पटाखा व्यापारी जैन एंड संस की दुकान और गोदाम पर पुलिस का छापा

लाखों रुपए के करीब दो ट्रक अवैध पटाखे जब्त
इटारसी। शहर के थोक पटाखा व्यापारी कमल जैन और उसके बेटे प्रदीप जैन और प्रकाश जैन की दुकान और गोदाम पर आज जिला पुलिस बल और सिटी पुलिस ने संयुक्त रूप से छापामार कार्रवाई की। छापामार कार्रवाई में पुलिस के हाथ करीब दो ट्रक अवैध पटाखे का स्टॉक मिला है। जैन और उसके पुत्रों के नाम पटाखा लायसेंस है जो नवीनीकरण के लिए प्रशासन के समक्ष है, लेकिन लायसेंस नवीनीकरण के पूर्व ही इन लोगों ने रिहायशी इलाकों में लाखों रुपए के अवैध पटाखों का संग्रह करके रखा था। पुलिस को सटीक जानकारी थी कि जैन के यहां दो ट्रक माल है और छापामार कार्रवाई में इतना माल मिला भी।
सोमवार दोपहर अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक राकेश खाका के नेतृत्व में जिला पुलिस बल एवं सिटी पुलिस ने शहर के पटाखा व्यवसायी कमल जैन और उसके पुत्रों की दुकान और गोदाम पर छापा मार कार्रवाई की। इस दौरान शासकीय अस्पताल परिसर में स्थित दो दुकान और मेहरागांव स्थित गोदाम से लाखों रुपए के पटाखे पुलिस ने जब्त किए हैं। अनुमान है कि इन पटाखों की कीमत करीब पंद्रह लाख रुपए हो सकती है।

सुरक्षा के चलते हो रही कार्रवाई
पुलिस अफसरों का कहना है कि दीपावली त्योहार के चलते सुरक्षा के मद्देनजर जिलेभर में विस्फोटक सामग्री और पटाखों के अवैध भंडारण पर कार्यवाही की जा रही है। सोमवार दोपहर अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक राकेश खाका के साथ डीएसबी प्रभारी राजेश नरवड़े, इटारसी नगर निरीक्षक विक्रम रजक सहित करीब एक दर्जन पुलिस कर्मियों की विशेष टीम इटारसी पहुंची और यहां थाना प्रभारी विक्रम रजक सहित उनकी टीम को करीब पांच वाहनों में लेकर पटाखा व्यवसायी कमल जैन की गांधी नगर सहित अस्पताल परिसर स्थित कॉम्प्लेक्स की दुकानों पर छापा मारा, जहां बड़ी मात्रा में पटाखों का भंडारण मिला। पूछने पर व्यवसायी जैन ने उक्त पटाखों का लायसेंस और अनुमति होने की बात कही। लेकिन इस वर्ष शहर में किसी भी प्रकार का लायसेंस नवीनीकरण की प्रक्रिया हुई ही नहीं है जिसके चलते पुलिस ने दुकान सील कर दी। यहां से पूरी टीम मेहरागांव स्थित गोदाम पर पहुंची। जहां तलाशी में दोबारा बड़ी मात्रा में पटाखों का भंडारण पाया गया। पुलिस ने दोनों ही स्थानों को सील कर पटाखे जब्त कर लिए हैं। पुलिस ने दोनों जगह से करीब दो ट्रक पटाखे जब्त किए हैं। वहीं व्यवसायी प्रकाश जैन को भी पुलिस ने कार्यवाही के समय अभिरक्षा में ले लिया था।

अभी आगे भी हो सकती है कार्रवाई
प्रशासन ने अभी किसी भी पटाखा व्यावसायी के पटाखा लायसेंस का नवीनीकरण नहीं किया है। इन हालात में यदि कोई पटाखा संग्रह करके रखता है तो वे अवैध माने जाएंगे। इसके लिए फिलहाल पुलिस ने एक ही व्यापारी पर कार्रवाई की है, लेकिन शहर में ऐसे करीब आधा दर्जन व्यापारी और हैं जो थोक में पटाखों का कारोबार करते हैं। लेकिन पुलिस ने केवल जैन के ही ठिकानों पर छापा मार कार्यवाही की जबकि सूत्रों की मानें तो शहर के अन्य क्षेत्रों में भी पटाखा व्यवसायियों ने बड़ी मात्रा में भंडारण करके रखा है। हालांकि पुलिस का कहना है कि यह सारी कार्रवाई सूचना के आधार पर हुई है। यदि कहीं की सूचना मिलेगी और वह पुख्ता होगी तो वहां भी इसी तरह की कार्रवाई की जाएगी। आज जब पुलिस की कार्रवाई यहां चल रही थी तो खबर पूरे शहर को थी और जैन के अलावा जो पटाखा व्यापारी थे, उनके कुछ साथी पूरी कार्रवाई पर नजर रखे हुए थे और पुलिस कहां जाएगी, यह जानकारी जुटाने में लगे थे। हालांकि पुलिस ने केवल एक ही स्थान पर इस तरह की कार्रवाई की है, जिससे फिलहाल अन्य लोग बचे हुए हैं। लेकिन माना जा रहा है कि पुलिस एकसाथ सारी जगह कार्रवाई नहीं करके अचानक कार्रवाई की योजना को क्रियान्वित कर रही है।

इनका कहना है …!
इटारसी में पटाखा व्यावसायियों के अवैध भंडारण की सूचना मिली थी, जिसके चलते छापामार कार्यवाही की गई है जिसमें फिलहाल पटाखे जब्त कर कागजों की जांच की जा रही है।
राकेश खाका, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक

 

CATEGORIES
error: Content is protected !!
%d bloggers like this: