फर्जी रसीदों का खेल बताकर गबन की आशंका जतायी

पार्षद गौर ने लिखा कलेक्टर को पत्र
इटारसी। पार्षद यज्ञदत्त गौर ने कलेक्टर को पत्र लिखकर नगर पालिका में फर्जी अथवा डुप्लीकेट रसीद बुकों के माध्यम से लाखों रुपए का गबन होने और ऐसे कृत्य पर कार्यवाही नहीं करने और अपराध को दबाने का प्रयास होने की आशंका जतायी है।
श्री गौर ने अपने पत्र में कहा है कि उपरोक्त कार्य भारतीय दंड संहिता एवं भ्रष्टाचार निरोधक अधिनियम 1988 के अधीन दंडनीय कृत्य हैं किंतु अधिकारियों-कर्मचारियों द्वारा संरक्षण प्रदान करते हुए ठंडे बस्ते में डाला जा रहा है। उन्होंने कलेक्टर से अनुरोध किया है कि शीघ्रातिशीघ्र कठोर कार्यवाही कर दोषियों को दंडित करने का कष्ट करें।
भाजपा पार्षद श्री गौर ने कहा है कि इटारसी नगरपालिका में निरन्तर फर्जी-डुप्लीकेट रसीदों द्वारा आमजन से शासन के नाम पर वसूली किये जाने की जानकारी, शिकायत प्राप्त हो रही हैं। ऐसे कार्य से आमजनता से लाखों रुपये वसूल कर राशि को शासकीय कोष में जमा ना करते हुए गबन की आशंका प्रतीत होती है। नगर पालिका अधिकारी ऐसे कृत्यों से अवगत हैं, किंतु दोषियों के विरुद्ध न्यायिक कार्यवाही की अपेक्षा विभागीय कार्यवाही के नाम पर प्रकरण को लंबित रख दोषियों को बचाया जा रहा है।

यह जानकारी प्रेषित की
रसीद बुक क्रमांक 1028 के सम्बंध में राजस्व शाखा से प्रदत्त जानकारी अनुसार 28/4/16 से 6/6/16 के मध्य रसीद बुुक क्रमांक 1028 की रसीद क्रमांक 02 से 97 तक से कुल 40.41 लाख रु की राशि प्रीमियम अमाउंट सब्जीमंडी दुकान के रूप में प्राप्त की गयी है। किंतु इन्ही रसीद क्रमांकों से लेखा/कैश शाखा द्वारा प्रदत्त जानकारी अनुसार 17/2/17 से 22/3/17 के मध्य रसीद क्रमांक 1028/02 से 1028/97 के माध्यम से मात्र 32,900 रु शासकीय कोष में प्राप्त होने की जानकारी दी गयी है, जिससे अंतर की राशि 40.81 लाख रु आमजनता से प्राप्त कर शासकीय कोष में जमा ना कर गबन किया जाना प्रतीत होता है।
रसीद बुक क्रमांक 1091 रसीद क्रमांक 02, 15/11/17 शुभांगी रसाल के नाम से राशि 1,50,000 रुपए (एक लाख पचास हज़ार रुपये) की राजस्व शाखा द्वारा प्रदत्त की गयी है किंतु लेखा/कैश शाखा से प्रदत्त जानकारी अनुसार इस रसीद क्रमांक 1091/02 से मात्र 1000 रुपए संकल्प जनसेवा समिति, भोपाल से शासकीय कोष में प्राप्त हुई है। रसीद क्रमांक 1091/26 दिनांक 31/05/18 भवन निर्माण अनुज्ञा हेतु राशि 5000 रुपए की चरणजीत, हरवीर कौर आदि को जारी करी गयी है किंतु लेखा/कैश शाखा ऐसी रसीद क्रमांक 1091/26 से मात्र 1000 हजार रुपए की राशि शुभम साहू द्वारा जेटपंप खनन अनुमति हेतु प्राप्त होना बताया गया है।
यह कि रसीद बुक क्रमांक 1083/26 दिनांक 13/04/2017 के माध्यम से कृष्ण राय को 25000 हजार रुपये की जारी की गयी है किंतु लेखा/कैश शाखा ऐसे रसीद क्रमांक 1083/26 के माध्यम से मात्र 100 रुपए नल संयोजन की राशि सुंदर बाई से शासकीय कोष में जमा होना दर्शाती है। उपरोक्त प्रकरणों से स्पष्टत: प्रमाणित होता है कि नगर पालिका इटारसी में डुप्लीकेट/फज़ऱ्ी रसीद बुक एवं रसीदों के माध्यम से वसूली कर शासकीय कोष में जमा ना करते हुए गबन किया गया है।

CATEGORIES
TAGS
error: Content is protected !!
%d bloggers like this: