जोखिम उठाने वाले बनते हैं सफल उद्यमी

व्यक्तित्व विकास प्रकोष्ठ पर व्याख्यानमाला

व्यक्तित्व विकास प्रकोष्ठ पर व्याख्यानमाला
इटारसी। शासकीय कन्या महाविद्यालय में आज व्यक्तित्व विकास प्रकोष्ठ एवं स्वामी विवेकानंद कॅरियर मार्गदर्शन प्रकोष्ठ के संयुक्त तत्वावधान में व्याख्यान आयोजित हुए। व्याख्यान के विषय मन चंगा तो कठौती में गंगा एवं सफल उद्यमी के आवश्यक गुण थे।
it23217इस अवसर पर इटारसी नगर के सफल उद्यमी, नटराज प्रोटीन्स के संचालक रितेष शर्मा ने बताया कि उद्योग क्षेत्र मंी सफल होने के उद्यमी को जोखिम के लिए तैयार रहना चाहिए तथा उद्यम के क्षेत्र में निरंतर प्रयास करते रहना चाहिए, तभी उद्यम में सफलता प्राप्त हो सकती है। वाणिज्य विषय के अतिथि विद्वान प्रो प्रियंक गोयल ने बताया कि किसी भी उद्यम में अपनी रूचि के अनुसार क्षेत्र का निर्धारण, सफलता की प्रथम सीढ़ी होती है, अत: एक सफल उद्यमी अपनी रुचि के अनुसार ही उद्यम का क्षेत्र का चयन कर सफल हो सकता है।
व्यक्ति विकास प्रकोष्ठ के अंतर्गत दूसरे व्याख्यान मन चंगा तो कठौती में गंगा विषय पर अतिथि विद्वान शिरीष परसाई ने बताया कि ये संदेश संत रविदास ने समाज को दिया है कि कर्म द्वारा ही व्यक्ति अपने व्यक्तित्व का विकास कर सकता है, अत: मन से स्वस्थ व्यक्ति ही अपने लक्ष्य को पूरा कर सकता है, व्यक्तित्व विकास प्रकोष्ठ के संयोजक डॉ आरएस मेहरा ने बताया कि मप्र शासन, उच्च शिक्षा विभाग ने प्रकोष्ठ स्थापित करने का मुख्य उद्देष्य है, कि छात्राओं का सर्वांगीण विकास शिक्षा के साथ-साथ तभी हो सकेगा, जब प्रबुद्ध व्यक्तियों और महापुरूरुषों के आदर्र्श वाक्यों एवं संदेशों से छात्राएं परिचित हो सकें। प्राचार्य डॉ कुमकुम जैन ने अपने स्वागत भाषण में बताया कि आज सरकारी नौकरीयों में सेवा के अवसर कम ही बचे हैं, अत: छात्राओं को किसी न किसी उद्यम का चयन करना चाहिए तभी स्वालंबी जीवन जी सकते हैं। कार्यक्रम का संचालन स्वामी विवेकानंद प्रकोष्ठ के संयोजक डॉ श्रीराम निवारिया ने किया तथा आभार प्राचार्य डॉ कुमकुम जैन ने किया।

CATEGORIES
error: Content is protected !!
%d bloggers like this: