कृषि मंत्री ने अधिकारियों से क्यों कहा कि तुमको टपका दूंगा

कृषि मंत्री ने अधिकारियों से क्यों कहा कि तुमको टपका दूंगा

कृषि मंडी में पांच संयुक्त कार्यक्रम में आए थे कृषि मंत्री
इटारसी। कृषि मंत्री गौरीशंकर बिसेन ने कृषि उपज मंडी परिसर में पांच संयुक्त कार्यक्रम में ऐसे अफसरों को आड़े हाथ लिया जो भ्रष्टाचार करते हैं। दरअसल उन्होंने यहां राष्ट्रीय कृषि बाजार का उद्घाटन, कृषि विपणन पुरस्कार के ड्रा, किसान सम्मेलन, कृषि मंडी के नए कार्यालय भवन के लोकार्पण, भूसा प्रबंधन पर आधारित बेवसाइट का लोकार्पण के साथ ही कृषि विभाग के संभागीय कार्यालय के भूमिपूजन अवसर पर बतौर कार्यक्रम अध्यक्ष संबोधित किया और कहा कि वे it16217 (1)किसी भी निर्माण कार्य में गुणवत्ता से समझौता कतई नहीं करेंगे। उन्होंने अधिकारियों से कहा कि यदि बिल्डिंग टपकी तो समझो तुमको टपका दूंगा। कार्यक्रम में बतौर मुख्य अतिथि विधानसभा अध्यक्ष डॉ.सीतासरन शर्मा, विशेष अतिथि सांसद राव उदयप्रताप सिंह, विधायक विजयपाल सिंह, जिला पंचायत अध्यक्ष कुशल पटैल, मंडी अध्यक्ष विक्रम तोमर, होशंगाबाद मंडी अध्यक्ष जानकी मीना, जनपद अध्यक्ष संगीता सोलंकी, नगर पालिका अध्यक्ष सुधा अग्रवाल, पीयूष शर्मा, कमिश्रर उमाकांत उमराव, कलेक्टर अविनाश लवानिया, उपसंचालक कृषि जेएस गुर्जर सहित अनेक लोग उपस्थित थे।
प्रदेश के कृषि मंत्री श्री बिसेन ने जानकारी दी कि किसानों के दुर्घटना बीमा के तहत अब तक एक लाख रुपए मिलते थे, अब खेती के वक्त किसान के साथ किसी भी प्रकार की दुर्घटना होती है तो चार लाख रुपए मिलेंगे। कृषि मंत्री ने कहा कि हम जब कांग्रेस मुक्त भारत की बात करते हैं तो इसका मतलब होता है कि कांग्रेस के शासन में जैसे भ्रष्टाचार होता था, घोटाले होते थे उनसे देश को मुक्त करना है। उन्होंने कहा कि अटल बिहारी बाजपेयी की सरकार के वक्त हालात ये थे कि कृषि उत्पादन को बाहर खुले में केप बनाकर रखना पड़ता था। अटल जी के आह्वान पर आज हमने भंडारण क्षमता इतनी बढ़ा ली है कि एक भी दाना खुले में रखने की जरूरत नहीं पड़ रही है।
 
वरना कृषि मंडी कहलाने का हक नहीं
प्रदेश के कृषि मंत्री ने कहा कि यदि 2022 तक यदि किसानों को आय दोगुनी नहीं कर सके तो हम कृषि मंत्री कहलाने के हकदार नहीं रहेंगे। उन्होंने कहा कि प्रदेश ने चार बार कृषि कर्मण पुरस्कार ऐसे ही हासिल नहीं किया है। आज हम पंजाब को अपने यहां का गेहूं खिला रहे है। उन्होंने प्राकृतिक और आध्यात्मिक खेती की ओर किसानों को अग्रसर होने का आह्वान करते हुए कहा कि पंजाब में अंधाधुंध फर्टिलाइजर के उपयोग से वहां कैंसर के रोगी बढ़ गए हैं। उन्होंने कहा कि वक्त आ गया है कि हम फर्टिलाइजर को विदा करें।
96 लाख का भवन देने पर आभार
मप्र विधानसभा के अध्यक्ष डॉ.सीतासरन शर्मा ने कार्यक्रम में संबोधित करते हुए कहा कि कृषि मंत्री ने पहले कृषि उपज मंडी के लिए भवन बनाने राशि दी तो अब 96 लाख रुपए की लागत से मंडी परिसर में बन रहे मंडी के संभागीय कार्यालय भवन का भूमिपूजन भी किया। यह सौगात देने के लिए उनका आभार व्यक्त करता हूं। डॉ. शर्मा ने बताया कि कृषि मंत्री श्री बिसेन ने जिले को दस करोड़ की रेशम उपमंडी, कृषि कालेज सहित अनेक सौगात दी हैं। उन्होंने किसानों से नरवाई नहीं जलाने की अपील करते हुए कहा कि भूसे की आज इंडस्ट्रीज में बहुत डिमांड है, यह किसानों का आय बढ़ाने के काम आएगा। सांसद राव उदय प्रताप सिंह ने कहा कि भाजपा की सरकार बनने के बाद किसानों के जीवन में काफी बदलाव आया है। एनडीए ने किसानों के लिए जो काम किए हैं उसके परिणाम कुछ वर्ष बाद दिखाई देंगे। उन्होंने कहा कि नोटबंदी से वे लोग सबसे अधिक परेशान हुए जो दो नंबर का व्यवसाय करते थे। किसानों पर इसका कोई असर नहीं पडऩे वाला है। उन्होंने कहा कि यह गांव और गरीबों की सरकार है। सांसद ने प्रधानमंत्री आवास योजना की जानकारी भी दी। सोहागपुर विधायक विजयपाल सिंह ने कहाकि प्रदेश में किसानों की हितैषी सरकार है और किसानों के कारण ही प्रदेश में विकास की रफ्तार बढ़ी है। कार्यक्रम को मंडी अध्यक्ष विक्रम तोमर, पूर्व अध्यक्ष पीयूष शर्मा ने भी संबोधित किया। संचालन सुनील बाजपेयी ने और आभार प्रदर्शन अध्यक्ष प्रवक्ता देवेन्द्र पटेल ने किया।
इस अवसर पर कृषि अवशेष प्रबंधन मेरा भूसा, मेरा लाभ पर आधारित बेवसाइट का लोकार्पण किया गया। राष्ट्रीय कृषि बाजार का उद्घाटन किया तथा कृषि विपणन पुरस्कार का ड्रा निकाला जिसमें बंपर पुरस्कार में एक ट्रैक्टर कुलदीप पिता संतोष कुमार ग्राम साकेत के नाम निकला। ड्रा में निशा गोवर्धन भीलाखेड़ी, दामोदर चौधरी सनखेड़ा, राहुल साहू मलोथर, भागीरथ छोटेलाल बाईखेड़ी, बृजकिशोर तारारोड़ा, रामगोपाल मलोथर, दिनेश साहू सिवनी मालवा, प्रीतम पथोड़ी और श्याम नारायण तारारोड़ा के नाम पुरस्कार निकले।

CATEGORIES
error: Content is protected !!
%d bloggers like this: