नगर में संकट के समय पेयजल वितरण के लिए बनी कार्ययोजना

जल समस्या के लिए कंट्रोल रूम स्थापित फैक्ट फाइल पेयजल टैंकरों पर अतिरिक्त चालक रखे जाएंगे पेयजल वितरण व्यवस्था के लिए तीन जोन बनेंगे जोन प्रभारी, पंप आरपेटर के नंबर लिखे जाएंगे

जल समस्या के लिए कंट्रोल रूम स्थापित
फैक्ट फाइल
पेयजल टैंकरों पर अतिरिक्त चालक रखे जाएंगे
पेयजल वितरण व्यवस्था के लिए तीन जोन बनेंगे
जोन प्रभारी, पंप आरपेटर के नंबर लिखे जाएंगे
इटारसी। शहर में जल संकट से निबटने जल विभाग की बैठक में आज कार्ययोजना को अंतिम रूप देकर सबको जिम्मेदारियां सौंप दी गई हैं। बैठक में पंप आपरेटर्स से उनके वार्ड में पेयजल संबंधी समस्याओं की जानकारी ली। अभी शहर में पेयजल संकट की स्थिति नहीं बनी है, अलबत्ता कहीं-कहीं जलस्तर नीचे जाने की खबरें हैं। जहां जलस्तर नीचे जा रहा है, वहां फिलहाल पानी पर्याप्त दबाव से नहीं मिल रहा है, लेेकिन वहां नज़रें रखी जा रही हैं ताकि पानी नहीं मिलने पर टैंकरों से पानी सप्लाई किया जा सके।
पेयजल वितरण के लिए आज एक बैठक में संकटकाल के लिए कार्ययोजना को अंतिम रूप दिया गया। बैठक में मुख्य नगर पालिका अधिकारी सुरेश दुबे, नपा उपाध्यक्ष अरुण चौधरी, विधायक प्रतिनिधि कल्पेश अग्रवाल, सब इंजीनियर एसके बोहरे, मुकेश जैन, वाहन शाखा प्रभारी आरके तिवारी, जल विभाग के संजय दुबे सहित विभिन्न वार्डों के पंप आपरेटर्स मौजूद थे।
कल से काम करेगा कंट्रोल रूम
पेयजल वितरण, आपूर्ति के लिए नगर पालिका में कंट्रोल रूम बनाया जाएगा। यह कंट्रोल रूम गुरुवार से ही काम करेगा। पेयजल वितरण व्यवस्था में केवल स्थायी कर्मचारियों की ही ड्यूटी लगायी जाएगी। पानी के टैंकर वाहन शाखा प्रभारी आरके तिवारी के मार्फत ही जाएंगे। बिना एंट्री के कहीं भी पानी के टैंकर नहीं भेजे जाएंगे। टैंकरों पर ट्रैक्टर चालक के अतिरिक्त एक सहायक की ड्यूटी भी रहेगी। सीएमओ श्री दुबे ने जल विभाग के संबंधित अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि वे कल जल वितरण संबंधी सारे पाइंट्स जांच लें, पंप आपरेटर्स को निर्देश दिए हैं कि वे अपने क्षेत्र में पाइप लाइन लीकेज़ पर नज़र रखें और तत्काल कंट्रोल रूम को सूचित करें। इसके अलावा जल स्तर घटने, मोटर जलने, बिजली संबंधी समस्या आदि पर नज़र रखें और तत्काल कंट्रोल रूम को सूचित किया जाए। यह कंट्रोल रूम चौबीस घंटे काम करेगा।
नलकूप उत्खनन पर लगी रोक
नपा ने शहर में कहीं भी निजी स्तर पर नलकूप, जेटपंप, हैंडपंप उत्खनन पर तत्काल प्रभाव से रोक लगा दी है। केवल जिन वार्डों में जलसंकट के निवारण के लिए जरूरत होगी, शासकीय स्तर पर ही नलकूप आदि का खनन किया जाएगा और जहां टैंकरों की जरूरत होगी टैंकरों से पानी भेजा जाएगा। जल संकट के समय जल विभाग को छोटी समस्याओं के त्वरित निराकरण के लिए फ्री हैंड दिया है। सीएमओ श्री दुबे ने कहा कि जल विभाग के अधिकारी त्वरित निर्णय लेकर समस्या का निदान करेंगे। केवल जलने, विद्युत संबंधी छोटे फाल्ट, कहीं मोटर आदि जलने की स्थिति में त्वरित निर्णय लेकर जल्द से जल्द समस्या का निदान जल विभाग के जोन प्रभारी अपने स्तर पर करा लें। छोटे-छोटे फाल्ट के लिए दो-दो, तीन-तीन दिन तक जल वितरण कार्य प्रभावित नहीं किया जाए। मोटर जलने पर तत्काल मोटर बदलें, अतिरिक्त मोटर तैयार रखी जाएं।
