बिना जिम्मेदारों के, निबट गया स्वच्छता अभियान

एनसीसी कैडेट्स ने ही कर लिया कार्यक्रम, न प्राचार्य पहुंचे न कमांडिंग आफिसर
इटारसी। शासकीय एमजीएम कालेज के एनसीसी का दस दिवसीय प्रदूषण मुक्त स्वच्छता अभियान आज बुधवार को कालेज के एनसीसी कक्ष में संपन्न हो गया। इस अवसर पर एनसीसी कमांडर के अलावा कोई भी प्राध्यापक शामिल नहीं हुआ। कार्यक्रम के आयोजन को देखकर ऐसा लग रहा था कि एमजीएम कालेज की एनसीसी अनाथ है और इसको संचालित करने में किसी की कोई रुचि नहीं है।
शासकीय महात्मा गांधी महाविद्यालय के एनसीसी कैडेट्स द्वारा पिछले दस दिनों से शहर व आसपास के गांवों में प्रदूषण मुक्त स्वच्छता जागरुकता अभियान चलाया जा रहा था। इसका समापन बुधवार को कालेज परिसर में होना था लेकिन, एनसीसी कमांडर मेजर धीरेन्द्र शुक्ला के नहीं आने से यह कार्यक्रम एनसीसी भवन के एक छोटे से कक्ष में ही कर लिया। आश्चर्य तो इस बात का भी है कि एमजीएम कालेज में संचालित एनसीसी के इस कार्यक्रम में न तो कालेज के प्राचार्य पहुंचे और ना ही कोई प्राध्यापक। कालेज के एनसीसी के कैडेट्स पूर्णिमा चौरे, दीपक सोनी, कविता महालहा, चेल्सी पाल आदि ने अपने-अपने अनुभवों को साझा करते हुए प्रदूषण मुक्त पर्यावरण के साथ ही रसायनिक दवाईयों से पैदा की जाने वाली फसलों से होने वाले शारीरिक नुकसान को उल्लेख करते हुए जैविक खाद्य पदार्थ के उपयोग की अपील की।
आयोजन को लेकर एनसीसी की अंडर आफिसर प्रियंका सगोरिया ने बताया कि हमारे दल ने एक जुलाई से प्रदूषण मुक्त स्वच्छता अभियान चलाया था उसमें हम सफल भी हुए हैं। बता दें कि एमजीएम कालेज की एनसीसी इकाई को इनके कमांडर मेजर धीरेन्द्र शुक्ला और प्राचार्य प्रमोद पगारे के बीच आपसी विवाद का खामियाजा भुगतना पड़ रहा है। स्वच्छता अभियान जैसे महत्वपूर्ण कार्यक्रम में न तो मेजर शुक्ला पहुंचे और ना ही प्राचार्य। प्राचार्य श्री पगारे से जब इस विषय में बात की गई तो उन्होंने गोलमोल उत्तर देते हुए कहा कि यह अलग विंग है और मेजर शुक्ला की जिम्मेदारी बनती है। इस विवाद के कारण आज एनसीसी कैडेट्स को जो प्रमाण पत्र वितरण होना था, वह भी नहीं हो सका। एनसीसी अंडर आफिसर विशाल नायक, मोनिका चौरसिया, प्रेरणा सोनी, साक्षी वर्मा, दीपक सिंह और केशव यादव ने आदि ने ही कार्यक्रम में अपनी सहभागिता से समापन कर लिया है।

CATEGORIES
error: Content is protected !!
%d bloggers like this:
Narmadanchal

FREE
VIEW