देरी : 21 माह में भी नहीं बना महज 2.5 किमी का मार्ग

ठेकेदार को नोटिस, एग्रीमेंट निरस्त कर दोबारा टेंडर करेंगे
इटारसी। अभी नयायार्ड मुक्तिधाम से लेकर ग्राम गोंचीतरोंदा मुख्य मार्ग तक बनने वाले मार्ग के मामले में राहतभर खबर नहीं है। देरी का आलम यह है कि 21 माह का समय बीतने पर भी महज 2.5 किलोमीटर का मार्ग नहीं बन सका है। पहले ठेकेदार को कार्य का भुगतान नहीं होने के कारण काम रुका रहा तो अब दो माह हुए पेमेंट होने के बावजूद ठेकेदार द्वारा काम पुन: प्रारंभ नहीं करने पर विभागीय अधिकारी नोटिस देकर ठेका टर्मिनेट करने की बात कर रहे हैं। इन सबके बीच केवल गोंचीतरोंदा में लगभग ढाई सौ मीटर सीसी रोड ही बना है, शेष रोड से गिट्टियां उखड़ रही हैं और स्कूली बच्चों और ग्रामीणों को आने-लाने में परेशानी हो रही है।
गोंचीतरोंदा के रास्ते इटारसी से जमानी जाने वालों को अभी जल्द राहत मिलने वाली नहीं है। ऐसा हम इसलिए कह रहे हैं कि फिलहाल इस मार्ग का करीब एक वर्ष से बंद काम पुन: शुरु होगा इसके आसार नहीं दिखाई दे रहे हैं। पहले तो ठेकेदार अभय दुबे फर्म ने इस रोड पर गिट्टी की एक लेयर बिछायी, ग्राम गोंचीतरोंदा के पास करीब ढाई सौ मीटर सीमेंट कांक्रीट मार्ग बनाया। इसके बाद भुगतान नहीं मिलने से काम बंद कर दिया। अब तक ठेकेदार ने यहां करीब 18 लाख रुपए का काम किया है। लेकिन, करीब दो माह पूर्व भुगतान होने के बावजूद पुन: काम प्रारंभ नहीं हुआ है, और विभाग अब फर्म को नोटिस देकर एग्रीमेंट खत्म करके दोबारा टेंडर कराने की बात कर रहा है।
नोटिस दिया है, ठेका निरस्त होगा
लोक निर्माण विभाग के अधिकारियों का कहना है कि पहले ठेकेदार का भुगतान नहीं होने से काम रुका था। अब करीब दो माह पूर्व विभाग की ओर से भुगतान भी कर दिया गया है। लेकिन, काम प्रारंभ नहीं होने पर ठेकेदार को नोटिस भी दिया गया है। नोटिस में कहा है, यदि समय रहते ठेकेदार ने काम प्रारंभ नहीं किया तो फिर विभाग एग्रीमेंट निरस्त करके दूसरा टेंडर लगाएगा। इस ढाई किलोमीटर के मार्ग में करीब 800 मीटर सीमेंट-कांक्रीट और 1700 मीटर में डामरीकरण का काम होना है। अब तक केवल गोंचीतरोंदा गांव के हिस्से में ढाई सौ मीटर सीमेंट कांक्रीट का काम ही हो सका है।
58 लाख से बनना है रोड
नयायार्ड रेलवे पुल के पास मुक्तिधाम से ग्राम गोंचीतरोंदा मुख्य मार्ग तक करीब ढाई किलोमीटर लंबाई में सीमेंट कांक्रीट सहित डामरीकृत मार्ग लगभग 58 लाख रुपए की लागत से बनना है। अब तक गिट्टी की एक लेयर और गोंचीतरोंदा गांव में लगभग ढाई सौ मीटर सीमेंट कांक्रीट मार्ग का निर्माण ठेकेदार ने करीब 18 लाख रुपए की लागत से किया है। इसके बाद ठेकेदार ने जो बिल लगाये उसका भुगतान नहीं प्राप्त होने से काम बंद कर दिया है। विभागीय अधिकारियों के अनुसार करीब दो माह पूर्व ठेकेदार को बिलों का भुगतान भी कर दिया है, बावजूद इसके अब तक काम प्रारंभ नहीं हो सका है।
आठ माह में होना था काम पूर्ण
लोक निर्माण विभाग सिवनी मालवा के अंतर्गत आने वाले इस हिस्से में बन रहे इस मार्ग का काम 8 माह में पूर्ण होना था। मार्च 2018 में इसका काम प्रारंभ करके इसे आठ माह में पूर्ण होना था। यानी नवंबर 18 में यह रोड बनकर तैयार हो जाना था। लेकिन, भुगतान और फिर ठेकेदार की लेटलतीफी से यह दिसंबर 2019 तक भी पूर्ण नहीं हो सका है। आगे भी कब प्रारंभ होगा, इसके आसार नजर नहीं आ रहे हैं। लोक निर्माण विभाग के सब इंजीनियर आरएन दुबे का कहना है कि जुलाई 18 तक ठेकेदार ने जो काम किया था, उसका भुगतान अप्रैल 19 में 72 फीसद तक कर दिया गया था।
एक नजर…
मार्ग लंबाई – करीब 2.5 किलोमीटर
कुल लागत – लगभग 58 लाख रुपए
समय अवधि – आठ माह में पूर्ण होना
अब तक – एक लेयर गिट्टी, ढाई सौ मीटर सीसी
सीसी वर्क – दो हिस्सों में 800 मीटर
सीसी वर्क कहां – ग्राम तरोंदा और कॉन्वेंट स्कूल के पास
इनका कहना है…
सही है कि काम में देरी हो रही है। इसके लिए ठेकेदार और सभी संबंधितों को नोटिस दिये हैं। यदि इसके बाद भी काम प्रारंभ नहीं होता है तो एग्रीमेंट निरस्त करके दोबारा टेंडर किये जाएंगे।
आरएस विश्वकर्मा, एसडीओ पीडब्ल्यूडी
पहले ठेकेदार ने जो काम किया है, उसके भुगतान में देरी होने के कारण काम बंद हो गया था। अब भुगतान तो हो गया। लेकिन, काम प्रारंभ नहीं हुआ है तो ठेकेदार को नोटिस दिया गया है। टाइमली नहीं करेंगे तो एग्रीमेंट खत्म कर दोबारा टेंडर करेंगे।
आरएन दुबे, सब इंजीनियर

CATEGORIES
TAGS
Share This
error: Content is protected !!