नागपंचमी : निकली शोभायात्रा, दंगल भी हुए

इटारसी। पृथ्वी का भार अपने मष्तिष्क पर उठाकर रखने वाले नागदेवता की पूजा का पर्व नागपंचमी चौरसिया समाज द्वारा समारोहपूर्वक मनायी गई और इस अवसर पर शोभायात्रा भी निकाली और सांस्कृतिक कार्यक्रम भी हुए।
चौरसिया समाज संगठन इटारसी के बैनर तले आयोजित नागपंचमी महोत्सव का शुभारंभ आज दोपहर 12 बजे आजाद चौक दुर्गा मंदिर से हुआ। यहां से भगवान नागदेवता की भव्य शोभायात्रा प्रारंभ हुई जो शहर के अनेक मार्गों से भ्रमण करते हुए श्री बूढ़ी माता शक्तिधाम मंदिर पहुंचकर संपन्न हुई।
शोभायात्रा संपन्न होने के बाद यहां स्थित नागदेवता मंदिर में चौरसिया समाज ने पूजन-अभिषेक किया। इसके पश्चात बच्चों एवं महिलाओं ने सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किये। नागपंचमी महोत्सव में समापन अवसर पर भंडारे का आयोजन किया जिसमें समाज के साथ ही अन्य श्रद्धालुओं ने प्रसाद ग्रहण किया।

दंगल का आयोजन
नागपंचमी के अवसर पर शंकर मंदिर बजरंगपुरा से निशान यात्रा निकाली गयी जो प्राचीन हनुमान मंदिर नाला मोहल्ला पहुंची यहां दादा दरबार धाम के पास बच्चों की कुश्ती का दंगल हुआ।
नागदेवता की पूजा अर्चना एवं मल्ल विद्या के त्योहार नागपंचमी के अवसर पर फिर एक बार शंकर शक्ति समिति बजरंगपुरा ने अपनी पारंपरिक निशान यात्रा का आयोजन किया। यह यात्रा गाजे बाजे के साथ शंकर मंदिर से प्रारंभ होकर मेहरागांव नदी के तट पर स्थित नाला मोहल्ला के प्राचीन हनुमान मंदिर दादा दरबार धाम पहुंची। यहां समिति के करन यादव, अनिल नागराज आदि ने श्री हनुमान जी के पूजा की और ध्वज चढ़ाया। इस अवसर पर श्री यादव ने बताया कि यह हमारे बजरंग अखाड़े की प्राचीन परंपरा है।
नाला मोहल्ला की ओर से इस यात्रा का स्वागत करते हुए सामाजिक कार्यकर्ता पूरन मेसकर ने कहा कि यह यात्रा नागपंचमी के त्योहार पर हम सबको एक सूत्र में बांधती है। पूजा-अर्चना के बाद दादा दरबारधाम परिसर में बच्चों की कुश्ती की भी प्रतिमात्मक आयोजन हुआ।

CATEGORIES
error: Content is protected !!
%d bloggers like this:
Narmadanchal

FREE
VIEW