टूटी ओएचई, आधा दर्जन ट्रेनें रुकी

इटारसी। शुक्रवार को जबलपुर की ओर से इटारसी आने वाली भोपाल-बीना-इटारसी विंध्याचल एक्सप्रेस के शाम 5 बजे तक न आने पर हजारों की संख्या में यात्रियों को परेशाना होना पड़ा। कड़ी धूप और भीषण गर्मी में यात्री जंक्शन पर ट्रेनों का इंतजार करते रहे। रेल सूत्रों के अनुसार जबलपुर अप लाइन पर गुरमखेड़ी के पास ओएचई लाइन टूट गयी थी।
जबलपुर रेल लाइन पर सोहागपुर और गुरमखेड़ी के बीच अपट्रैक पर शुक्रवार को दोपहर करीब 2 बजे ओएचई लाइन टूट गयी थी। इसके बाद इस रेल लाइन पर रेल यातायात थम गया। करीब आधा दर्जन ट्रेनों को विभिन्न स्थानों पर रोका गया। सुबह 11:30 बजे इटारसी आने वाली विंध्याचल एक्सप्रेस शाम 6 बजे तक नहीं आयी थी। दोपहर करीब 2 बजे ओएचई लाइन को दुरुस्त किया गया तो रेल यातायात सुचारू हुआ। सबसे अधिक परेशान विंध्याचल एक्सप्रेस के यात्रियों को होना पड़ा। इस ट्रेन को सोहागपुर में करीब डेढ़ बजे से रोका गया था। अचानक आयी इस खराबी को रेलवे के विद्युत विभाग पिपरिया की टीम ने पांच बजे दुरुस्त कर दिया था।
ये ट्रेनों हुईं प्रभावित
ओएचई टूटने से 11272 विंध्याचल एक्सप्रेस, 1062 पवन एक्सप्रेस, 11464 जबलपुर-सोमनाथ राजकोट एक्सप्रेस, 12150 दानापुर-पुणे एक्सप्रेस, 51190 इटारसी-इलाहाबाद पैसेंजर में यात्री करीब साढ़े तीन घंटे विभिन्न स्टेशनों पर अपनी ट्रेन चलने के इंतजार में गर्मी में परेशान होते रहे। इस घटना के कारण ये सभी ट्रेनें करीब दो से चार घंटे की देरी से जंक्शन पर पहुंची हैं। लेकिन शाम 6 बजे तक बीना एक्सप्रेस इटारसी नहीं पहुंची थी, जिसे शाम 4:30 बजे पुन: इटारसी से वापस जाना होता है। इस ट्रेन में यात्रा करने वाले अनेक यात्री इटारसी स्टेशन पर ट्रेन की प्रतीक्षा में घंटों खड़े रहे। रेलवे की लापरवाही का आलम यह था कि रेलवे स्टेशन के पूछताछ कार्यालय और स्टेशन अधीक्षक इस विषय में यात्रियों को कोई जानकारी नहीं दे पा रहे थे।
प्लेटफार्म 7 पर रही भीड़
प्लेटफार्म क्रमांक 7 पर विंध्याचल एक्सप्रेस के यात्रियों की भीड़ बड़ी संख्या में जमा थी। इन यात्रियों को जबलपुर तरफ के स्टेशनों की यात्रा करनी थी वह सभी ट्रेनों में जहां जगह मिली वहां बैठकर रेलवे को कोस रहे थे। इस दौरान गोटेगांव जा रहे बुजुर्ग वीरेन्द्र कुमार श्रीवास्तव ने बताया कि बीना एक्सप्रेस का इंतजार कर रहे हैं। पिपरिया जा रहे केएस भारत ने बताया कि रेलवे कोई जानकारी नहीं दे रहे हैं। महिला यात्री रितु मालवीय ने बताया कि रेलवे सही जानकारी नहीं दे रही है। प्लेटफार्म पर इंतजार करने को कहा है। डेली अपडाउन करने वाली छात्रा स्मृति ने बताया कि हम 4 बजे से विंध्याचल एक्सप्रेस के इंतजार में बैठे हैं। ट्रेन की कुछ जानकारी नहीं मिल पा रही है। जबलपुर से लौट रहे जीआरपी के कमलेश लाडिय़ा, दिलीप सिंह और विष्णु मूर्ति शुक्ला ने बताया कि पहले से ही विंध्याचल एक्सप्रेस डेढ़ घंटे सोहागपुर में लेट आयी थी और वहां खड़ी रही तथा देर शाम को इटारसी पहुंची।
इनका कहना है…!
जबलपुर सेक्शन में ओएचई का तार टूट गया है जो पांच बजे ठीक कर दिया है। ट्रेनों को अप ट्रैक से चलाया जा रहा है। पहली ट्रेन सोमनाथ एक्सप्रेस आयी जबकि तार टूटने से पहले वहां से मैसूर एक्सप्रेस गुजरने वाली आखिरी ट्रेन थी जो यहां शाम 4 बजे पहुंची। यहां से जबलपुर की ओर जाने वाली अमरकंटक एक्सप्रेस को निर्धारित समय पर रवाना किया गया है।
एसके जैन, स्टेशन प्रबंधक

CATEGORIES
error: Content is protected !!
%d bloggers like this:
Narmadanchal

FREE
VIEW