थ्री स्टार रैंकिंग के लिए नपा की फिर तैयारी शुरु

थ्री स्टार रैंकिंग के लिए नपा की फिर तैयारी शुरु

जिलवानी में कचरा डंपिंग स्थल पर रोड निर्माण प्रारंभ
इटारसी। नगर पालिका आगामी दिनों में होने वाले स्वच्छता सर्वेक्षण में रैंकिंग बढ़ाने के लिए फिर से तैयारी कर रही है। नगर पालिका को थ्री स्टार रैंकिंग पाने के लिए 80 फीसद घर से गीला और सूखा कचरा हर दिन एकत्र करना होगा। यह कार्य तो नगर पालिका वाहनों के माध्यम से कर रही है। लेकिन, अब कचरे का पृथक्करण की प्रक्रिया अपनाने के लिए शुरुआत की जाएगी।
नगर पालिका ने जिलवानी स्थित टेंचिंग ग्राउंड में एमआरएफ सेंटर की स्थाना की तैयारी भी प्रारंभ कर दी है। बेलन मशीन और फटका मशीन भी यहां लगाने की योजना पर काम प्रारंभ कर दिया है। अभी जिलवानी में शहर का कचरा ले जाया जा रहा है, वहां एक गड्ढा बनाकर उसमें सारा कचरा अलग-अलग करके डाला जा रहा है, यहां कचरे से खाद बनाने की प्रक्रिया भी आगामी समय में प्रारंभ करने की योजना है। जिलवानी में इस भूमि पर फैंसिंग लगाने का काम प्रारंभ हो गया है और रोड भी बनना प्रारंभ हो गयी है, ताकि बारिश में परेशानी न हो।
बारिश में होती है परेशानी
नगर पालिका को बारिश के दिनों में जिलवानी में निर्धारित स्थान पर कचरा ले जाकर डंप करने में परेशानी हो रही थी, अत: पिछले वर्ष न्यास बायपास पर कचरा फैका जा रहा था, जिसकी बदबू से लोगों की परेशानी को देखते हुए अब कचरा सीधे जिलवानी ले जाकर डंप किया जा रहा है। दरअसल, जिलवानी में खेतिहर भूमि होने से बारिश के दिनों में निर्धारित स्थल तक कचरा वाहन नहीं पहुंच पा रहे थे, इस बारिश से पूर्व नगर पालिका ने यहां रोड का काम प्रारंभ कर दिया है। मुरम की रोड तैयार करके उस पर काली गिट्टी डाली जा रही है, ताकि वाहनों को डंपिंग स्थल तक जाने में परेशानी न हो।
मीटिंग में मिले निर्देश
बुधवार को जिला मुख्यालय पर नगरीय प्रशासन विभाग से ज्वाइंट डायरेक्टर सुरेश बेलिया और कार्यपालन यंत्री आलोक चौकसे ने नगर पालिकाओं की बैठक लेकर चल रहे कार्यों की समीक्षा की और स्वच्छता सर्वेक्षण की तैयारियों में जुट जाने के निर्देश मुख्य नगर पालिका अधिकारियों को दिये हैं।

  • इन 12 मानकों होती स्टार रेटिंग
    घर-घर कचरा संग्रहण व्यवस्था, घरों या दुकानों से ही गीला-सूखा कचरा अलग होना, सार्वजनिक, व्यावसायिक और आवासीय क्षेत्रों में स्विपिंग, लिटरबिन, वेस्ट स्टोरेज बिंस का प्रबंध, वैज्ञानिक तरीके से वेस्ट प्रोसेसिंग और लैंडफिलिंग के साथ कंस्ट्रक्शन और निर्माण सामग्री वेस्ट का निपटान, गीले कचरे की मौके पर प्रोसेसिंग के जरिए कचरा उत्सर्जन में कमी, बल्क वेस्ट जनरेटर का इंतजाम, कचरा फैलाने वालों और प्लास्टिक पर प्रतिबंध लगाने के लिए यूजर फीस, जुर्माना, स्पॉट फाइन, नागरिक जागरूकता और संलग्नता, पुराने कचरे का निपटान, स्टॉर्म वाटर लाइन, जलाशयों और नालों की नियमित सफाई, सौंदर्यीकरण।

इनका कहना है…
आज जेडी और ईई ने जिला मुख्यालय पर हुई मीटिंग में चल रहे कार्यों की समीक्षा की और आगामी दिनों में होने वाले स्वच्छता सर्वेक्षण की तैयारियां करने के निर्देश दिये हैं।
सीपी राय, सीएमओ
जिलवानी में हमारी तैयारी चल रही है। स्टार रैंकिंग के लिए जो भी मापदंड तय किये गये हैं, उनके आधार पर हम तैयारी कर रहे हैं।
आरके तिवारी, स्वच्छता निरीक्षक

CATEGORIES
TAGS

AUTHORRohit

COMMENTS

Wordpress (0)
Disqus ( )
error: Content is protected !!
%d bloggers like this: