दानापुर ट्रेन लूट : बनी चुनौती, लूट के तार छग एक्सप्रेस की लूट से जुड़ रहे

इटारसी। दानापुर सुपरफास्ट एक्सप्रेस में गुरुवार-शुक्रवार की दरम्यानी रात हुई लूट की घटना के तार एक दिन पूर्व छत्तीसगढ़ एक्सप्रेस से जुड़ते लग रहे हैं और पुलिस इस दिशा में भी अपनी जांच आगे बढ़ा रही है। शनिवार को भी भोपाल, जबलपुर और होशंगाबाद जिले के पुलिस अधिकारियों ने सीसीटीवी फुटेज खंगाले। दरअसल छत्तीसगढ़ एक्सप्रेस और दानापुर एक्सप्रेस में लूट की वारदात का तरीका एकसमान होने से इस संदेश को बल मिल रहा है कि एक ही गंैग का हाथ हो सकता है। शनिवार को भी एसपी अरविंद सक्सेना, जबलपुर एसआरपी एसके जैन के साथ भोपाल एसआरपी मनीष अग्रवाल ने इटारसी स्टेशन पर घंटों सीसीटीवी फुटेज देखे।
दरअसल, दोनों ट्रेनों में जो समानता है उसमें आरपीएफ की गार्ड नहीं रहती साथ ही ये दोनों ट्रेनें काटोल, पांढुर्ना, बैतूल, घोड़ाडोंगरी और इटारसी रुकती हैं। छत्तीसगढ़ में लूट के प्रयास के एक दिन बाद दानापुर एक्सप्रेस में लूट होना भी घटनाओं को आपस में जोड़ रहा है। छत्तीसगढ़ और दानापुर एक्सप्रेस में लूट की वारदात के बाद घटना स्थल पर एक जैसा सामान मिला है। छत्तीसगढ़ एक्सप्रेस में लूट का प्रयास के बाद बरसाली में एक बेग, एक कंबल और पानी की बॉटल मिली थी वहीं दानापुर एक्सप्रेस में लूट के बाद भी एक बेग, एक कंबल और पानी की बॉटल मिली है। दोनों ही घटना स्थल पर सामग्री घटना स्थल से कुछ दूरी पर खेत में मिली जहां नमी थी। पुलिस ऐसा मान रही है कि लुटेरों ने अपनी सामग्री को इसलिए फेंका हो जिससे डॉग स्क्वॉड भ्रमित हो जाए और आरोपियों के भागने की दिशा का पता न चले। पुलिस अब दोनों सामग्रियों का मिलान भी कर तफतीश कर रही है। एसपी अरविंद सक्सेना भी मानते हैं कि दोनों घटनाओं में कुछ समानता मिल रही है। जैसे दोनों की घटनाओं में घटनास्थल में मिली सामग्री एक समान है। इसके अलावा भी सभी संभावनाओं पर जांच की जा रही है।

ईनाम की घोषणा भी हुई

लूट की घटना में बदमाशों का पता बताने वालों के लिए ईनाम की घोषणा भी हो गई है। पुलिस के लिए चुनौती बनी इस वारदात को जल्द से जल्द हल निकालने उच्च स्तर पर दबाव भी है और यह पुलिस की चिंता का भी सबब है। जबलपुर-इटारसी रेल लाइन पर ऐसी करीब आधा दर्जन घटनाएं हो चुकी हैं। दानापुर घटना में एडीजी राजीव टंडन ने 20 हजार और एसपी जबलपुर रेल एस के जैन ने दस हजार रुपए बतौर ईनाम की घोषणा की है।

इनका कहना है…!
हमें दोनों घटनाओं में कुछ समानता समझ में आ रही है। जैसे दोनों की घटनाओं में घटनास्थल में मिली सामग्री एक समान है। इसके अलावा भी सभी संभावनाओं पर जांच की जा रही है। लुटेरों की जानकारी देने पर ईनाम की घोषणा भी की गई है।
एसके जैन, एसपी रेल, जबलपुर

लूट की घटनाओं में शामिल अन्य वारदातों के अपराधियों से भी इस मामले में पूछताछ की जा रही है। हो सकता है ट्रेन में लूटपाट करने वाले आरोपी पहले किसी अन्य लूट या डकेती में लिप्त रहे हों।
अरविंद सक्सेना, एसपी

CATEGORIES
TAGS
Share This
error: Content is protected !!