डे बोर्डिंग के 20 बच्चों को मिली हॉकी किट

खेल विभाग की ओर से मिली सामग्री जिला हॉकी संघ ने बांटी

खेल विभाग की ओर से मिली सामग्री जिला हॉकी संघ ने बांटी
इटारसी। गांधी मैदान पर चल रही सीएम अकादमी डे बोर्डिंग में प्रशिक्षण प्राप्त कर रहे बीस बच्चों को मप्र खेल एवं युवक कल्याण विभाग की ओर से हॉकी किट प्रदान की गई है। जिला हॉकी संघ ने रविवार को सुबह गांधी वाचनालय में बच्चों को हॉकी किट प्रदान की।
इस अवसर पर जिला हॉकी संघ अध्यक्ष सुरेश दुबे, वरिष्ठ हॉकी खिलाड़ी एससी लाल, शेख नियाज, नपा में विधायक प्रतिनिधि कल्पेश अग्रवाल, भाजपा पिछड़ा वर्ग मोर्चा जिलाध्यक्ष जयकिशोर चौधरी, सभापति राकेश जाधव, राजेन्द्र तोमर, जयराज सिंह भानू, कन्हैया गुरयानी, उदयराज सिंह, जयसिंह भदौरिया, रवि हरदुआ, रविन्द्र जोशी सहित अनेक सीनियर और जूनियर खिलाड़ी मौजूद थे।
संबोधित करते हुए जिला हॉकी संघ अध्यक्ष सुरेश दुबे ने कहा कि वर्तमान में नगर पालिका पालिका परिषद हॉकी के लिए जितना सहयोग कर रही है, उतना इससे पहले कभी नहीं मिला। हमारा प्रयास रहा है कि संघ के माध्यम से हॉकी को बढ़ावा मिले। आज नपा परिषद ने सक्रिय सहयोग दिया है, जिससे हमारा मनोबल भी बढ़ा है। जिला खेल विभाग और प्रदेश के मुख्यमंत्री की ओर से हॉकी को बढ़ावा देने के लिए काफी सहयोग प्राप्त हो रहा है। आज खेलते-खेलते ही एक खिलाड़ी रवि हरदुआ नेशनल अंपायर हो गए तो एक अन्य मनीष कोलते भी इसी प्रक्रिया से गुजर रहे हैं। विधायक प्रतिनिधि कल्पेश अग्रवाल ने किट प्राप्त करने वाले सभी खिलाडिय़ों को शुभकामनाएं दी और कहा कि जो शेष रहे गए हैं, उनको भी मिलेगा वे मेहनत करें। एससी लाल ने कहा कि आज जो सुविधा मिल रही है, उसके लिए सरकार को धन्यवाद दिया जाना चाहिए, क्योंकि पहले कुछ नहीं मिलता था।
नेशनल अंपायर रवि हरदुआ ने डे बोर्डिंग के विषय में जानकारी दी। कन्हैया गुरयानी ने जिला हॉकी संघ की नियमावली बताते हुए कहा कि खेल युवक कल्याण विभाग से आदेश हैं कि जो खिलाड़ी प्रशिक्षण में पांच दिन अनुपस्थित होगा, उसे बाहर करके किट वापस ले ली जाएगी। हर छह माह में स्पेशल ट्रायल होगी और प्रदर्शन ठीक नहीं रहा तो भी बाहर कर दिया जाएगा। जयकिशोर चौधरी ने कहा कि प्रदेश में 22 जगह डे बोर्डिंग चल रही है जिसमें इटारसी भी शामिल है। सभापति राकेश जाधव ने कहा कि पहले सुविधा के अभाव में हॉकी खिलाड़ी खेलते थे और शहर का नाम रोशन करते थे, आपको अब सरकार की ओर से सुविधा मिलने लगी है, आप मेहनत करें और अपने शहर को अंतर्राष्ट्रीय स्तर तक पहचान दिलाएं। आपके सीनियर बिना स्वार्थ आपके साथ मेहनत कर रहे हैं, इन्हें गुरुदक्षिणा में अच्छा प्रदर्शन दीजिए।

CATEGORIES
error: Content is protected !!
%d bloggers like this:
Narmadanchal

FREE
VIEW