दर्जनों चोरी का आरोपी पकड़ा, लाखों का माल मिलने की उम्मीद

इटारसी। इंदौर-बिलासपुर नर्मदा एक्सप्रेस के स्लीपर कोच से भोपाल के कम्प्यूटर व्यापारी ललित जैन का बैग चोरी करने वाला आरोपी और चोरी का माल बिकवाने वाला उसका जीजा भी जीआरपी की गिरफ्त में आ गया है। पुलिस ने उसे मालाखेड़ी होशंगाबाद से गिरफ्तार किया है। क्राइम ब्रांच ने आरोपी को पकड़कर मामला जीआरपी के सुपुर्द किया है। आरोपी मैहर का रहने वाला है और फिलहाल मालाखेड़ी होशंगाबाद में रह रहा था। उसके पास से सात टेबलेट जब्त हुए हैं। जीआरपी उसे कोर्ट में पेश करके दो दिन का रिमांड और मांग रही है ताकि उसके पास से और भी चोरी का माल जब्त किया जा सके।
उल्लेखनीय है कि १७ जुलाई को इंदौर-बिलासपुर नर्मदा एक्सप्रेस के स्लीपर कोच में यात्रा कर रहे भोपाल के कम्प्यूटर व्यापारी ललित पिता निर्मल कुमार जैन जैन का बैग चोरी हो गया था। बैग में ७ टेबलेट, २ पावर बैंक, दो मोबाइल चार्जर और ४० टेबलेट कवर रखे थे। व्यापारी १८२३३ नर्मदा एक्सप्रेस के कोच एस-३ की बर्थ नंबर ४ पर भोपाल से उमरिया की यात्रा पर था कि १७ जुलाई की रात करीब ३ बजे इटारसी स्टेशन के आसपास उसका सामान से भरा बैग चोरी हो गया था। व्यापारी ने उमरिया से लौटकर जीआरपी भोपाल में शिकायत दर्ज करायी थी। जीआरपी ने अज्ञात के खिलाफ धारा ३८० का मामला दर्ज किया था। १९ अगस्त को जीआरपी ने आरोपी शंकर पिता पन्नालाल जैसवाल २० वर्ष हाल मुकाम मालाखेड़ी और उसका जीजा गोपाल पुरी पिता आजाद सिंह ३५ को गिरफ्तार कर कोर्ट में पेश किया जहां से दो दिन की रिमांड पर पूछताछ की।
लाखों का माल मिलने की उम्मीद
जीआरपी ने जब आरोपी शंकर से पूछताछ की तो पता चला कि आरोपी ने इसके अलावा भी कई चोरियों में हाथ होना कबूला है। उसने जीआरपी को कई जगह माल छिपा होने की जानकारी दी है। जीआरपी कोर्ट से दो दिन की रिमांड और लेकर उससे अन्य चोरियों का माल जब्त करेगी। सूत्र बताते हैं कि उसके पास से बड़ी मात्रा में चोरी का माल जब्त होने की संभावना है। माल की कीमत लाखों रुपए में हो सकती है। शंकर एक आदतन अपराधी है जो पूर्व में भी ११ मामलों में गिरफ्तार हो चुका है।

CATEGORIES
error: Content is protected !!
%d bloggers like this:
Narmadanchal

FREE
VIEW