किसी ने सेवा का पाठ पढ़ाया तो किसी ने कहा मेहनत का फल मिलता है मीठा

किसी ने सेवा का पाठ पढ़ाया तो किसी ने कहा मेहनत का फल मिलता है मीठा

मिल बांचें : जनप्रतिनिधियों और अफसरों ने स्कूलों में जाकर दिया बच्चों को ज्ञान
इटारसी। जनसमुदाय का शासकीय शालाओं से जुड़ाव एवं सामूदायिक सहभागिता के उद्देश्य से मिल-बांचें मध्यप्रदेश कार्यक्रम में आज जनप्रतिनिधियों और सरकारी अफसरों ने विभिन्न शालाओं में जाकर बच्चों को न सिर्फ पढ़ाया बल्कि कहानियों के माध्यम से उन्हें महापुरुषों से प्रेरणा लेने को कहा। इस दौरान बच्चों ने सवाल किए तो उनके जवाब भी दिए। बच्चों ने उनकी कक्षा में पहुंचे अफसरों से अपनी पीड़ा भी बतायी और उनके निराकरण के लिए अनुरोध भी किया।
जिले के प्रशासनिक मुखिया अविनाश लवानिया समीपस्थ ग्राम घुघवासा पहुंचे, एसडीएम अभिषेक गेहलोत ने जमानी स्कूल में, नगर पालिका परिषद की अध्यक्ष सुधा अग्रवाल ने रामगढ़ शाला पुरानी इटारसी, सीएमओ सुरेश दुबे ने शासकीय कन्या उच्च्तर माध्यमिक शाला सूरजगंज, राजस्व समिति के सभापति राकेश जाधव ने गांधीनगर स्कूल में कक्षाओं में जाकर बच्चों की क्लास ली। इसी तरह से अतिरिक्त कलेक्टर ने तवानगर के स्कूल में जाकर मिल बांचे के तहत बच्चों को पढ़ाया।
it180217 (9)घुघवासा में कलेक्टर ने सुनाईं ज्ञानवर्धक कहानियां
कलेक्टर अविनाश लवानिया ने शिक्षा को लेकर मप्र शासन की महत्वाकांक्षी योजना मिल बांचे मप्र कार्यक्रम के तहत आज होशंगाबाद विकासखंड के ग्राम घुघवासा के माध्यमिक शाला में बच्चों को पढ़ाया। कलेक्टर वहां हुई सर्वधर्म प्रार्थना सभा और मध्यप्रदेश गान में भी शामिल हुए। कलेक्टर ने स्कूली बच्चों को किताब पढ़कर ज्ञानवर्धक कहानियां का वाचन किया। मौके पर ही उन्होंने बच्चों से बारी-बारी से पाठय-पुस्तकें भी पढ़वाई। इस अवसर पर श्री लवानियों ने बच्चों से कई रोचक प्रश्न भी किये जिनके उन्होंने उत्तर भी दिए। श्री लवानिया ने इस अवसर पर प्राथमिक शाला व माध्यमिक शाला का निरीक्षण भी किया। कलेक्टर श्री लवानिया ने बच्चों से कहा कि मेहनत करें तो जीवन में सफलता अवश्य मिलती है। उन्होंने जीवन में मेहनत के बल पर ऊंचाईयों पर पहुंचे क्रिकेट के दिग्गज खिलाड़ी सचिन तेंदुलकर और अन्य ऐसे ही सफल व्यक्तियों का उदाहरण भी बच्चों को देकर मेहनत करने को प्रेरित किया। इस अवसर पर परियोजना अधिकारी सर्वशिक्षा अभियान एसएस पटेल व शाला के शिक्षक और शाला के अनेक विद्यार्थी मौजूद थे।
रामगढ़ शाला पुरानी इटारसी पहुंची प्रथम नागरिक
प्रथम नागरिक, नगर पालिका परिषद की अध्यक्ष श्रीमती सुधा अग्रवाल मिल-बांचे कार्यक्रम के अंतर्गत बच्चों को पढ़ाने शासकीय कन्या हाई स्कूल एवं माध्यमिक शाला पुरानी इटारसी पहुंचीं। उन्होंने सर्वप्रथम बच्चों को कार्यक्रम का उद्देश्य बताया और बच्चों से लगन से पढ़कर अपने सपनों को पूरा करने की समझाइश दी। श्रीमती अग्रवाल ने कहा कि बच्चों को अपनी मंजिल पानी है तो बड़े सपने देखें। उन्होंने बचों को अपनी पाठ्यक्रम की पुस्तकों के अलावा भी अच्छी सीख देने वाली किताबों का अध्ययन करने के लिए प्रेरित किया। उन्होंने विद्यालय के शिक्षक-शिक्षिकाओं से स्कूल के विषय में जानकारी भी ली। इस दौरान बच्चों को हिन्दी व अन्य विषय के पाठ पढ़कर सुनाए और प्रेरक कहानियां सुनाकर उनसे प्रेरणा लेकर जीवन जीने की सीख दी। सुबह लगभग 11 बजे रामगढ़ शाला पुरानी इटारसी पहुंची नगर पालिका अध्यक्ष का स्वागत स्कूल के शिक्षक-शिक्षिकाओं, बच्चों ने किया। बच्चियों ने सरस्वती वंदना की और स्वागत गीत गाया। नपाध्यक्ष श्रीमती अग्रवाल ने विद्या की देवी मां सरस्वती के चित्र पर माल्यार्पण करके मिलें-बांचें कार्यक्रम का शुभारंभ किया।
