छाबड़ा प्रधान चुने गए, दूसरे गुट ने किया विरोध

छाबड़ा प्रधान चुने गए, दूसरे गुट ने किया विरोध

गुरुद्वारा गुरुसिंघ सभा की प्रबंध समिति के चुनाव हुए
इटारसी। पिछले दिनों गुरुद्वारा गुरसिंघ सभा के चुनावों को लेकर हुए विवाद के बाद आज सिखों के एक गुट ने अपना प्रधान चुन लिया है जबकि दूसरे गुट ने चुनावों को अवैध बताते हुए इसका विरोध दर्ज कराया है।
आज शाम गुरुद्वारा श्री गुरुसिंग सभा गुरुद्वारा प्रबंध समिति के प्रधान पर पद जसबीर सिंघ छाबड़ा को चुना गया है। चयन को सर्वसम्मति से होना बताया गया है जबकि विवाद के बाद दूसरे गुट सलूजा गुट ने इसका विरोध दर्ज कराया है। सलूजा गुट के जुझार सिंघ, कुलदीप सिंघ, रिम्पी बिन्द्रा और अमरजीत सिंह सहित अन्य ने कहा कि ये चुनाव अवैधानिक है, हम इसका बहिष्कार करते हैं। उन्होंने घोषणा कि है कि हम जयस्तंभ चौक पर इसके विरोध में शनिवार से भूख हड़ताल करेंगे।
उल्लेखनीय है कि करीब 5 माहे पहले प्रबंधन समिति के प्रधान रघुवीर सिंग छाबड़ा का निधन हो गया था। तभी से यह पद रिक्त था। प्रबंध समिति की बैठक में सर्वसम्मति से इस पद के लिए जसबीर सिंघ छाबड़ा को चुना गया। कार्यकारिणी में कोई फेरबदल नहीं हुआ है। नए प्रधान जसबीर सिंघ छाबड़ा नगर पालिका परिषद में सभापति भी हैं। नए प्रधान का चुनाव होने के बाद गुरुद्वारा में अरदास की गई। इसके बाद श्री छाबड़ा को पदभार सौंपा गया। बता दें कि पिछले माह 20 मई को प्रधान पद के चयन को लेकर गुरुद्वारा में एक बैठक रखी गई थी। अभी चयन प्रक्रिया पूर्ण होती इसके पहले ही इस बैठक में विवाद हो गया था। विवाद इतना बढ़ा था कि मारपीट के बाद मामला थाने पहुंच गया था।

CATEGORIES
error: Content is protected !!
%d bloggers like this:
Narmadanchal

FREE
VIEW