जैविक कृषि उत्पाद बाजार को मिले उत्साहजनक परिणाम

डाक्टर्स, वकील, इंजीनियर्स सहित अनेक लोगों ने दिखाई रुचि
इटारसी। ग्राम सेवा समिति निटाया के तत्वावधान में रविवार को शासकीय कन्या महाविद्यालय के सामने ईश्वर रेस्टोरेंट में जैविक कृषि उत्पाद बाजार का आयोजन किया गया जैविक बाजार में फल सब्जी अनाज औषधि मसाले जैविक खाद सहित अन्य जैविक उत्पाद प्रदर्शन और बिक्री के लिए रखे गए थे। आज बड़ी संख्या में ग्राहकों ने रुचि दिखाई। अगला जैविक बाजार 4 अगस्त को ईश्वर रेस्टॉरेंट में ही लगाया जाएगा।
इटारसी में हर माह के प्रथम रविवार को लगने वाले जैविक बाजार में इस रविवार को भी करीब डेढ़ दर्जन किसानों ने देसी तरीके से उपजायी गई सब्जियां, फल, अनाज, मसाले आदि प्रदर्शन और विक्रय के लिए जैविक बाजार में लाए थे। ईश्वर रेस्टोरेंट के सभागार में लगे जैविक बाजार में हरदा, बैतूल, होशंगाबाद जिलों के ग्रामीण अंचलों के किसान अपने उत्पाद लेकर उपस्थित हुए थे।
जैविक बाजार के संयोजक हेमंत दुबे ने बताया कि पिछले माह प्रथम बार इटारसी में जैविक बाजार का आयोजन किया था। इसमें आमजन की उत्साहजनक भागीदारी को देखते हुए ग्राम सेवा समिति के सदस्यों ने निर्णय लिया कि इटारसी में हर माह के प्रथम रविवार को जैविक बाजार का आयोजन किया जाए। इसी के तहत इस बार हमने यह आयोजन किया है किसान भी उत्साहित हैं। उन्होंने कहा कि हमारा प्रयास है कि यह बाजार इटारसी में लगातार चले।
समिति के मार्गदर्शक शिक्षाविद प्रोफेसर केएस उप्पल ने कहा कि जैविक उत्पाद आपको बीमारियों से बचाते हैं। इन दिनों हो रहे पेस्टिसाइड्स के प्रयोग से कई सारी बीमारियां मानव शरीर में होती हैं। यदि हमें इन बीमारियों से अपने आप को बचाना है तो हमें जैविक उत्पादों का इस्तेमाल करना प्रारंभ करना पड़ेगा और इसी सोच के साथ सुबह 10 से शाम को 5 बजे तक लगने वाले इस जैविक बाजार में बड़ी संख्या में लोग आकर जैविक उत्पाद खरीद रहे हैं। इसी तरह उत्साहजनक परिणाम मिले तो आगामी समय में जैविक बाजार एक पखवाड़े में एक बार लगाने का प्रयास किया जाएगा। समिति के सदस्य जैविक बाजार की सफलता के लिए प्रयासरत हैं।
रविवार को इस आयोजन में समिति के सदस्य ग्राम दहेड़ी के संकल्प गौर, नरेन्द्र चौधरी, राजेश तामले, रूपसिंह राजपूत, सुरेश दीवान, लक्ष्मण सिंह राजपूत, अश्वनी चौधरी ने सहयोग किया। विभिन्न स्थानों से आए किसानों में मनोज पटेल हरदा के अलावा नन्हेंलाल भाटी, नमन सेवा समिति से सुमन धुर्वे, ललित पांसे, राकेश मानेकर, मोहित बादर, हरिओम ताले, पुरुषोत्तम खोरे, बसंत वर्मा, राजकृष्ण रघुवंशी, लालता प्रसाद चौधरी, भारत कालिंग से संदीपक मेहतो, जनक कृषि फार्म जमानी से डॉ. सुनीता सिंह आए हुए थे।
डाक्टर्स ने दिखायी रुचि : जैविक बाजार में डाक्टर्स भी लगातार रुचि दिखा रहे हैं। रविवार को होशंगाबाद से डॉ. बीएम मालवीय, इटारसी से डॉ. अनिल सिंह, डॉ. अनिल गुरबानी, डॉ. आके चौधरी भी यहां आए थे तो भोपाल से चीफ सेफ्टी आफिसर इंजीनियर डीके द्विवेदी भी उपस्थित थे।

आउटलेट खुलेंगे
जैविक उत्पाद की हर वक्त उपलब्धता के लिए नमन सेवा समिति और जनक कृषि जमानी ने शहर में शीघ्र ही अपने आउटलेट्स खोलने का आश्वासन दिया है। इसी तरह से ग्राम सेवा समिति ने जल्द ही होशंगाबाद में भी ऐसे ही जैविक बाजार लगाने के लिए आश्वस्त किया है।

विशेष
अगली बार से बाजार का समय सुबह ११ बजे से शाम ६:३० बजे तक रहेगा।

CATEGORIES
error: Content is protected !!
%d bloggers like this:
Narmadanchal

FREE
VIEW