it180217 (1)साहब, परीक्षा आ रही डीजे बंद कराएं
शासकीय कन्या उच्चतर माध्यमिक शाला सूरजगंज में मिल बांचें कार्यक्रम के अंतर्गत बच्चों को पढ़ाने पहुंचे मुख्य नगर पालिका अधिकारी से यहां की बच्चियों ने कई सवाल भी किए और कई सवालों के उत्तर भी दिए। बच्चों ने अपनी एक बड़ी परेशानी बताते हुए कहा कि सर, बोर्ड की परीक्षाएं और अन्य सभी परीक्षाएं निकट हैं और ऐसे में ये मैरिज गार्डन में देर रात तक बजने वाले डीजे बंद कराएं ताकि हमारी पढ़ाई प्रभावित न हो। देर रात तक डीजे बजने से हम परेशान हो जाते हैं। जिस वक्त श्री दुबे बच्चों को पढ़ाने पहुंचे, संस्कृत का पीरियड चल रहा था। उन्होंने बच्चों को श्लोक पढ़कर सुनाए और बच्चों से भी पढ़वाए। इस दौरान कुछ संस्कृत की कथा भी बांची। बच्चों ने सवाल किए तो जवाब भी दिए। बच्चां ने सुझाव दिया कि तेज आवाज़ में मैरिज गार्डन में बजने वाले डीजे बंद होना चाहिए। इस दौरान बच्चियों की तरफ से सामान्य ज्ञान की किताबों की मांग भी आयी तो श्री दुबे ने अपने शिक्षकों के मार्फत प्रस्ताव भेजने को कहा। मुख्य नगर पालिका अधिकारी श्री दुबे ने बच्चों से हिन्दी की किताब से पैरे पढ़वाए और कहानियों के माध्यम से आगे बढऩे की प्रेरणा दी।
it180217 (2)आज पता चला नेताजी भी पढ़े-लिखे हैं
मिल बांचें कार्यक्रम के अंतर्गत नगर पालिका में राजस्व समिति के सभापति राकेश जाधव ने अपने ही वार्ड की शासकीय गांधीनगर माध्यमिक शाला में पढ़ाने में रुचि ली थी। सुबह निर्धारित वक्त पर श्री जाधव गांधी नगर स्कूल में पहुंच गए थे। श्री जाधव ने बच्चों को अपना परिचय दिया और उनके परिचय भी लिया। इसके बाद श्री जाधव ने बच्चों को मेहनत और सेवा का पाठ पढ़ाया। उन्होंने बताया कि मेहनत का फल हमेशा मीठा होता है। स्वच्छता का महत्व बताते हुए बच्चों से स्वयं भी सफाई रखने और लोगों को सफाई के लिए प्रेरित करने को कहा। इस दौरान कुछ सामान्य ज्ञान की बातें भी हुईं। कुछ सवाल हुए तो कुछ जवाब भी मिले। श्री जाधव ने बच्चों को अनुशासन का पाठ भी पढ़ाते हुए कहा कि जीवन में अनुशासन सबसे बड़ी पूंजी है। इससे आपका जीवन सही दिशा में आगे बढ़ता है। श्री जाधव ने बताया कि उनका बच्चों को पढ़ाने का जो अनुभव है, बहुत अच्छा रहा। सवाल जवाब के दौर में स्कूल में एक बच्चे के इस कथन ने सबको ठहाके लगाने को मजबूर कर दिया कि, आज पता चला कि नेताजी भी पढ़े-लिखे हैं।
कमिश्नर ने सुनाई आलसी व्यक्ति की कहानी
मिल बांचे मप्र अभिit180217 (8)यान के तहत शनिवार को नर्मदापुरम् संभाग कमिश्नर उमाकांत उमराव होशंगाबाद शहर के शासकीय कन्या शाला पहुंचे और छात्राओं को एक आलसी व्यक्ति की कहानी सुनाई। पुस्तकों के महत्वपूर्ण अंशों का वाचन किया, छात्राओं से प्रश्न पूछे व उनकी जिज्ञासाओं व प्रश्नों का जबाव भी दिया। उन्होंने स्कूल को ज्ञानवर्धक किताबें भी प्रदान की। कमिश्नर ने छात्राओं को किताबें पढऩे को प्रेरित किया और कहा कि वे सभी प्रकार की ज्ञानवर्धक किताबें पढ़ें और किताबों में दी हुई नैतिक शिक्षा व ज्ञानवर्धक बातों को अपने जीवन व आचरण में उतारने का प्रयास करें। किताबें पढ़कर विद्या का लाभ अर्जित करें। उन्होंने कहा कि किसी भी ग्रंथ या किताब का जब तक कोई लाभ नहीं है जब तक हम उसे पढें नहीं और उसमें दी हुई शिक्षा व सीख को अपने जीवन में ना उतार पाए। कमिश्नर ने छात्राओं को समझाईश दी कि व्यक्ति के जीवन में सबसे कीमती चीज समय है। उन्होंने छात्राओ से कहा कि वे पढ़ लिखकर आत्मनिर्भर बने और अपने माता-पिता का नाम रोशन करें। इस अवसर पर उपायुक्त राजस्व संतोष वर्मा, शाला प्राचार्य शोभा दुबे, शिक्षक व स्कूल की छात्राएं मौजूद थी।

CATEGORIES
error: Content is protected !!
%d bloggers like this: