नरवाई व गोबर से बनाई लकड़ी से जलेगी होली

किसान की अभिनव पहल का साथ देने आगे आए जनप्रतिनिधि

किसान की अभिनव पहल का साथ देने आगे आए जनप्रतिनिधि
इटारसी। होली के अवसर पर इटारसी दस किमी दूर सुपरली गाँव के किसान ने जंगल बचाने की अभिनव पहल की है। ग्राम सुपरली के योगेंद्र पाल सिंह सोलंकी ने नरवाई और गोबर से एक लकड़ी बनाई है जिसका उपयोग होली दहन में किया जा सकता है। श्री सोलंकी यह काम पिछले पंद्रह सालों से करते आ रहे हैं लेकिन इस वर्ष जिले के कुछ जनप्रतिनिधि भी उनके साथ इस मुहिम में शामिल हो गए हैं। इसी कड़ी में आज होशंगाबाद नगर पालिका अध्यक्ष अखिलेश खंडेलवाल, जिला सहकारी बैंक उपाध्यक्ष भरत सिंह राजपूत एवं पूर्व जिला पंचायत सदस्य हरी पटैल अपने साथियों के साथ ग्राम सुपरली पहुंचे और श्री सोलंकी से इकोफ्रेंडली जलाऊ लकड़ी बनाने का तरीका सीखा। इस अवसर पर होशंगाबाद नगरपालिका अध्यक्ष अखिलेश खंडेलवाल ने कहा कि श्री सोलंकी बहुत ही रचनात्मक व्यक्ति है उनकी इस पहल में हम उनका साथ देंगे एवं होशंगाबाद नगरपालिका के साथ साथ पूरे जिले भर में सहयोगियों द्वारा अभियान चलाकर इस अभिनव पहल को क्रांतिकारी रूप दिया जाएगा। भरत सिंह राजपूत ने कहा कि न केवल होली में बल्कि सामान्य रूप से भी इस तरीके से नरवाई और गोबर की लकड़ी बनाकर जंगल काटने से बचाए जा सकते हैं।
किसान योगेंद्र पाल सिंह सोलंकी ने कहा कि देश में लगभग 6 लाख गावों में और 10 हजार शहरों में लगभग 35 लाख होली जलायी जाती है जिसमें करीब 1.75 करोड़ क्विंटल लकड़ी खाक कर दी जाती है। इसीलिए इस पहल के द्वारा वे जनसमुदाय को जागरूक करने में लगे हुए हैं इस बार जनप्रतिनिधि भी उनका साथ दे रहे हैं। इस अवसर पर मुकेश ठाकुर, कुलवंत सिंह, सतपाल, दीपू, सोनू, आशीष सोलंकी, संजीव सोलंकी उपस्थित थे एवं सभी ने सैंकड़ों लकड़ियाँ बनाई।

CATEGORIES
error: Content is protected !!
%d bloggers like this:
Narmadanchal

FREE
VIEW