जानिये, देशज 2019 में किस दिन क्या होगा

इटारसी। संगीत नाटक अकादमी नई दिल्ली एवं नगर पालिका परिषद इटारसी के संयुक्त तत्वावधान में 18 से 22 सितंबर तक होने वाले लोक एवं पारंपरिक अभिव्यक्तियों के उत्सव देशज 2019 में देश के विभिन्न प्रांतों की पांपरिक कला देखने को मिलेगी। यह कार्यक्रम गांधी स्टेडियम में होगा। उद्घाटन समारोह 18 सितंबर को सायं 6 बजे होगा।
देशज 2019 में 18 सितंबर, बुधवार को शाम 6 बजे पंजाब का लोकसंगीत ग्लोरी एवं लाची बाबा अमृतसर की प्रस्तुति होगी। पहले ही दिन सूत्रधार कला मंच कुल्लू द्वारा कुल्लू नाटी नृत्य हिमाचल प्रदेश, महेन्द्र यादव एवं दल हैद्राबाद द्वारा तेलंगाना के लमबाड़ी नृत्य, मधुबनी बिहार के विक्रांत कुमार एवं दल द्वारा झिझिा नृत्य, असम के धर्मानंद सोनवाल एवं दल धेमाजी द्वारा बीहू नृत्य, सागर मप्र के अरविंद यादव एवं दल द्वारा बधाई नृत्य की प्रस्तुति होगी।
19 सितंबर को रायपुर के दीपक चंद्राकर एवं दल द्वारा लोकसंगीत, श्रीराम सेवक किसान लोककला विकास समिति दमोह की सेरा नृत्य प्रस्तुति, मिजोरम आईजॉल के लालदिनसांगा एवं दल द्वारा चेराव एवं चेलम नृत्य, उत्तराखंड के टुंगरा चकराता के नंदलाल भारती एवं दल द्वारा हारूल नृत्य, रामनगर कर्नाटक के शिवमधु एवं उनकी टीम द्वारा ढोलु कुनिथा और कोलकाता बंगाल के स्वपन अधिकारी एवं टीम बाउल संगीत पेश करेगी।
20 सितंबर, शुक्रवार को केरल के नारायण पिल्लई और उनकी टीम कुतियोत्तम, मप्र उज्जैन के कृष्णा वर्मा की टीम कान्ह गुवाल्या एवं मटकी नृत्य, गुजरात अहमदाबाद के परिवेज अहमद खान एवं उनकी टीम द्वारा गरबा नृत्य, गंजम उड़ीसा के एस वेंकटराव रेड्डी द्वारा रनपा नृत्य, टेमरीन अरुणाचल प्रदेश के स्नो लायन द्वारा याक नृत्य, मथुरा उप्र के श्रीनाथ शर्मा एवं टीम द्वारा मथुरा रास एवं चरकुला नृत्य की प्रस्तुति दी जाएगी।
चौथे दिन 21 सितंबर, शनिवार को विजयवाड़ा आंध्रप्रदेश के मुरलीबासा एवं दल द्वारा गरगालू नृत्य, इम्फाल मणिपुर के संगीत कला संगम द्वारा थांग-टा एवं ढोल चोलम, डिंडोरी मप्र के लेखपाल दुरवे एवं दल द्वारा गुडुम बाजा की प्रस्तुति जोधपुर राजस्थान के कुसुम कछावा एवं दल द्वारा भवाई नृत्य, रोहतक हरियाणा के राहुल बागड़ी एवं दल द्वारा फाग नृत्य और मानभूम झारखंड के हरेन्द्रनाथ कुमार एवं उनकी टीम मानभूम छाउ पेश करेगी।
समापन दिवस पर 22 सितंबर, रविवार को पुणे महाराष्ट्र के राजेन्द्र केशव बगाड़े एवं दल द्वारा लावणी, बाग मप्र के गोविन्द गेहलोत एवं दल द्वारा भगोरिया नृत्य, त्रिपुरा अगरतला के राजू मोग की टीम संगराई मोग नृत्य, जम्मू एवं कश्मीर के श्रीनगर से गुलाम अहमद चोपान एवं टीम बच नगमा, तमिलनाडु के तंजावुर के एम काली एवं टीम करगट्टम और अंतिम प्रस्तुति निजामी बुधु हैदर एवं हसन निजामी दिल्ली द्वारा कव्वाली की प्रस्तुति दी जाएगी।

CATEGORIES
error: Content is protected !!
%d bloggers like this: