तटबंध को मूल स्वरूप देने पर ही मिलेगा मूल स्वरूप – कमिश्नर

तटबंध को मूल स्वरूप देने पर ही मिलेगा मूल स्वरूप – कमिश्नर

होशंगाबाद। कमिश्नर कार्यालय सभागार में आयोजित बैठक में नर्मदापुरम् संभाग के कमिश्नर श्री उमाकांत उमराव ने रिपेरियन जोन में वृक्षारोपण तैयारियो की समीक्षा की। उन्होंने कहा कि नर्मदा नदी के तटबंध को मूल स्वरूप देने पर ही नदी को उसका मूल स्वरूप वापिस मिलेगा। इसके लिए ग्रामवार कार्य योजना तैयार करे। रिपेरियन जोन में नदी के किनारे से लेकर 200 मीटर दूर तक वृक्षारौपण के लिए चिन्हांकन किया गया है। इनमें आर-1, आर-2 क्षेत्र में घास तथा झाड़ियाँ रौपित की जाएगीं। शेष आर-3 एवं आर-4 क्षेत्र में बड़े वृक्षो का रौपण किया जाएगा। केबल परम्परागत रूप से नर्मदा तट में पाऐ जाने वाले पौधो, घास, झाड़ियो का ही इसमें रौपण किया जाएगा। रौपण के लिए प्रत्येक जोन में एक नोडल अधिकारी तैनात करें।
कमिश्नर ने कहा कि हर नदी का स्वरूप, उसमें जल की मात्रा, उसके पानी की गुणवत्ता तथा उसमें जलजीवों की उपलब्धता रिपेरियन जोन पर निर्भर करती है। नदी की तली का स्वरूप भी यही तय करता है। रिपेरियन जोन से पेड़ पौधो के नष्ट होने पर नदी के जल स्त्रोत घटने के साथ पानी की गुणवत्ता में कमी भी आती है। इसलिए नर्मदा नदी के मूल स्वरूप को वापिस करने के लिए उसके तटीय क्षेत्र में उन्हीं पौधो का रौपण आवश्यक है जो सदियो से उसके किनारे रहे हैं।
कमिश्नर ने बताया कि गाँव-गाँव अभियान चलाकर बुजुर्गों से नदी के किनारे 50 वर्ष पूर्व पाई जाने वाली वनस्पतियो, जीवजुतुओ की सूची बनाई गई है। पौधरोपण के लिए स्वयंसेवी संस्थाओं, जनअभियान परिषद तथा नर्मदा सेवको से बीज बड़ी मात्रा में संकलित कराएं गये हैं। एडीएम पूरे कार्यक्रम का समन्वय करेंगे। नदी के किनारे पौधरोपण के लिए खसरा नंबर निर्धारित किये जा रहे हैं। इनमें पंचायतो द्वारा पौधरोपण के लिए जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी तैयारी करायेंगे। जिला पंचायत के साथ-साथ वन विभाग भी पौधरोपण करायेंगा।
बैठक में कमिश्नर ने नदी के तंतिका तंत्र, प्रवाह तंत्र, स्वरूप, कटाव रोकने के उपाय, पर्यावरण में सुधार, पारिस्थितकी परिवर्तन के संबंध में विस्तार से जानकारी दी। बैठक में कलेक्टर होशंगाबाद श्री अविनाश लवानिया, कलेक्टर हरदा श्री श्रीकांत बनोठ, वनमंडलाधिकारी संजय सिंह, जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी, विभिन्न विभागो के अधिकारी तथा जनअभियान परिषद के जिला समन्वयक कोशलेश तिवारी उपस्थित रहे।

CATEGORIES
error: Content is protected !!
%d bloggers like this:
Narmadanchal

FREE
VIEW