बाढ़ का कारण बनने वाले सभी नाले कर रहे साफ

बाढ़ का कारण बनने वाले सभी नाले कर रहे साफ

बड़े नालों की सफाई का 80 फीसद काम पूरा
इटारसी। बारिश के दौरान शहर में बाढ़ का कारण बनने वाले लगभग सभी बड़े नालों की सफाई का काम 80 फीसदी पूर्ण हो गया है। शेष 20 प्रतिशत काम भी अगले दस दिन में पूर्ण होने की उम्मीद की जा रही है। बड़े नालों की सफाई जेसीबी, पोकलेन से करायी जा रही है जबकि शहर के बड़े नाले मशीन के साथ ही गैंग से भी साफ कराए जा रहे हैं। प्रयास किया जा रहा है कि बारिश का पानी शहर की तरफ रुख करने की बजाए सीधा बाहर निकल जाए। इसके लिए नालों से मलबा निकालकर उनका गहरीकरण कराया जा रहा है।
मुख्य नगर पालिका अधिकारी सुरेश दुबे, स्वच्छता अधिकारी सुनील तिवारी और स्वच्छता निरीक्षक आरके तिवारी ने आज सुबह सूरजगंज, मालवीयगंज बाल्मिक कालोनी, बंबई वालों की चाल के पास चल रहा नाला सफाई का काम देखा। नगर पालिका जेसीबी से इनकी सफाई युद्घ स्तर पर करा रही है जबकि शहर के भीतर की छोटी नालियों के लिए सफाई कर्मचारियों की गैंग काम कर रही है। शहर में बाहर से पहाड़ तरफ से आने वाले करीब आधा दर्जन नाले हैं, जो समय के साथ संकरे होकर बाढ़ का कारण बनते हैं, इनकी सफाई और चौड़ीकरण भी किया जा रहा है। इसके अलावा करीब बीस शहरी बड़े नाले हैं जो निकासी का कार्य करते हैं, उनकी सफाई गैंग और जेसीबी से चल रही है। इन सभी नालों की सफाई 10 जून के पहले किसी भी हालत में की जानी है। आज अधिकारियों ने मौके पर जाकर निरीक्षण कर कार्य की प्रगति देखकर संतोष व्यक्त किया।
इन नालों की हो रही सफाई
सोनासांवरी नाका से सूरजगंज चौराहा, सीपीई से पुरानी इटारसी, तेरहवी लाइन से न्यास कालोनी, विश्वनाथ टाकीज चौराह से सूरजगंज, पुरानी माता मंदिर अस्पताल से एमजीएम कालेज चौराह जैसे अंदरूनी नालों के अलावा शहर के बाहर से गुजरने वाले सांकलिया नाला, मेहरागांव रोड पर ठंडी पुलिया वाला बड़ा नाला, और सोनासांवरी ग्राम के पास के नाले की सफाई कार्य कराया जा रहा है।
इनका कहना है…!
जून के दूसरे सप्ताह तक नाला सफाई का काम खत्म हो जाने की उम्मीद है। हम लगातार सफाई कार्य पर नजर रखे हुए हैं ताकि बारिश के दिनों में शहर में बाढ़ की स्थिति न बन पाए।
सुरेश दुबे, सीएमओ

CATEGORIES
error: Content is protected !!
%d bloggers like this:
Narmadanchal

FREE
VIEW