पेट्रोल डीजल पर करों में कमी करे प्रदेश सरकार

पेट्रोल डीजल पर करों में कमी करे प्रदेश सरकार

इटारसी। मध्यप्रदेश कांग्रेस कमेटी के प्रदेश प्रवक्ता राजकुमार केलू उपाध्याय ने बयान जारी कर प्रदेश सरकार से पेट्रोल डीजल पर लगाए करों में कमी की मांग करते हुए कहा कि कोरोना महामारी के इस संकट काल में आम जनता को पेट्रोल-डीजल पर लगने वाले करों में कमी कर राहत देने का समय है। लेकिन इस संकटकाल में भी उन पर करों में बढ़ोतरी कर, जनता पर महंगाई की दोहरी मार थोपी जा रही है।
उन्होंने कहा कि एक तरफ विश्व स्तर पर कच्चा तेल सस्ता हो रहा है, वहीं हमारे देश व प्रदेशों में पेट्रोल-डीजल के दामों में निरंतर बढ़ोतरी हो रही है। पहले केंद्र सरकार ने जनता को राहत देने की बजाय पेट्रोल-डीजल पर एक्साइज ड्यूटी बढ़ाकर खुद के खजाने को भरने का काम किया। वहीं अब मध्य प्रदेश की सरकार ने इस संकट काल में पेट्रोल और डीजल पर एक 1-1 रुपये का अतिरिक्त कर बढ़ाकर जनता को महंगाई की आग में झोंकने का काम किया है। उन्होंने कहा, प्रदेश में पेट्रोल पर पूर्व में ही 33 प्रतिशत वैट, 1 प्रतिशत सेंस व 3.5 रुपये अतिरिक्त कर लग रहा था। वहीं डीजल पर 23 प्रतिशत वैट, 1 प्रतिशत सेंस व 2 रुपये अतिरिक्त कर लग रहा था। अतिरिक्त करों में इस बढ़ोतरी से अब पेट्रोल व डीज़ल में अभी तक का सर्वाधिक टैक्स हो गया है।

CATEGORIES
TAGS

COMMENTS

Wordpress (0)
Disqus ( )
error: Content is protected !!
%d bloggers like this: