ब्लड बैंक का शुल्क बढ़ाये जाने का विरोध

इटारसी। डॉ.श्यामा प्रसाद मुखर्जी शासकीय अस्पताल में संचालित ब्लड बैंक में प्रति यूनिट ब्लड के दाम बढ़ाने का विरोध भाजपा नेता और पूर्व सांसद प्रतिनिधि हरप्रीत सिंघ छाबड़ा ने किया है।
डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी शासकीय अस्पताल की रोगी कल्याण समिति की कार्यकारिणी ने ब्लड बैंक का शुल्क दोगुने से भी अधिक कर दिया है। इस निर्णय का हर ओर विरोध हो रहा है। हालांकि इस पर राजनीति भी प्रारंभ हो गयी है। जहां भाजपा नेता और पूर्व सांसद प्रतिनिधि हरप्रीत सिंघ छाबड़ा ने इसका विरोध करते हुए कहा कि इसे वापस लिया जाना चाहिए नहीं तो वे भाजपा कार्यकर्ताओं के साथ आंदोलन करेंगे।
वहीं कांग्रेस के नगर अध्यक्ष पंकज राठौर ने इस पर सोशल मीडिया पर टिप्पणी की है कि यह फैसला पूर्ववर्ती भाजपा सरकार के समय का ही है। बता दें कि कार्यकारिणी की बैठक में ब्लड बैंक शुल्क को 450 रुपए से 1050 रुपए करने का निर्णय लिया है। समिति में पूर्व सांसद प्रतिनिधि हरप्रीत सिंघ छाबड़ा ने कहा कि प्रदेश में सरकार बदलते ही रोगी कल्याण समिति का यह जनविरोधी निर्णय स्वीकार नहीं है। सरकारी अस्पताल में गरीब जन ही अपना उपचार कराते हैं। यहां के ब्लड बैंक की आवश्यकता भी उन्हीं गरीबों को होती है। ब्लड बैंक के दामों में दोगुनी वृद्धि कर वर्तमान में समिति ने गरीबों के साथ कुठाराघात किया है।
पूर्व पार्षद एवं भाजपा नेता हरप्रीत सिंघ छाबड़ा ने कहा कि जहां एक ओर आयुष्मान योजना के माध्यम से देश के प्रधानमंत्री प्रत्येक व्यक्ति को बड़ी से बड़ी बीमारी का निशुल्क उपचार देना चाहते हैं, वहीं प्रदेश की कांग्रेस सरकार के इशारे पर सरकारी अस्पतालों में इस प्रकार के निर्णयों से गरीबों को शासकीय स्वास्थ्य सेवाओं से दूर रखने का प्रयास किया जा रहा है। रोगी कल्याण समिति ब्लड के दाम बढ़ाये जाने के निर्णय को वापस नहीं लेती है तो भाजपा कार्यकर्ता आंदोलन करेंगे।

CATEGORIES
error: Content is protected !!
%d bloggers like this:
Narmadanchal

FREE
VIEW