के अध्यक्ष नरेन्द्र पटैल तथा समिति के सदस्यों ने स्वयं सेवकों के साथ मिलकर सफाई कार्य किया। स्वयं सेवक ब्रजेश कासदे, मनोज कुमार, भीम धुर्वे, विनोद कहार, गोपाल झलिया, हेमंत अहिरवार एवं मोनू का कार्य सराहनीय रहा। ग्राम के कृषक कन्हैया लाल चौरे एवं अन्य ग्रामीणों ने स्वयं सेवकों के कार्यों की प्रशंसा करते हुए स्वच्छता के लिए प्रेरित करने के लिए आभार व्यक्त किया।
दोपहर में बौद्धिक चर्चा के सत्र में प्राचार्य डॉ.पीके पगारे एवं प्राध्यापकों ने व्यक्तित्व विकास के लिए स्वयं सेवकों एवं विद्यालय के छात्र-छात्राओं को विशेष जानकारी दी। प्राध्यापकों में डॉ. पीके अग्रवाल, डॉ. एम अहमद, डॉ. मुकेश बडोले ने संबोधित किया। कार्यक्रम अधिकारी डॉ. एचपी दीक्षित ने कृषकों को अच्छी उपज के लिए मृदा परीक्षण की आवश्यकता बताते हुए मृदा परीक्षण की विशेष जानकारी हेतु कालेज के मृदा परीक्षक राम किशोर सराठे तथा वनस्पति विभाग की विभागाध्यक्ष श्रीमती डॉ. राकेश मेहता तथा अंकिता पांडेय को शिविर में आमंत्रित किया जिन्होंने तकनीकी को विस्तार से समझाया। इस अवसर प्राध्यापक भोजराव बनकर, प्रतीश महाला, प्रदीप साध उपस्थित रहे।

CATEGORIES
error: Content is protected !!
%d bloggers like this: