निकाली महारैली, दिखाई ताकत

युवाओं से नेतृत्व संभालने का आह्वान

युवाओं से नेतृत्व संभालने का आह्वान
इटारसी। विश्व आदिवासी दिवस पर आज अंचल के आदिवासियों ने अपनी रैली के माध्यम से अपनी ताकत का अहसास कराया। आदिवासी समुदाय ने पुरानी इटारसी स्थित काबड़ मोहल्ले से रैली निकाली जो शहर के प्रमुख मार्गों से होकर जयस्तंभ पर पहुंची। इसके बाद बड़ादेव के पूजन उपरांत पथरोटा होते हुए केसला ब्लॉक के सीतापुरा में जाकर इसका समापन हुआ। यहां ग्राम छीतापुरा में प्रदेशभर से आए समुदाय के प्रतिनिधियों ने संबोधित किया।
आमसभा में आदिवासी नेताओं ने आदिवासियों के अधिकारों को लेकर आवाज बुलंद की एवं सभी को संगठित होकर की बात रखी। मकड़ाई के राजा अजय शाह ने आदिवासियों से अपनी राजनीतिक ताकत पहचाननी होगी। उन्होंने कहा कि नवयुवकों को आगे आकर समाज की बागडोर संभालनी चाहिए ताकि समाज को युवा नेतृत्व मिल सके। उन्होंने कहा कि आदिवासी समाज राजा बनाता है, लेकिन उसे ठाकरें खाने को मजबूर होना पड़ता है। हम अपनी एकजुटता दिखाएं और अपनी ताकत का अहसास कराएं। फागराम ने कहा कि आज आदिवासी समाज के सामने अस्तित्व का संकट उत्पन्न हो रहा है। उसके हक के जल, जंगल और जमीन खत्म हो रहे हैं, हमें अपने पूर्वजों से प्रेरणा लेकर संगठित रहना होगा अन्यथा हम बिखर गए तो खत्म हो जाएंगे। उन्होंने युवा पीढ़ी से नशे जैसी बुराई से दूर रहकर बुजुर्गों के मार्गदर्शन में जिम्मेदारी उठाने का आग्रह किया। जिला पंचायत सदस्य तारा बरकड़े ने कहा कि समाज से महिला उत्पीडऩ, अत्याचार खत्म होना चाहिए, घरेलू हिंसा को अब समाज से बाहर करने का वक्त है। उन्होंने कहा कि सामाजिक चेतना और राजनीतिक चेतना जागृत करना जरूरी है ताकि हम अपने समाज की दिशा और दशा तय कर सकें। ग्राम छीतापुरा के मैदान पर हुई आदिवासियों की सभा में बैतूल, होशंगाबाद व आसपास के सैकड़ों आदिवासी ग्रामीण शामिल हुए।

CATEGORIES
error: Content is protected !!
%d bloggers like this:
Narmadanchal

FREE
VIEW