समिति रखेगी वितरण पर निगाह
पेयजल वितरण के लिए पार्षदों और जल विभाग के अधिकारियों को मिलाकर एक समिति का गठन किया जाएगा। विधायक प्रतिनिधि कल्पेश अग्रवाल ने कहा कि गर्मी के दो माह सबको पूरी मुस्तैदी से काम करना है। ऐसे में किसी भी प्रकार की कोताही न करें। यदि आप लापरवाह हुए और पेयजल वितरण प्रभावित हुआ तो अधिकारी कार्रवाई करने में देरी नहीं करेंगे। सीएमओ श्री दुबे ने कहा कि समिति ने निरीक्षण किया और पंप आपरेटर मौके पर नहीं मिले और पंप की चाबी किसी अन्य के पास मिली तो संबंधित को तत्काल प्रभाव से सस्पेंड कर दिया जाएगा। व्यवस्था में कुछ कसावट के लिए कुछ पंप आपरेटर्स को इधर-उधर भी किया जा सकता है। पंप आपरेटर्स को कहा है कि वे यहां-वहां करने की स्थिति में किसी भी प्रकार की सिफारिश लेकर न आएं, जहां भेजा जाए, वहां पूरी ईमानदारी से ड्यूटी करके जल वितरण में सहयोग करें।
तीन जोन में बंटेगी व्यवस्था
पेयजल वितरण व्यवस्था की दृष्टि से शहर को तीन जोन में विभाजित किया जाएगा। इसमें जोन के अनुसार टैंकर तैनात किए जाएंगे। एक यूनिट को अतिरिक्त रखा जाएगा जो आपात स्थिति में काम करेगी। पंप आपरेटर अपने वार्ड में जल संकट की जानकारी प्रदान करेंगे। तीनों जोन के प्रभारी बनाए गए हैं जिनके मोबाइल नंबर भी जनता के लिए जारी किए हैं। जोन प्रभारी रविन्द्र जोशी (7415411785), राजाराम मालवीय (8815239092) और संजय दुबे (9669249949) रहेंगे। कंट्रोल रूम का नंबर 07572-235613 रहेगा तथा वाहन शाखा प्रभारी आरके तिवारी का मोबाइल नंबर (8871794287) है। पंपों और जल वितरण पेटियों पर पंप आपरेटर्स के मोबाइल नंबर, जल वितरण का समय भी अंकित किया जाएगा। जल संकट के समय आमजन इन नंबरों पर संपर्क करके संकट की जानकारी देकर समस्या का निराकरण करा सकेंगे।
दोषियान को कहा, 5 मई तक हर हाल में मिले शहर को पानी
मुख्य नगर पालिका अधिकारी ने आज दोषियान को साफ शब्दों में कह दिया है कि शहर को किसी भी स्थिति में 5 मई तक पानी दिया जाए। जो भी परेशानियां आ रही हैं उनको तत्काल निराकरण करें। बैठक में सीएमओ सुरेश दुबे के साथ दोषियान के जनरल मैनेजर महेश मिश्रा और उनकी पूरी तकनीकि टीम के अलावा नगर पालिका के सब इंजीनियर मुकेश जैन, एसके बोहरे भी मौजूद थे। दोषियान ने भरोसा दिलाया कि पाइप की कनेक्टिविटी का काम जल्द शुरु होगा। रेलवे लाइन के नीचे से पाइप लाइन निकालने का काम अगले तीन से चार दिन में खत्म हो जाएगा। श्री मिश्रा ने कहा कि शहर में दी गई तारीख पर लाने का सौ फीसद प्रयास होगा तथा पुरानी इटारसी में भी उसके अगले पंद्रह दिन यानी 20 मई तक पानी दे दिया जाएगा।

CATEGORIES
error: Content is protected !!
%d bloggers like this:
Narmadanchal

FREE
VIEW