मंडी से अनाज उड़ा रहे थे दो भाई, देखें कैसे पकड़ा

मंडी से अनाज उड़ा रहे थे दो भाई, देखें कैसे पकड़ा

इटारसी। कृषि उपज मंडी में पदस्थ गाड्र्स ने मंगलवार-बुधवार की दरम्यानी रात करीब 2 बजे मंडी से अनाज की चोरी करने वाले एक युवक को पकड़ा है, जबकि उसका एक साथी अंधेरे का फायदा उठाकर फरार हो गया। दोनों चोर आपस में सगे भाई है। पिछले कुछ माह से हो रही लगातार चोरियों से परेशान गाड्र्स ने योजना बनाकर यह कार्य किया और रात को दो बजे एक को धर दबोचा।
मंडी के गाड्र्स ने रात में उस जगह निगरानी की जहां से चोरों के मंडी परिसर में घुसने की आशंका थी। दरअसल, रेलवे गेट से एनएच मार्ग तक के रोड किनारे मंडी की दीवार एक स्थान पर टूटी है और यहीं से ये लोग आकर चोरी करते थे। रात करीब 2 बजे एक चोरी आया और पहले उसने दो कट्टी उठाकर ले गया। इसके बाद दूसरी बार भी वह आया और कट्टी ले गया। तीसरी बार में गाड्र्स ने उसे धर दबोचा। इस बीच अंधेरे का फायदा उठाकर उसका भाई भाग निकला। पकड़े गये चोरी की पहचान नरेश यादव के तौर पर हुई है तथा भाग गया उसका भाई महेश यादव है। चोरी को पकडऩे के बाद उसी वक्त डायल 100 को सूचना दी गई। उसी वक्त दो कट्टी की जब्ती पुलिस को करायी और नरेश यादव को उनके सुपुर्द किया। घटना की सूचना मंडी में भारसाधक अधिकारी और एसडीएम हरेन्द्रनारायण को भी दे दी है।

पूर्व में करते थे हम्माली
पकड़ा गया नरेश यादव और भागा उसका भाई महेश यादव मूलत: खंडवा के पास किसी गांव के रहने वाले हैं। उनके पिताजी यहीं मंडी में हम्माली करते थे और करीब दो वर्ष पूर्व ये दोनों भी इसी मंडी में हम्माली का काम करते थे। हम्माली में कम कमाई होने से इनके मन में लालच आया और ये करीब दो वर्ष से हम्माली छोड़कर अन्य काम में लग गये। पिछले कई माह से मंडी में लगातार चोरियां हो रही थीं। व्यापारियों और किसानों ने मंडी प्रशासन को इसकी शिकायत की थी। लेकिन, व्यापारियों का कहना है कि मंडी प्रशासन से उनको यही जवाब मिला कि माल की खरीद होने के बाद तत्काल यहां से उठाया जाए, यह मंडी प्रशासन की जिम्मेदारी नहीं है। इसके बाद से व्यापारियों और किसानों ने शिकायत करना ही बंद कर दी थी।

टूटी है, बाउंड्रीवाल
सोनासांवरी रेलवे गेट के पास से नेशनल हाईवे को जोडऩे वाली रोड पर एक सुनसान स्थान पर मंडी की बाउंड्रीवाल टूटी है। इसमें से एक व्यक्ति एक बोरा लेकर आसानी से निकल सकता है। चूंकि ये दोनों भाई हम्माली कर चुके हैं, अत: पीठ पर बोरा लादकर चलना इनके लिए कोई मुश्किल काम नहीं है। बीती रात भी दोनों एक साथ आए थे और पहले दो बोरे ले गये, दूसरी बार भी सफल हो गये और तीसरी बार एक को गाड्र्स ने धर दबोचा जबकि दूसरा कट्टी फैककर भाग निकला। किसानों और व्यापारियों ने कई बार इस टूटी दीवार की शिकायत मंडी प्रशासन को कर चुके हैं, लेकिन इसको दुरुस्त करने में हमेशा मंडी प्रशासन ने अनदेखी की है। यह दीवार पिछले कई वर्षों से टूटी है, और चोरी कितने वर्षों से हो रही है, यह चोर ही बता सकेंगे।

इनका कहना है…!
अनाज चोरी के मामले में एक आरोपी नरेश यादव को गिरफ्तार कराया जा चुका है, एक भाई महेश फरार है। जहां तक टूटी दीवार की बात है तो हमारी फाइल कंपलीट है और संभवत: आज उसका टेंडर लग जाएगा।
उमेश बसेडिय़ा शर्मा, सचिव कृषि उपज मंडी

CATEGORIES
TAGS

COMMENTS

Wordpress (0)
Disqus ( )
error: Content is protected !!
%d bloggers like this:
Narmadanchal

FREE
VIEW