दुकानदारों को हद के भीतर रहने की हिदायत दी

नपा ने नवरात्रि के लिए रास्ते को सुगम बनाने की कवायद शुरु की

नपा ने नवरात्रि के लिए रास्ते को सुगम बनाने की कवायद शुरु की
इटारसी। 21 सितंबर से शुरु हो रहे नवरात्रि एवं दुर्गा उत्सव के लिए नगर पालिका ने कवायद शुरु कर दी है। एसडीएम से हुई बैठक के बाद उनके निर्देश पर नगर पालिका के अतिक्रमण विरोधी अमले ने आज से शुरु की गई मुहिम के अंतर्गत पहले दिन दुकानदारों को अपना सामान अपनी दुकान की सीमा के भीतर रखने और व्यवस्था बनाने में सहयोग का अनुरोध किया है। इस दौरान सीमा से ज्यादा बाहर आए व्यापारियों पर जुर्माना भी किया है। नपा ने आज बतौर जुर्माना 4 हजार रुपए वसूले हैं।
शाम को नगर पालिका के अतिक्रमण विरोधी अमले ने भारत टाकीज के पास से दुकानदारों को सीमा के भीतर करने की शुरुआत की। इस दौरान पहले दी गई समझाईश के बावजूद जिन व्यापारियों का सामान नाली के बाहर रोड तक रखा मिला और जिन दुकानों के सामने बड़ी मात्रा में कचरा मिला उन पर जुर्माना भी किया है। सीएमओ संजय दीक्षित, स्वच्छता निरीक्षक आरके तिवारी, राजस्व उपनिरीक्षक संजीव श्रीवास्तव, आरआई के साथ मोहर्रिर और अतिक्रमण अमले के कर्मचारियों ने भारत टाकीज रोड, पुराना फल बाजार, जवाहर बाजार की गलियां, नारियल बाजार, बजाजी लाइन, नीमवाड़ा, चिकमंगलूर चौराह, पोस्ट आफिस रोड के आसपास दुकानदारों को नवरात्रि के दौरान होने वाली भीड़ को देखते हुए व्यवस्था बनाने में सहयोग का अनुरोध किया है।
दो दिन में शिफ्टिंग को कहा
चिकमंगलूर चौराहे से आरएमएस आफिस के सामने बीच रोड पर बनी दुकानों के दुकानदारों को नगर पालिका ने नवरात्रि पर्व पर होने वाली भीड़ को देखते हुए जल्द से जल्द पक्की बन चुकी दुकानों में शिफ्टिंग करने के लिए नोटिस जारी किये थे। नपा ने तीन दिन का वक्त दिया था, लेकिन उसको छह दिन बीत चुके हैं। चूंकि नवरात्रि और दुर्गा उत्सव प्रारंभ होने में अब केवल तीन दिन शेष हैं, नपा के अधिकारियों ने इन दुकानदारों से साफ कह दिया है कि एक सप्ताह का वक्त दे चुके हैं, अब केवल दो दिन में अपनी दुकानों को शिफ्ट करके रोड को खाली कर दें, ताकि पर्व के दौरान यातायात व्यवस्था सुगम हो सके। दो दिन में यदि दुकानदार अपनी दुकान खाली नहीं करते हैं तो उनके खिलाफ सख़्ती की जा सकती है। एसडीएम अभिषेक गेहलोत ने इन दुकानदारों को जल्द से जल्द पक्की बन चुकी दुकानों में भेजने के निर्देश दिए हैं। यदि ये दुकानदार पक्की दुकानों में नहीं जाते हैं तो उनको सख्ती से हटाया जाएगा।
बड़ी मात्रा में मिली गंदगी
जवाहर बाजार की दुकानों के सामने आज नगर पालिका के अमले को बड़ी मात्रा में गंदगी मिली है। व्यापारियों को समझाइश दी है कि सुबह नगर पालिका का सफाई अमला सफाई कर देता है तो फिर ये कचरा कहां से आ रहा है। सवाल का दुकानदारों के पास जवाब नहीं था। अधिकारियों ने समझाया कि आप डस्टबिन रखें। हालांकि कई दुकानों में डस्टबिन थी, लेकिन वह दुकान के भीतर रखी थी और कचरा दुकान के सामने पड़ा था। ऐसे दुकानदारों से नपा के राजस्व विभाग ने जुर्माना भी वसूल किया है। जवाहर बाजार की कुछ गलियां तो इतनी संकरी और ऊपर से बंद मिली कि वहां यदि कोई आगजनी जैसी वारदात हो जाए तो दमकल का पहुंचना भी मुश्किल हो जाए। बावजूद इसके यहां के दुकानदार शेड हटाने को तैयार नहीं हैं। नपा अधिकारियों ने ऐसे दुकानदारों को चेतावनी दी है कि वे व्यवस्था बनाने में सहयोग करें अन्यथा सख्ती की जाएगी। इनको कचरा भी डस्टबिन में रखने और कचरा वाहन में डालने को कहा है।
ट्रैफिक अमले का सहयोग नहीं
नगर पालिका का अमला जिस वक्त बाजार में अतिक्रमण विरोधी कार्रवाई कर रहा था, उस दौरान एक भी ट्रैफिक या पुलिस कर्मी साथ नहीं था जबकि शांति समिति की बैठक में नगर पालिका के अधिकारियों ने दुर्गा उत्सव के दौरान होने वाली परेशानी से बचने के लिए मार्ग को सुगम बनाने का विषय रखा तो पुलिस से सहयोग का आश्वासन मिला था। नपा अधिकारियों ने बताया कि जब अतिक्रमण हटाया जा रहा था तो दो बार एक व्यक्ति नशे की हालत में वाहन के आगे आकर लेट गया। काफी देर तक मुहिम रुकी रही। पुलिस को फोन भी लगाया गया लेकिन मुहिम ही खत्म हो गई लेकिन पुलिस से एक सिपाही तक मौके पर नहीं पहुंचा। फोन लगाने के बावजूद पुलिस का इस कार्य में सहयोग नहीं मिल रहा है। नगर पालिका के अतिक्रमण अमले ने ही किसी तरह उस व्यक्ति को वहां से हटाकर मुहिम को दोबारा शुुरु किया है। इस दौरान बड़ी मात्रा में दोपहिया और चार पहिया वाहन रोड पर बेतरतीब खड़े थे।

CATEGORIES
error: Content is protected !!
%d bloggers like this:
Narmadanchal

FREE
VIEW