दो कोटवारों को कलेक्टर ने पद से हटाया

हड़ताली कोटवारों को दिए जाएंगे नोटिस

हड़ताली कोटवारों को दिए जाएंगे नोटिस
इटारसी। इन दिनों ग्रामोदय से भारत उदय कार्यक्रम गांवा में जारी है। गांव-गांव ग्राम संसद के आयोजन हो रहे हैं तो कृषि क्रांति रथ भी गांवों में जाकर कृषि संबंधी योजनाओं की जानकारी दे रहे हैं। ऐसे में सरपंच, सचिवों और कोटवारों की हड़ताल से शासकीय योजनाएं प्रभावित हो रही हैं। प्रशासन ने सरपंच का काम उपसरपंच और सचिव का काम रोजगार सहायक से लेना शुरु कर दिया है लेकिन कोटवारों की हड़ताल के कारण गांव में इन योजनाओं की मुनादी नहीं हो पा रही है। ऐसे में प्रशासन कोटवारों को नोटिस देने की तैयारी में है। हालांकि कलेक्टर ने तो सनखेड़ा और सोनतलाई के कोटवारों को तो उनके पद से हटाने के निर्देश भी जारी कर दिए हैं।
कलेक्टर अविनाश लवानिया ने गत दिवस ग्राम उदय से भारत उदय अभियान के तहत इटारसी के ग्राम सनखेड़ा व सोनतलाई का भ्रमण किया था एवं सनखेड़ा एवं सोनतलाई में आयोजित ग्राम संसद में भी वे शामिल हुए थे। कलेक्टर ने इन दोनो ग्राम संसद में शासकीय योजना में पात्र हितग्राहियों को अनिवार्य रूप से लाभान्वित करने के निर्देश दिए थे। कलेक्टर श्री लवानिया को सनखेड़ा व सोनतलाई में आयोजित ग्राम संसद में इन दोनों गांवों के ग्रामीणों ने अवगत कराया कि ग्राम कोटवारों ने ग्राम उदय से भारत उदय अभियान व ग्राम संसद की मुनादी नहीं कराई व हड़ताल पर चले गये। ग्रामीणों की शिकायतों को गंभीरता से लेते हुए कलेक्टर ने तहसीलदार इटारसी को इन दोनों कोटवारों को पद से पृथक करने व इनकी सेवा भूमि वापस लेने के निर्देश दिए। कलेक्टर के निर्देश पर तहसीलदार इटारसी ने सनखेड़ा के कोटवार श्याम किशोर आत्मज नन्हेंलाल एवं सोनतलाई के कोटवार महेश आत्मज प्रहलाद को मप्र भू राजस्व संहिता 1959 की धारा 230 के अंतर्गत तत्काल प्रभाव से पद से पृथक कर दिया है। साथ ही शीघ्र ही उनकी सेवा भूमि वापस लेने की कार्यवाही की जा रही है।
इनका कहना है…!
हड़ताल से कामकाज तो प्रभावित हो रहा है। हम वैकल्पिक व्यवस्था भी बना रहे हैं। जहां तक कोटवारों का सवाल है, तो उनको नोटिस देने की कार्रवाई की जा रही है।
अभिषेक गेहलोत, एसडीएम

CATEGORIES
error: Content is protected !!
%d bloggers like this:
Narmadanchal

FREE
VIEW