“पुष्प की अभिलाषा” का हुआ नाट्य मंचन

पं. माखनलाल चतुर्वेदी स्मृति समारोह, इटारसी

पं. माखनलाल चतुर्वेदी स्मृति समारोह, इटारसी
इटारसी। संस्कृति विभाग मध्यप्रदेश शासन साहित्य अकादमी के तत्वावधान में दो दिवसीय पं. माखनलाल चतुर्वेदी स्मृति समारोह 2017 का आयोजन सभागार अग्रवाल हायर सेकेण्ड्री स्कूल, इटारसी में किया गया। समारोह के आरम्भ में डॉ. उमेश कुमार सिंह निदेशक, साहित्य अकादमी भोपाल ने मुख्य आतिथ्य के रूप में सरस्वती की प्रतिमा पर माल्यार्पण और आमंत्रित विषिष्ट वक्ताओं के साथ दीप प्रज्ज्वलित कर दो दिवसीय समारोह का उद्घाटन किया गया।
इस अवसर पर विशिष्ट वक्ता के रूप में रायसेन से आमंत्रित डॉ. यशवंत रघुवंशी ने पं. माखनलाल चतुर्वेदी जी से जुड़े हुए विभिन्न संस्मरण अपने व्याख्यान में प्रस्तुत किए। डॉ. धीरेन्द्र शुक्ल ने दो दिवसीय समारोह में आमंत्रित अतिथियों और वक्ताओं का परिचय देते हुए स्वागत भाषण प्रस्तुत करते हुए माखनलाल चतुर्वेदी जी के व्यक्तित्व और कृतित्व पर प्रकाश डाला।
डॉ. अवधेश कुमार ने बताया कि माखनलाल चतुर्वेदी जी एक राष्ट्रवादी कवि थे। इसके साथ ही उन्होंने पत्रकारिता के माध्यम से जनजागरण की अलख जगाई। डॉ. विनीता रघुवंशी ने अपने वक्तव्य में कहा कि आज कल की नई पीढ़ी में साहित्य के प्रति रूचि लुप्त हो गई है और इस रूचि को पुनः जागृत करना बहुत जरूरी है। माखनलाल चतुर्वेदी जी द्वारा रचित कविता कैदी और कोकिला के भावार्थ को समझाया।
डॉ. के.एस. उप्पल ने ग्राम हिरणखेड़ा में पं. माखनलाल चतुर्वेदी द्वारा स्थापित स्वराज स्कूल का संस्मरण सुनाया और इसके साथ ही चतुर्वेदी जी से जुड़े विविध सन्दर्भों को विद्यार्थियों तक पहुँचाया और विद्यार्थियों को पुष्प की संज्ञा दी।
डॉ. नर्मदा प्रसाद सिसोदिया ने माखनलाल चतुर्वेदी जी की रचनाओं पर प्रकाश डाला तथा छात्र-छात्राओं को उनकी प्रमुख रचनाओं से अवगत कराया।
श्री पंकज पटेरिया ने बताया कि माखनलाल चतुर्वेदी जी द्वारा रचित प्रसिद्ध कविता ‘पुष्प की अभिलाषा’ के माध्यम से अपने भावों को व्यक्त किया है।
डॉ. उमेष कुमार सिंह ने अपने व्याख्यान के माध्यम से राष्ट्रीय एकता, राष्ट्रीय चेतना और राष्ट्रभाषा के महत्व को माखनलाल चतुर्वेदी जी के सन्दर्भ में अन्तर्राष्ट्रीय क्षितिज तक पहुँचाने की कोषिश की और युवाओं को पुष्प की अभिलाषा के माध्यम से जागरूक किया। इसके साथ ही अशोक जमनानी ने ‘पुष्प की अभिलाषा’ कविता की रचना प्रक्रिया से उपस्थित जनसमूह को अवगत कराया।
समारोह के प्रथम दिवस के द्वितीय सत्र में शासकीय महात्मा गांधी स्मृति स्नातकोत्तर महाविद्यालय, इटारसी के छात्र-छात्राओं सादिया बानो, नरेष यादव, मोनिका महोबा, दुर्गा धुर्वे, नीरज नाईक, प्रियंका बड़कुर, प्रिया पठोदिया, शालिनी सैनी, कार्तिकेय पटेल, अंजना लौवंषी एवं यष नामदेव ने पं. माखनलाल चतुर्वेदी जी की रचित विभिन्न कविताओं का वाचन किया। इसके पष्चात् छात्र-छात्राओं भावना शिंदे, प्रियंका सागोरिया, सोनम पटैल, सलोनी राजपूत, निकिता बिल्लौरे, भारती पटेल, ज्योति साहू, दिव्या दुन्दभी, नीरज चौधरी, सागर यादव, नीरज मालवीय, रितिक गौर, मयंक, राषि खाड़े और शालिनी सैनी ने पं. माखनलाल चतुर्वेदी जी द्वारा रचित कविता ‘पुष्प की अभिलाषा’ पर नाट्य मंचन किया।
प्रथम दिवस का सफल मंच संचालन कु. नीलम नाईक और कु. शालिनी सैनी द्वारा किया गया। इस समारोह में साहित्य मर्मज्ञ, गणमान्य नागरिक एवं बड़ी संख्या में छात्र-छात्राएँ उपस्थित रहे।
इस समारोह के स्थानीय संयोजक डॉ. धीरेन्द्र शुक्ल ने बताया कि 25 अप्रैल 2017 को प्रातः 1100 बजे से दो दिवसीय इस समारोह के द्वितीय दिवस का शुभारम्भ किया जाएगा। इस अवसर पर कवि सम्मेलन का आयोजन किया जाएगा।

CATEGORIES
error: Content is protected !!
%d bloggers like this:
Narmadanchal

FREE
VIEW