झोलाछाप के इंजेक्शन से ग्रामीण की मौत

इटारसी। झोलाछाप डाक्टर के गलत इंजेक्शन से ग्राम पाहनवर्री एक व्यक्ति की मौत होने से परिजनों ने उक्त डाक्टर के खिलाफ यहां एसडीओपी को शिकायत की है। पुलिस ने मामले में मर्ग कायम कर जांच में लिया है। मृतक के परिजनों का कहना है कि तबीयत खराब होने से ग्राम रामपुर में एक डाक्टर को दिखाया था। उसके इंजेक्शन लगाने के बाद तबीयत ज्यादा बिगड़ गई और इटारसी लेकर आए तो मौत हो गयी।
मृतक पाहनवर्री निवासी सुरेश कुशवाहा 52 वर्ष के बेटे मुकेश कुशवाह का कहना है कि उनके पिता की तबीयत खराब होने पर उनको ग्राम रामपुर में डॉ. एके बक्षी को दिखाया था। उन्होंने जब इंजेक्शन लगाया तो उनके पिता की हालत बिगड़ गई। जब डाक्टर के सामने परिजन नाराज हुए तो डाक्टर ने कहा कि इटारसी ले जाएं, वह इलाज का सारा खर्च उठाएगा। लेकिन, यहां जब अस्पताल लेकर आए तो उपचार के दौरान उनके पिता की मौत हो गई। मुकेश का कहना है कि डॉ. बक्षी के इंजेक्शन लगाने से उनके पिता की मौत हुई है। बताया जाता है कि ने मरीज सुरेश कुशवाहा को इंजेक्शन लगाया था। इंजेक्शन से कुशवाहा को इंफेक्शन होने के कारण एक घाव हो गया था। परिजनों ने मरीज को सोमवार को माता मंदिर हॉस्पिटल में भर्ती कराया जहां मरीज की मौत हो गई है।
यहां अस्पताल में सुरेश कुशवाह की मौत के बाद उसके परिजन झोलाछाप डाक्टर की शिकायत लेकर रामपुर थाने भी पहुंचे थे, लेकिन वहां से पुलिस ने यह कहकर उनको वापस इटारसी भेज दिया कि मौत उनके थाना क्षेत्र में नहीं हुई है, इटारसी थाने में ही जाकर वे अपनी शिकायत दर्ज कराएं। इसके बाद परिजनों ने यहां आकर एचडीओपी को आवेदन दिया जिस पर मर्ग कायम कर जांच में लिया है। एसआई एमएस बट्टी ने कहा कि मृतक के परिजन आए थे, लेकिन मामला इटारसी का होने के कारण उनको वहां जाने की सलाह दी है।

CATEGORIES
error: Content is protected !!
%d bloggers like this:
Narmadanchal

FREE
VIEW