दीक्षारंभ कार्यक्रम : निष्ठा, समर्पण और जिम्मेदारी का पाठ पढ़ाया

इटारसी। उच्च शिक्षा विभाग के निर्देशानुसार विश्व बैंक परियोजना के अंतर्गत गुणवत्ता उन्नयन के तहत शासकीय कन्या महाविद्यालय, में तीन दिवसीय दीक्षारंभ कार्यक्रम मां सरस्वती के समक्ष दीप प्रज्लवन एवं वंदना के साथ प्रारंभ हुआ।
कन्या महाविद्यालय में दीक्षारंभ कार्यक्रम में प्राचार्य डॉ. कुमकुम जैन ने स्नातक तथा स्नातकोत्तर कक्षाओं में नवप्रवेशित छात्राओं को दीक्षारंभ कार्यक्रम की रूपरेखा, उद्देश्य, एवं लाभ की जानकारी दी। मुख्य अतिथि शिक्षाविद्, समाजसेवी एवं गांधीवादी विचारधारा के प्रचारक डॉ. केएस उप्पल ने छात्राओं को महाविद्यालीयन जीवन पूर्ण निष्ठा, समर्पण एवं जिम्मेदारी से निर्वहन करने की सलाह दी। आप ने दीक्षारंभ कार्यक्रम को छात्राओं के जन्म दिवस की संज्ञा दी और कहा कि छात्राएं सिनेमाई काल्पनिक एवं छद्म, छात्र जीवन से बाहर निकलकर लक्ष्य की प्राप्ति हेतु कठोर परिश्रम करें। महाविद्यालय के सभी प्राध्यापकों ने मंच पर आकर नवप्रवेशित छात्राओं को अपना परिचय दिया एवं उज्ज्वल भविष्य की शुभकामनाएं दी। प्रथम दिवस परियोजना प्रभारी डॉ. आरएस मेहरा ने उच्च शिक्षा विभाग, महाविद्यालय की स्थापना, प्राचार्य, प्राध्यापक, सहायक कर्मचारी, विभिन्न व्यवस्थाएं समय सारणी, एंटीरेगिंग एवं अनुशासन समिति की विस्तृत जानकारी दी। डॉ. संजय आर्य ने उच्च शिक्षा विभाग से संबंधित राज्य शासन की विभिन्न योजनाओं एवं छात्रवृत्ति के संबंध में विस्तार से छात्राओं को बताया कि छात्रवृत्ति के साथ मप्र शासन उच्च शिक्षा विभाग द्वारा विभिन्न वर्गों की छात्राओं को प्रोत्साहन राशि के रूप में गांव की बेटी एवं प्रतिभा किरण योजना दोनों का लाभ ले सकती है।
भौतिकशास्त्र विभागाध्यक्ष शिरीष परसाई ने गुणवत्ता, उन्नयन हेतु दीक्षारंभ में प्राध्यापकों एवं छात्राओं की अनिवार्य सहभागिता पर जोर दिया। डॉ. श्रीराम निवारिया, हरप्रीत रंधावा, मंजरी अवस्थी, आनंद कुमार पारोचे, डॉ. शिखा गुप्ता, डॉ. पुनीत सक्सेना, डॉ. आशुतोष मालवीय, सोमेश कुमार राठौर, पूनम साहू, पूनम राय, प्रियंका भट्ट, पुष्पा दवंडे, सुषमा चौरसिया, सोनम शर्मा, कामधेनु पटोदिया, महेन्द्रिका मालवीय, हेमंत गोहिया, सरिता मेहरा, राजेश कुशवाहा एवं विभिन्न संकायों की नवप्रवेशित छात्राएं उपस्थित थी।


विद्यार्थियों को दी जानकारी
शासकीय एमजीएम कालेज में तीन दिवसीय दीक्षारंभ कार्यक्रम में प्रभारी प्राचार्य डॉ.राकेश मेहता एवं प्रो. डॉ. विनोद कृष्णा ने द्वीप प्रज्वलन किया। समन्वयक डॉ.पीके अग्रवाल ने रूपरेखा प्रस्तुत की।
प्राचार्य डॉ.राकेश मेहता ने उच्च शिक्षा एक परिचय विषय पर विस्तृत प्रकाश डाला। डॉ.मुकेश जोठे ने महाविद्यालय में चल रही विभिन्न छात्रवृत्ति परियोजना की प्रक्रिया और उनके लाभों से विद्यार्थियों को अवगत कराया। प्रवेश संयोजक डॉ. व्हीके कृष्णा ने महाविद्यालय की वार्षिक गतिविधियों एवं महाविद्यालीन स्टॉफ की संपूर्ण जानकारी दी, महाविद्यालय में सतत मूल्याकंन प्रभारी डॉ.अर्चना शर्मा ने सतत मूल्यांकन की विधियों का महत्व बताया। संचालन डॉ. पीके अग्रवाल ने किया। कार्यक्रम में विद्यार्थियों को कक्षीय अध्यापन और महाविद्यालय में अनुशासन में रहने की प्रेरणा दी। अंत में डॉ.ओपी शर्मा ने उपस्थित विद्यार्थियों का आभार व्यक्त किया। कार्यक्रम को सफल बनाने में महाविद्यालीयन स्टॉफ डॉ.राकेश तिवारी, डॉ.अरविंद शर्मा, डॉ.गायत्री राय, अंकिता पांडे, डॉ.प्रगति जोशी, ओएस यादव उपस्थित रहे।

CATEGORIES
error: Content is protected !!
%d bloggers like this:
Narmadanchal

FREE
VIEW