खाद्य सुरक्षा एवं मानक अधिनियम में पारित दोष सिद्ध

इटारसी। न्यायालय श्रीमती स्वाति निवेश जायसवाल न्यायिक मजिस्ट्रेट प्रथम श्रेणी इटारसी ने निर्णय पारिक कर प्रकरण क्रमांक 1383/13 में तुलसीराम यादव आत्मज भैयालाल यादव निवासी बोर्डिंग स्कूल के पास नाला मोहल्ला इटारसी को खाद्य सुरक्षा मानक अधिनियम की धारा 51 में एक लाख रुपए, धारा 52(1) में पचास हजार रूपये, धारा 58 में तीस हजार रुपए, धारा 59(1) में तीन माह का सश्रम कारावास एवं पचास हजार रूपये के अर्थदंड से दंडित किया है।
सहायक जिला अभियोजन अधिकारी प्रमोद सिंह पटेल ने बताया कि 21.02.13 को खाद्य सुरक्षा अधिकारी खाद्य पदार्थो के नमूना और निरीक्षण कार्य के लिए नीलम होटल के सामने खड़े थे, तभी एक व्यक्ति एक बैग में सामान लाते दिखा जिसे उन्होने अपने पद का परिचय और अभिप्राय से अवगत कराया तथा बैग खोलने को कहा तो निरीक्षण के दौरान उसके बैग में राजश्री ब्रांड के 16 पैकेट, विमल गुटका के तीन पैकेट, और शिखर गुटका के तीन पैकेट पाये गये। पूछने पर अभियुक्त ने रेलवे स्टेशन में यात्रियों को गुटखे बेचने की बात बताई और नाम पता पूछने पर उसने अपना नाम तुलसीराम यादव आत्मज भैयालाल यादव उम्र 47 वर्ष निवासी बोर्डिंग स्कूल के पास नाला मोहल्ला इटारसी बताया। खाद्य सुरक्षा अधिकारी के द्वारा अभियुक्त तुलसीराम से 1040 रुपए अदाकर गुटखा क्रय किये तथा पावती ली गयी तथा खरीदे गए राजश्री गुटखा हेतु नियमानुसार लेवल फार्म तैयार कर सभी पर विक्रेता तुलसीराम यादव तथा उपस्थित गवाहों से हस्ताक्षर करवाकर लेवल फार्म गुटखा के नमूने में रखते हुए ब्राउन पेपर में लपेटकर गोंद की सहायता से चिपकाए गए तथा चपड़ा सील से सीलबंद किये गये।
गुटखा के नमूनों को परीक्षण हेतु खाद्य विश्लेषक, राज्य खाद्य परीक्षण प्रयोगशाला भोपाल भेजे गए। प्रयोगशाला के परीक्षण में राजश्री गुटखा का नमूना अवमानक असुरक्षित, विक्रय हेतु प्रतिबंधित तथा मिथ्याछाप होना पाया गया। खाद्य सुरक्षा अधिकारी के द्वारा जांच पश्चात् परिवाद पत्र न्यायालय में प्रस्तुत किया। अभियोजन की ओर से प्रमोद सिंह पटेल सहायक जिला अभियोजन अधिकारी इटारसी ने साक्षियों का न्यायालय में परीक्षण कराया और शासन की ओर से अंतिम तर्क किए।

CATEGORIES
error: Content is protected !!
%d bloggers like this: