परिसीमन में वार्ड का नंबर बदलें, नाम नहीं

इटारसी। मोहल्ला समिति अहिल्या नगर ने जिलाधीश कार्यालय में ज्ञापन सौंपकर वार्ड का नाम अहिल्या नगर के बजाय पूर्व का नाम गांधीनगर रखने की मांग की है।
समिति के सचिव राजकुमार दुबे ने बताया कि सन् 2014 में नगर पालिका वार्ड निर्वाचन कार्य के दौरान निर्वाचन आयोग के वार्ड परिसीमन की प्रक्रिया को अपनाया था, जिसमें विगत 55 वर्षों से चले आ रहे वार्ड के नाम गांधीनगर क्रमांक 20 को बदलकर अहिल्या नगर वार्ड क्रमांक 23 कर दिया था। समिति के सदस्यों ने तभी 19 जून 2014 को कलेक्टर कार्यालय होशंगाबाद में ज्ञापन सौंपकर अपना विरोध जताते हुए वार्ड का नाम गांधीनगर ही रखने की बात कही थी।
श्री दुबे का कहना है कि पूर्व वर्षों में हुई वार्ड परिसीमन प्रक्रिया में गांधी नगर वार्ड 12 से 15, 15 से 18, 18 से 20 हुआ लेकिन वार्ड का नाम गांधी नगर ही रहा। यही स्थिति शहर के अनेक वार्डों की रही लेकिन सन 2014 में परिसीमन प्रक्रिया में लगे निर्वाचन अधिकारियों ने इस पर ध्यान ना देकर वार्ड के क्रमांक के साथ वार्ड का नाम भी बदल दिये जिससे विगत 5 वर्षों से वार्डवासियों को जमीन जायदाद से लेकर पहचान पत्रों के अभिलेखों में कम्प्यूटर के आनलाइन युग में भारी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है।
समिति सदस्यों का विचार है कि आगामी समय में होने जा रहे नगर पालिका 2019 के निर्वाचन के समय यदि परिसीमन प्रक्रिया अपनाई जाती है तो समिति सदस्यों की मांग है की शहर के जितने भी वार्डों के क्रमांक के साथ उनके नाम बदले गए हैं उन्हें पूर्व की भांति किया जाए, केवल वार्ड का क्रमांक ही बदला जाए लेकिन नाम पूर्व का ही दिया जाए। अहिल्या नगर का नाम हर हाल में गांधीनगर किया जाए। ज्ञापन सौंपते समय जीपी दीक्षित, राजकुमार दुबे, सुनील दुबे, चरणजीत सिंह छाबड़ा, विजय दुबे आदि की उपस्थिति रही।

CATEGORIES
error: Content is protected !!
%d bloggers like this:
Narmadanchal

FREE
VIEW